• Mon. Jan 17th, 2022

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज वी.सी. के माध्यम से सोलर वाटर पम्पिंग कार्यक्रम का शुभारम्भ किया

Byadmin

Jan 6, 2022

अम्बाला, 6 जनवरी:-
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज वी.सी. के माध्यम से सोलर वाटर पम्पिंग कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने आज प्रदेश के 22 जिलों के 68 किसानों को प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान (पीएम कुसुम) के तहत सोलर वाटर पम्पिंग के इंस्टालेशन सर्टिफिकेट प्रदान किये। इन किसानों में जिला अम्बाला के 10 किसान शामिल हैं, जिन्हें उपायुक्त कार्यालय में उपायुक्त विक्रम सिंह ने सोलर सिस्टम लगाने से सम्बन्धित प्रमाण पत्र वितरित किये। इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त सचिन गुप्ता भी मौजूद रहे।
ऑनलाईन माध्यम से मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विभिन्न जिलों के उन किसानो से बातचीत भी की, जिन्होंने इस योजना के तहत सोलर वाटर पम्पिंग सिस्टम अपने खेतों में लगवाया है। इस अवसर पर उन्होंने  इस योजना से सम्बन्धित हिन्दी और अंग्रेजी में प्रकाशित दो पुस्तिकाओं का विमोचन भी किया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान (पीएम कुसुम) के अंतर्गत हरियाणा के किसानो को सोलर पम्प लगवाने पर 75 प्रतिशत का अनुदान दिया जा रहा है। उन्होंने इस योजना का लाभ लेने वाले सभी किसानो को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रदेश में कुल कृषि भूमि में से 75 प्रतिशत पर ही सिंचाई होती है और 25 प्रतिशत में वर्षा से खेती होती है। हर खेत को पानी देने की मुहिम इस योजना से पूर्ण हो सकती है। उन्होंने कहा कि किसान सूक्ष्म सिंचाई को अपनायेंगे तो उससे पानी की भी बचत होगी और सभी खेतों में पानी मिलेगा। उन्होंने कहा कि 15 हजार पम्प सैट 2020-21 में लगाये गये हैं तथा प्रथम चरण में 50 हजार लगाने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि जब सौर ऊर्जा पर आधारित पम्पसैट लगेंगे तो इससे बिजली और डीज़ल की भी बचत होगी तथा पर्यावरण भी प्रदूषित नही होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि म्हारा गांव-जगमग गांव योजना के तहत प्रदेश के साढ़े पांच हजार गांवो में 24 घंटे बिजली दी जा रही है तथा जल्द ही सभी गांवो में 24 घंटे बिजली दिये जाने के लक्ष्य को पूरा किया जायेगा। उन्होंने कहा कि लाईन लॉस कम किया गया है तथा थर्मल पॉवर की बजाए ग्रीन एनर्जी एवं पवन एनर्जी को बढ़ावा दिया जा रहा है।
इस अवसर पर बिजली एवं नवीन एवं नवीनीकरणीय ऊर्जा मंत्री रणजीत सिंह ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए इस योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ऊर्जा की बचत से ही देश की समृद्धि है, इस बात को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान (पीएम कुसुम) योजना के तहत किसानो को 75 प्रतिशत अनुदान पर सोलर पम्प दिये जा रहे हैं।
बॉक्स:- इस अवसर पर उपायुक्त विक्रम सिंह ने योजना का लाभ पाने वाले जिला अम्बाला के किसानो से बातचीत की और उन्हें सर्टिफिकेट प्रदान किये। उपायुक्त ने किसानो से सिंचाई प्रणाली के बारे में बातचीत करते हुए कहा कि किसान अधिक से अधिक संख्या में सोलर वाटर पम्पिंग सिस्टम को अपनाने के साथ-साथ लघु सिंचाई स्कीम का भी फायदा उठाएं और ड्रिप सिंचाई एवं फव्वारा सिस्टम को अपनाएं, जिससे की बिजली और पानी की बचत हो पाए। उन्होंने सोलर वाटर पम्पिंग सिस्टम लगवाने वाले किसानो से कहा कि वे इस स्कीम के बारे में अन्य किसानो को जानकारी दें, जिससे की वे भी इसका लाभ ले पाएं। इस स्कीम के तहत गांव अमीपुर के दलबीर सिंह, मच्छौंडा के जसविन्द्र सिंह, समलेहड़ी के घोला सिंह, पतरहेड़ी के नीरज पाल, होली की शांति देवी, पंजेटों के बलविन्द्र सिंह, धमौली उपरली के स्वर्ण सिंह, शाहपुर की अमरजीत कौर, नुर्द के राजबीर सिंह तथा बनौंदी के जय कृष्ण शामिल हैं।
इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त सचिन गुप्ता, डीआईओ विनय गुलाटी के साथ-साथ कृषि विभाग के अधिकारी मौजूद रहे। 

One thought on “हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज वी.सी. के माध्यम से सोलर वाटर पम्पिंग कार्यक्रम का शुभारम्भ किया”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *