• Sun. Nov 28th, 2021

गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को दिए पे-रोल स्वीकृति प्रमाण पत्र।

Byadmin

Mar 24, 2021


–शीघ्र ही अन्य सम्बन्धित को भी दिए जायेंगे प्रमाण पत्र:-गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज।
अम्बाला, 24 मार्च:- 
गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने आज अपने निवास स्थान पर 42 कच्चे ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को पालिका रोल पर रखने का काम करते हुए उन्हें पे-रोल पर रखे जाने संबधी स्वीकृति प्रमाण पत्र भी दिए। उन्होंने इस सौगात सभी सफाई कर्मचारियों को बधाई भी दी। उन्होंने इस मौके पर यह भी कहा कि 113 सफाई कर्मचारियों को जल्द ही पे-रोल पर रखे जाने का काम किया जाएगा, इसका कार्य तेजी से चल रहा हंै। अगले 15 दिनों में इस कार्य को भी कर लिया जाएगा।
गृह मंत्री अनिल विज ने इस मौके पर सफाई कर्मचारियों को बधाई देते हुए मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि आज 42 ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को पे-रोल पर रखने का कार्य किया गया हैं। इन सभी कर्मचारियों को डीसी रेट के साथ पीएफ सहित 16150 रूपए की सैलरी के साथ-साथ जो अन्य कर्मचारियों की तरह अवकाश भी मिल सकेगा। इसके साथ-साथ उन्हें झाडू भत्ते के तौर पर 1000 रूपए की राशि व अन्य सुविधाएं भी मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि पे-रोल पर रखने के बाद सफाई कर्मचारियो को भविष्य में यदि सरकार द्वारा पक्का करने की कोई नीति बनती हैं तो उन्हें इसका सीधा फायदा मिल सकेगा।
पे-रोल पर रखे सफाई कर्मचारियों में राकेश, मंगाराम, सुनील, अजेश सिंह, नायब सिंह, तरसेम, देवी दयाल, देवराज, शिवराम, जतिन्द्र, अजय, विनोद, सतीश, रिशु, राज कुमार, कर्मजीत कौर, लख्बीरों, रजनी, नरेश, रमेश, सोनू, मामचन्द, बलजीत, संदीप, राजबीर, राजपाल, जतिन्द्र, सुरेश पाल, राजेश कुमार, कुलदीप कौर, हरजीत सिंह, शेरा राम, शलिन्द्रो, जोगिन्द्र पाल, दर्शना देवी, नथा राम, मनप्रीत सिंह, जगमाल व किशन कुमार शामिल हैं। सभी सफाई कर्मचारियों ने उन्हें पे-रोल पर रखे जाने के लिए गृह मंत्री का दिल की गहराईयों से आभार व्यक्त किया। पे-रोल पर रखे जाने पर सफाई कर्मचारियों के चेहरे पर खुशी की चमक साफ देखी जा रही थी। उनसे जब बातचीत की गई तो उन्होनें कहा कि गृह, शहरी स्थानीय निकाय मंत्री जब से इन विभागों को देख रहें है तबसे विभागों में अमूलचूल परिवर्तन आया हैं। कर्मचारियों की जो पुरानी मांगे थी उन्हें भी पूरा करने का काम किया गया हैं और इसी कड़ी में आज सफाई कर्मचारियों को पे-रोल की सौगाल मिली हैं।
इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए एक अन्य प्रश्र का उत्तर देते हुए उन्होंने कहा कि पूरे हरियाणा में कच्चे कर्मचारियों को पे-रोल पर रखे जाने का कार्य किया जा रहा हैं। उन्होंने बताया कि जहां-जहां पर पद खाली पड़े हुए है उन पदों पर समायोजित करने के लिए कच्चे कर्मचारियों को पे-रोल पर रखे जाने का काम किया जा रहा हैं। उन्होंने कहा कि वे शुरू से ही ठेकेदारी प्रथा के खिलाफ रहे हैं और इसका उन्होंने शुरू से विरोध किया है और अब धीरे-धीरे अब इसमें कामयाबी मिल रही है। इसका परिणाम यह है कि कच्चे कर्मचारियों को पे-रोल पर रखे जाने का काम किया जा रहा हैं। पत्रकारों द्वारा सुरजेवाला के बिहार की घटना सम्बधी प्रश्न पर पूछे गये सवाल का उत्तर देते हुए गृह मंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र में एक विभाग से हर महीने 100 करोड़ की वसूली का कथित मामला सामने आया है। इस बारे में वह कुछ नहीं बोलते, जबकि सरकार में उनकी भी हिस्सेदारी हैं। इस बारे राहुल गांधी भी कुछ नहीं बोलते।
इस मौके पर नगर निगम कमिशनर पार्थ गुप्ता ने बताया कि नगर परिषद् अम्बाला सदर के गठन के बाद नगर परिषद् अम्बाला सदर में सफाई कर्मचारियों को केवल 274 पद स्वीकृत थे, जबकि जनसंख्या (कुल जनसंख्या 236850 और 400 व्यक्तियों पर एक सफाई कर्मचारी ) के मुताबिक 592 पद सफाई कर्मचारियों के स्वीकृत होने चाहिए थे। इसलिए पदों को स्वीकृत करवाने के लिए शहरी स्थानीय निकाय मंत्री से अनुरोध करने के उपरान्त सरकार को पत्र लिखा गया था। शहरी स्थानीय निकाय मंत्री के आदेश उपरान्त सरकार के पत्र क्रमांक 16/04/2020-2क-1 दिनांक 14.12.2020 को नगर परिषद् अम्बाला सदर के लिए 592 पद स्वीकृत किए गए। वर्तमान में नगर परिषद् अम्बाला में 61 स्थाई, 42 ग्रमीण, 113 दैनिक वेतन पर व 230 अनुबंध आधार पर सफाई कर्मचारी कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि 113 सफाई कर्मचारियों को जल्द ही शहरी स्थानीय निकाय मंत्री द्वारा पे-रोल पर रखने का काम किया जाएगा।
इस मौके पर नगरनिगम कमिश्रर पार्थ गुप्ता, ईओ अपूर्व चौधरी, भाजपा मंडल प्रधान राजीव डिम्पल, किरण पाल चौहान, अजय पराशर, मीडिया कोर्डिनेटर विजेन्द्र चौहान के साथ-साथ अन्य सम्बधिंत अधिकारी भी मौजूद रहें।

53 thoughts on “गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ग्रामीण सफाई कर्मचारियों को दिए पे-रोल स्वीकृति प्रमाण पत्र।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed