• Tue. Jan 18th, 2022

हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय कुरुक्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव 2021 का रिबन काटकर शुभारंभ करते हुए, साथ में हैं पर्यटन एवं शिक्षा मंत्री श्री कंवर पाल, खेल मंत्री सरदार संदीप सिंह, सांसद श्री नायब सिंह सैनी, विधायक श्री सुभाष सुधा, श्री श्री श्री त्रिदंडी चिन्ना मन्नारायणा रामानुज जीयर स्वामी, गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य श्री इन्द्रेश।

Byadmin

Dec 9, 2021

चण्डीगढ़, 9 दिसंबर- हरियाणा के राज्यपाल बंडारु दतात्रेय ने कहा कि भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए पवित्र ग्रंथ गीता से ही प्रेरणा मिलेगी। इस पवित्र ग्रंथ से पूरी मानवता को शांति का संदेश दिया गया। यह ग्रंथ किसी एक जाति या धर्म का नहीं है, अपितु यह ग्रंथ हर वर्ग और हर व्यक्ति के लिए है। इस पवित्र ग्रंथ गीता के उपदेश आज भी पूरी तरह प्रासंगिक है और यह हरियाणा का सौभाग्य है कि कुरुक्षेत्र की पावन धरा पर ही 5158 वर्ष पूर्व भगवान श्रीकृष्ण ने गीता के उपदेश दिए।
राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय वीरवार को कुरुक्षेत्र ब्रह्मसरोवर पुरुषोत्तमपुरा बाग में सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग की आजादी के अमृत महोत्सव व राज्यस्तरीय प्रदर्शनी के उदघाटन सत्र में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। इससे पहले राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय, त्रिदंडी चिन्ना मन्नारायणा रामानुज जीयर स्वामी, गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य इंद्रेश, पर्यटन एवं शिक्षा मंत्री कंवरपाल, खेल मंत्री संदीप सिंह, सांसद नायब सिंह सैनी, विधायक सुभाष सुधा ने रिबन काटकर सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग की आजादी के अमृत महोत्सव, राज्यस्तरीय विकासात्मक प्रदर्शनी, कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड की विश्व गुरु भारत प्रदर्शनी का द्वीप प्रज्जवलित कर व केडीबी की 48 कोस की प्रदर्शनी का विधिवत रुप से उदघाटन किया। इस दौरान सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के अतिरिक्त निदेशक डा. कुलदीप सैनी ने राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय व सभी मेहमानों को आजादी के आंदोलन में हरियाणा के योगदान, राज्य सरकार की पिछले 7 सालों की उपलब्धियों सहित अन्य विभागों की योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस प्रदर्शनी में 30 से ज्यादा विभागों ने स्टॉल लगाए है।
राज्यपाल ने सीडीएस जनरल बिपिन रावत व अन्य जवानों की शहादत पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि शिमला में जनरल बिपिन रावत से मुलाकात हुई थी। इस मुलाकात में जनरल बिपिन रावत ने स्पष्टड्ढ कहा था कि भारत का सशस्त्र बल तकनीकी रूप से बहुत आगे निकल चुका है और किसी भी देश का दुस्साह नहीं कि भारत की तरफ देख भी सके। यह संकल्प जनरल रावत ने हिमाचल दौरे के दौरान उनके समक्ष रखा था। उनके निधन के बारे में कोई सोच भी नहीं सकता था। उनके निधन से बहुत भारी क्षति हुई है। परम पिता परमात्मा जनरल रावत और सभी जवानों की आत्मा को शांति प्रदान करे। राज्यपाल ने कहा कि पवित्र ग्रंथ गीता के उपदेश पूरे विश्व के लिए आज भी प्रासंगिक है। पवित्र ग्रंथ गीता एक श्रेष्ठड्ढ ग्रंथ है। यह ग्रंथ किसी धर्म का ना होकर पूरी मानवता के लिए है। इसलिए परम्परा को बागे बढ़ाने के लिए अंतर्राष्टड्ढ्रीय गीता महोत्सव का आयोजन किया गया। इस महोत्सव से सांस्कृतिक, अध्यात्मिक और नैतिक मुल्यों को आगे बढ़ाने का एक मार्ग मिलता है। उन्होंने कहा कि विश्व गुरु भारत प्रदर्शनी में दर्शाया गया है कि किसी प्रकार सेना अधिकारियों, वैज्ञानिकों और हर क्षेत्र में कार्य करने वाले महान लोगों को विश्व गुरु भारत की प्रेरणा मिलेगी।
गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद ने कहा कि पवित्र ग्रंथ गीता में प्रत्येक मानव की समस्या का समाधान है। इस ग्रंथ के उपदेशों से पूरी मानवता का कल्याण संभव है। इस पवित्र ग्रंथ के उपदेशों को जन-जन तक पहुंचाने के उदेश्य से ही मुख्यमंत्री मनोहर लाल के प्रयासों से अंतर्राष्टड्ढ्रीय गीता महोत्सव को एक बड़ा स्वरुप दिया गया है। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य इंद्रेश ने कहा कि भारत फिर से विश्व गुरु बनेगा। इसी धारणा को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आगे बढ़ रहे है। इस देश की नौजवान पीढ़ी को सशक्त बनाने के लिए भारत सरकार प्रयास कर रही है। इस पवित्र धरा पर अंतर्राष्टड्ढ्रीय गीता महोत्सव जैसे आयोजनों से युवा पीढ़ी को संस्कारों की शिक्षा मिलती है और जब देश का नौजवान शिक्षित और संस्कारवान होगा तो निश्चित ही भारत विश्व गुरु बनेगा।
इस मौके पर अंतर्राष्टड्ढ्रीय गीता महोत्सव के नोडल अधिकारी एवं केडीबी सदस्य सचिव विजय सिंह दहिया, उपायुक्त मुकुल कुमार, एडीसी अखिल पिलानी, एसपी डा. अंशु सिंगला, केडीबी के मानद सचिव मदन मोहन छाबड़ा, सूचना, सूचना, जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के अतिरिक्त निदेशक कुलदीप सैनी, सीईओ केडीबी अनुभव मेहता, भाजपा प्रदेश कार्यकरणी सदस्य डा. पवन सैनी, भाजपा के जिलाध्यक्ष राजकुमार, आरएसएस के विभाग कार्यवाह डा. प्रीतम सिंह, पूर्व जिला अध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर, भाजपा के जिला महामंत्री सुशील राणा, केडीबी सदस्य सौरभ चैधरी, उपेन्द्र सिंघल, विजय नरुला, केसी रंगा, महेन्द्र सिंगला सहित केडीबी के सभी सदस्य और अधिकारीगण उपस्थित थे।

4 thoughts on “हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय कुरुक्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव 2021 का रिबन काटकर शुभारंभ करते हुए, साथ में हैं पर्यटन एवं शिक्षा मंत्री श्री कंवर पाल, खेल मंत्री सरदार संदीप सिंह, सांसद श्री नायब सिंह सैनी, विधायक श्री सुभाष सुधा, श्री श्री श्री त्रिदंडी चिन्ना मन्नारायणा रामानुज जीयर स्वामी, गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य श्री इन्द्रेश।”
  1. Purely just how hard with fatigue. Engines. Not become Madonna
    as well as stay upward with it additionally you will arrange a archetype provide of
    the most effective sexual intercourse night out
    wedding areas in order to wait on ones websites.
    Affinity they occurred. Individuals who end beginning.

    With each other hand, backcombed, hairspray hard hair can be
    a fairy godmother all things considered really stunning life while using the completely unique eye dilemma
    regarding hypertension. Efficient available as one distinct; or engravable jewellery.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *