• Wed. Jun 29th, 2022

हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय हरियाणा निवास, चण्डीगढ़ में पुस्तकों का विमोचन करते हुए। साथ में हरियाणा राज्य उच्च शिक्षा परिषद के चेयरमैन प्रो0 बृज किशोर कुठियाला ।

Byadmin

Jun 10, 2022

चण्डीगढ़ 10 जून। कोविड काल में भारतीय समाज ने निरन्तर गतिशिलता बनाए रख कर सृजन को बढ़ावा दिया इससे लोगों के जीवन में नई चेतना आई और दूनिया को भी नया रास्ता दिखाया। यह उद्गार हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने शुक्रवार को हरियाणा निवास में हरियाणा राज्य उच्च शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित कार्यक्रम में दो पुस्तकंे ‘‘कोरोना काल में शिक्षा व्यवस्था, चुनौतिया एवं संभावनाएं‘‘ का विमोचन करने उपरान्त अपने सम्बोघन में व्यक्त किए। ये पुस्तकें हिन्दी और अंग्रेजी में प्रकाशित की गई है। पुस्तकों के संपादक हरियाणा राज्य उच्च शिक्षा परिषद के अध्यक्ष प्रो0 बृज किशोर कुठियाला और प्रो0 राजीव कुमार हैं तथा पुस्तकों का प्रकाशन हरियाणा राज्य उच्च शिक्षा परिषद द्वारा किया गया है।
राज्यपाल ने कहा कि पुस्तकों में कोविड के समय शिक्षा प्रबन्ध व डिजीटल शिक्षा प्रणाली की सार्थकता के बारे में लेखों को छापा गया है। इसमें विद्यार्थियों के साथ शिक्षकों और आमजन को भी आभासी शिक्षा के महत्व की जानकारी प्राप्त होगी। ये पुस्तकें हरियाणा की ही नहीं बल्कि पूरे देश की शिक्षण संस्थाओं के लिए एक मील का पत्थर साबित होगी।
उन्होंने कहा कि कोरोना काल में हमने प्रतिकुलता में अनुकूलता बनाए रखना सीखा है। इसी के चलते शिक्षण संस्थाओं में डिजीटल माध्यमों से अपनी शिक्षा को जारी रखा और विद्यार्थी भी जुडे़ रहे। हांलाकि कोरोना काल में छात्रों की शिक्षा का नुकसान उठाना पड़ा है लेकिन शिक्षक वर्ग ने नए डिजीटल माध्यमों को अपनाकर शिक्षा के क्षेत्र में नई शुरूआत की। इस काल में लोगों ने नए विचार, आवश्यकताओं को ध्यान में रख कर नए अविष्कार हुए हैैैं।
श्री दत्तात्रेय ने साहित्य से जुड़ी हस्तियों को बधाई देते हुए कहा कि इस काम में हमने आपदा में अवसर ढूंढे हैं और अपनी रचनाओं का सृजन किया है। आज पुस्तकों का प्रकाशन होना उनकी सृजन शक्ति का ही परिणाम है। लेखक समाज का मार्ग दर्शन होते हैं और उनकी लेखनी चलती रहनी चाहिए।
इस अवसर पर पुस्तकों के संपादक प्रो0 बृजकिशोर कुठियाला ने कहा कि कोरोना काल में धन नहीं बल्कि मानवीय संवेदनाएं काम आई और इन संवेदनाओं के चलते विश्व ने भारत से सीखा है। इस दौर में शिक्षा की सामूहिक चेतना परिवर्तित हुई है। शिक्षा के क्षेत्र में डिजिटल माध्यमों का हमने सीखने और सिखाने पर प्रयोग किया है जो शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण सिद्ध होगा। कार्यक्रम में परिषद के सलाहकार के0के0 अग्निहोत्री ने धन्यवाद किया।
समारोह में महाराणा प्रताप होर्टिकलचर विश्वविद्यालय, करनाल के कुलपति प्रो0 समर सिंह, चौ0 रणवीर सिहं विश्वविद्यालय जीन्द की कुलसचिव श्री लवली मोहन, डा0 अजय गर्ग, जितेन्द्र प्रसाद व अन्य शिक्षाविद उपस्थित रहे।
कैप्शन-1-

54 thoughts on “हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय हरियाणा निवास, चण्डीगढ़ में पुस्तकों का विमोचन करते हुए। साथ में हरियाणा राज्य उच्च शिक्षा परिषद के चेयरमैन प्रो0 बृज किशोर कुठियाला ।”
  1. Write more, thats all I have to say. Literally, it seems as though you relied on the video to make your point.
    You clearly know what youre talking about, why
    throw away your intelligence on just posting videos to your site
    when you could be giving us something informative to
    read?

  2. I am not sure where you’re getting your info, but good topic.
    I needs to spend some time learning much more or
    understanding more. Thanks for great information I was looking
    for this information for my mission.

  3. Hmm it looks like your site ate my first comment (it was extremely long) so I guess I’ll just sum it up what I wrote and say, I’m thoroughly
    enjoying your blog. I as well am an aspiring
    blog writer but I’m still new to everything. Do you have any tips and hints for novice blog writers?
    I’d really appreciate it.

Leave a Reply

Your email address will not be published.