• Wed. Dec 1st, 2021

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज अम्बाला छावनी के नेताजी सुभाष पार्क में योग दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम मेंं बतौर मुख्य अतिथि हुए शामिल

Byadmin

Jun 21, 2021

योग हमारे पूर्वजों की देन–प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर यूएनओ से पास हुआ योगा आज अंतर्राष्टï्रीय स्तर पर बना चुका है अपनी पहचान–प्रदेश के सभी 22 जिलों में 50-50 स्थानों पर 50-50 की उपस्थिति के साथ आयोजित किए गये योग कार्यक्रम–योग का मतलब है मन, शरीर और आत्मा को आपस में जोडऩा–प्रदेश में शीघ्र ही करीब 1000 योग शिक्षकों की करी जायेगी भर्ती–इसके लिए मिल चुकी है मंजूरी:- गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज।
-हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज अम्बाला छावनी के नेताजी सुभाष पार्क में योग दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम मेंं बतौर मुख्य अतिथि हुए शामिल–स्क्रीन पर लाईव आए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा दी गई अभिव्यक्ति को भी सुना।
अम्बाला 21 जून:-
 21 जून 2015 को योग दिवस की शुरूआत हुई थी, तब से लेकर यह योग दिवस निरंतरता में मनाया जा रहा है। आज हम 7वें अंतर्राष्टï्रीय योग दिवस मना रहे हैं। योग के क्षेत्र में भारत विश्व गुरू बनने की ओर निरंतर अग्रसर है। यह अभिव्यक्ति हरियाणा के गृह, स्वास्थ्य एवं आयुष मंत्री अनिल विज ने अम्बाला छावनी स्थित नेताजी सुभाष पार्क में योग दिवस के अवसर पर प्रतिभागियों और मीडिया को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि हम सबके के लिए बड़े की गर्व की बात है कि यह विधा हमारे पूर्वजों की देन है, जिनके आदर्शों और संस्कारों के चलते हिन्दुस्तान को विश्व में स्थान मिल रहा है। मंत्री विज ने दीपशिखा प्रज्वलित करके कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।
मंत्री विज ने अपने सम्बोधन में आगे कहा कि वर्ष 2014 में देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यूएनओ में प्रस्ताव रखा था और इसी उम्मीद के साथ यह पास हो जायेगा। प्रधानमंत्री की पहल पर यह प्रस्ताव पास हुआ और 170 देशों ने प्रस्ताव का समर्थन किया और फिर यह तय हुआ कि योग दिवस मनाया जाए। 21 जून सबसे लंबा दिन होता है और इसे लंबी जिंदगी के दृष्टिïकोण के साथ इसलिए जोड़ दिया गया कि योग की निरंतरता के चलते आयु भी लंबी होगी। उन्होंने कहा कि योग सिखाने की मांग आए दिन बढ़ रही है। इस बार कोरोना से सावधानी के चलते जिला में 50 स्थानों पर योग दिवस के उपलक्ष्य में कार्यक्रम आयोजित किए गये। सभी 22 जिलों में 50-50 स्थानों पर 50-50 की उपस्थिति के साथ योग कार्यक्रम आयोजित किए गये ताकि कोरोना के संक्रमण को देखते हुए व्यवस्था पूरी तरह से सुव्यवस्थित रहे। समूचे प्रदेश में 1100 स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए गये।
अपनी अभिव्यक्ति के दौरान योग की विधाओं में झांकते हुए उन्होंने यह भी कहा कि योग का मतलब है मन, शरीर और आत्मा को आपस में जोडऩा। विधाता ने हमें यह शरीर दिया है, इसे स्वस्थ रखने के लिए हमें निरंतरता में योग और प्राणायाम करते रहना चाहिए। कोरोना ठीक होने के बाद भी शरीर में पोस्ट कोरोना रह सकता है, इसलिए यदि किसी प्रकार की दिक्कत आती है तो उसके दृष्टिïगत सरकार ने सभी सरकारी अस्पतालों में उमंग के नाम से उमंग पोस्ट कोरोना केयर सैंटर खोले हैं, जहां पर डाक्टरों, विशेषज्ञों, फिजिसियन के साथ-साथ अन्य बिमारियों से सम्बन्धित डाक्टर और योग टीचर रखे जा रहे हैं। प्रदेश में शीघ्र ही करीब 1000 योग शिक्षकों की भर्ती की जायेगी, इसके लिए मंजूरी भी मिल चुकी है।
प्रदेश सरकार योगा को बढ़ावा दे रही है जिसके दृष्टिïगत बाबा रामदेव को योग अम्बेसडर बनाया गया है। वैसे भी योग सिखाने में पतंजलि का हमे हमेशा ही सहयोग मिलता रहता है। सरकार ने निर्णय किया है कि प्रदेश के लगभग सभी गांवों में योगशालाएं बनाई जाएं, अधिकतर गांवों में योगशालाएं स्थापित भी की जा चुकी है। शहर के हर मुमकिन क्षेत्र में योगशालाएं बनाई जायेगी। अम्बाला छावनी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि सुभाष पार्क के पास बनी योगशाला में योग सिखने वालों का तांता लगा रहता था। सैशन के अनुसार योग सिखाया जाता था लेकिन कोरोना के चलते बंद कर दिया था, लेकिन इसे दोबारा शुरू किया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि बब्याल में योगशाला बनाई गई है। इंदिरा पार्क में भी योगशाला बनाई जायेगी।
अभिव्यक्ति के अगले चरण में उन्होंने बताया कि कुरूक्षेत्र में आयुष विश्वविद्यालय की स्थापना की गई है। जहां योग, युनानी, सिद्घा, होम्योपैथी की डिग्रीयां प्रदान की जाया करेंगी। इस विश्वविद्यालय में योग कोर्स शुरू हो चुके हैं। जगह-जगह योग सिखाएंगे तो क्वालिफाईड योग विशेषज्ञों की जरूरत पड़ेगी, इसलिए 1000 योग शिक्षकों की पोस्ट सैंक्शन हो चुकी है और उन्हें शीघ्र भरा जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि योग दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को योग के प्रति प्रेरित करना है लेकिन स्वास्थ्य की दृष्टिï से निरंतरता में योग करते रहना चाहिए। योग अपनाओ, रोग भगाओ, खुद सीखो और दूसरों को भी सिखाओ, इसलिए सभी अपने घर योग अवश्य करें, इससे शारीरिक क्षमता और दक्षता बनी रहती है और बीमारियों से लडऩे की ताकत मिलती है। इस मौके पर डीसी विक्रम सिंह ने मुख्य अतिथि गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को सम्मान स्वरूप स्मृति चिन्ह भेंट किया। मंत्री विज ने महानिदेशक आयुष विभाग सुजान सिंह, डीसी विक्रम सिंह, एसएसपी हामिद अख्तर को स्मृति चिन्ह और शॉल देकर सम्मानित किया। इस मौके पर एसडीएम सचिन गुप्ता, आयुष अधिकारी सतपाल सिंह, मीडिया प्रभारी विजेन्द्र चौहान, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, संजीव वालिया सहित सम्बन्धित व्यक्तित्व उपस्थित रहे।
बॉक्स:- जिला प्रशासन द्वारा नेताजी सुभाष पार्क में योग दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम बहुत ही भव्य और शानदार रहा। योग प्रशिक्षक पंकज बक्शी ने योग की सभी विदाओं के दृष्टिïगत एक-एक करके सभी क्रियाओं को करवाया। सामाजिक दूरी का विशेष ध्यान रखा गया, सैनीटाईजर और मास्क की व्यवस्था भी की गई थी। योग दिवस के अवसर लोगों में भारी उत्साह देखने को मिला।
बॉक्स:- मुख्य अतिथि गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने योगा के क्षेत्र में बेहतरीन और उत्कृष्ठï प्रदर्शन करने के चलते उनको प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया। योग शिक्षक पंकज बक्शी को भी मंत्री अनिल विज द्वारा सम्मानित किया गया। निर्धारित समय के अनुसार कार्यक्रम शुरू हुआ। सुभाष पार्क में एक बडी एलईडी स्क्रीन लगी हुई थी जिन पर समय-समय पर योग क्रिड़ाएं चलती रही।
बॉक्स:- योग दिवस के अवसर पर मंत्री अनिल विज ने पंकज कुमार, आरूषी, सोनाक्षी, सृष्टिï बक्शी, जानवी, भाविका तथा अशुंमन शर्मा को भी प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया। इन बच्चों ने योग के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य किया तथा अन्य को प्रशिक्षण देने का भी काम किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed