• Sat. Oct 23rd, 2021

स्वास्थ्य प्रणाली को अपग्रेड करने के लिए तैयार किया ब्लूप्रिंट (खाका)- अनिल विज

Byadmin

Jun 15, 2021

पीएचसी/सीएचसी व नागरिक अस्पतालों की ‘मैपिंग’ जनसंख्या के आधार पर होगी- स्वास्थ्य मंत्री

डाक्टर, नर्स, पैरामैडीकल स्टाफ की होगी ट्रेनिंग- विज

चण्डीगढ़, 15 जून- हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि स्वास्थ्य प्रणाली को अपग्रेड करने के लिए एक ब्लूप्रिंट (खाका) तैयार किया गया है जिसके तहत कमियों को दूर करने का काम होगा और इसमें ‘शार्ट टर्म’ व ‘लोंग टर्म’ कमियों को शामिल किया जाएगा।

         श्री विज आज यहां वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से राज्य के सभी सिविल सर्जनों से बातचीत कर रहे थे।

         उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के दिशा निर्देशानुसार बिस्तरों की संख्या, डाक्टरों व पैरामैडीकल स्टाफ की संख्या जैसी कवायद हरियाणा में स्वास्थ्य प्रणाली के अपग्रेडेशन में शामिल की जाएगी ताकि मैडीकल की पढाई कर रहे बच्चों से कार्य करवाने की जरूरत न पडे। उन्होंने कहा कि किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए प्रशिक्षित स्टाफ होना चाहिए।

         श्री विज ने अस्पतालों को आक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बनाने के लिए कहा कि अस्पतालों में अपना आक्सीजन प्लांट होना चाहिए, चाहे वह सरकारी हो या प्राईवेट अस्पताल हो। एस्टेबलिशमेन्ट एक्ट के तहत 50 बेड से ऊपर के प्राईवेट अस्पताल को अपना आक्सीजन प्लांट लगाना होगा अन्यथा उनका पंजीकरण रदद कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि प्रत्येक बेड आक्सीजन सहित पाईप्ड गैसलाईन बेड हों। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञ यह तय करेंगें कि कितने बेडस पर आईसीयू बेड और वेंटीलेटर होने चाहिए।

          श्री विज ने कहा कि वे चाहते हैं कि नागरिक अस्पतालों में गुणवत्तापूर्ण उपकरणों के साथ-साथ गुणवत्तापरक दवाईयां का आना भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए। प्रमाणित दवाईयों को ही नागरिक अस्पतालों में लिया जाना चाहिए। उन्होंने सभी सिविल सर्जन को निर्देश देते हुए कहा कि वे अपने-अपने जिलों में सभी नागरिक अस्पतालों, पीएचसी व सीएचसी का नियमित दौरा करें और वहां आ रही समस्याओं को ठीक करने का प्रयास करें।

         इसी प्रकार, उन्होंने कहा कि पीएचसी/सीएचसी व नागरिक अस्पतालों की ‘मैपिंग’ जनसंख्या के आधार पर कराई जाएगी। भविष्य में डाक्टर, नर्स, पैरामैडीकल स्टाफ का ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू करवाया जाएगा, यदि किसी ने यह ट्रेनिंग नहीं की तो उसकी एसीपी रोक दी जाएगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि यह ट्रेनिंग सेंटर नियमित रूप से चलना चाहिए। उन्होंने कहा कि जल्द ही एक समझौता भी किया जाएगा जिसके तहत विभिन्न विषयों पर डाक्टरों व नर्सों को ट्रेनिंग देने का काम होगा।

         श्री विज ने बताया कि शीघ्र ही राज्य के सभी नागरिक अस्पतालों में ‘‘केटरिंग सेवा’’ शुरू की जाएगी। 

         इससे पहले, स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री अरोडा ने अधिकारियों से कहा कि कोरोना की दूसरी लहर धीमी पड़ गई है, इसलिए अस्पतालों मे इलैक्ट्रिक सर्जरी को शुरू करने का कार्य किया जाए।

         इस मौके पर हरियाणा चिकित्सा सेवाएं निगम के प्रबंध निदेशक साकेत कुमार, खाद्य एवं औषध प्रशासन के आयुक्त राजीव रत्तन सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed