• Thu. Oct 21st, 2021

होम आईसोलेशन किट देने के कार्य की डीसी ने करी शुरूआत।

Byadmin

May 12, 2021


अम्बाला, 12 मई:- 
कोरोना के संक्रमण पर काबू पाने के लिए सरकार के निर्देशों की अनुपालना में जिला प्रशासन द्वारा होम आईसोलेट मरीजों को होम आईसोलेट किट देने के कार्य का आज अपने कार्यालय में शुरू करते हुए डीसी अशोक कुमार शर्मा ने कहा कि सम्बन्धित कर्मचारी यह किट देते समय एकांतवास में रह रहे कोरोना मरीज को इसकी पूर्ण जानकारी भी दें।
उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि जिले मे होम आईसोलेट मरीजों को स्वास्थ्य विभाग के द्वारा शुरू से ही बेहतर सुविधा देने का काम किया जा रहा है। इसी कड़ी में इन लोगों को चिकित्सा की दृष्टि से और बेहतर सुविधा मिल सके, इसके लिए होम आईसोलेट किट देने का कार्य किया जा रहा है और यह कार्य स्वास्थ्य विभाग, आयुष विभाग व इस टीम में शामिल लोगों द्वारा बेहतर तरीके से कर रही है। उपायुक्त ने बताया कि इस होम आईसोलेशन किट में ऑक्सीमीटर, डिजीटल थर्मामीटर, ट्रीपल लेयर मास्क, ओआरएस के पैकेट, स्टीमर, होम आईसोलेशन से सम्बन्धित बुकलेट, आयुष क्वाथ, अनु तेल, गिलाए टेबलेटस, विटामिन की टेबलेट, टेबलेट बी कॉम्पलैक्स, टेबलेट जिंक, विटामिन सी, टेबलेट एजीथ्रोमाईसीन शामिल रहेगी और दवाई किस समय और कितनी मात्रा में लिखी जायेगी इसका विवरण भी साथ दिया जा रहा है ताकि सम्बन्धित व्यक्ति को सम्पूर्ण जानकारी मिल सके। इसके बावजूद भी यदि किसी व्यक्ति को इस विषय को लेकर कोई जानकारी चाहिए तो वे घर आने वाली टीम से बातचीत करके अपनी जानकारी ले सकता है।
उपायुक्त ने किट वितरण के कार्य की शुरूआत करते हुए स्वास्थ्य विभाग, आयुष विभाग व अन्य सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को कहा कि वे इस कार्य को बेहतर समन्वय के साथ करना सुनिश्चित करें। उन्होंने यह भी कहा कि ऐसे मरीजो से जिला प्रशासन की टीम द्वारा व स्वयं उपायुक्त द्वारा फोन करके लोगों से बातचीत भी की जा रही है। सभी सम्बन्धित अधिकारी आईसोलेशन में रह रहे कोरोना मरीजों से उनका मनोबल उंचा  रखने के लिए बातचीत करते रहें।
उपायुक्त ने यह भी बताया कि कोरोना संक्रमित मरीज से बातचीत करके उसे काफी सहानूभूति मिलती है और जिला प्रशासन द्वारा किए जा रहे ऐसे कार्यों से उनमें आत्मविश्वास भी पैदा होता है। ऐसा कार्य करके कोरोना संक्रमित मरीज यदि किसी नाकारात्मक सोच से प्रभावित है तो वह साकारात्मक सोच की ओर आ जाता है। उन्होंने स्पष्ट किया कि हमें लोगों को यह भी बताना है कि जिला प्रशासन 24 घंटे उनके साथ है, वे धैर्य रखें, यदि उन्हें कोरोना हो भी जाता है तो वे घबराएं नहीं, चिकित्सों व जिला प्रशासन की हिदायतों की पालना करते हुए कोरोना संक्रमण की चैन को तोडऩे का काम करें। ऐसा करके वे स्वयं सुरक्षित होकर दूसरों के जीवन को भी सुरक्षित रखने का काम करेंगे। इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त जगदीप ढांडा, डा0 संगीता गोयल, मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी उत्सव शाह के साथ-साथ अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण मौजूद रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *