• Wed. Dec 1st, 2021

स्ट्रॉम वाटर लाईन पूरा होने से छावनी क्षेत्र में बरसाती पानी की निकासी हो जायेगी सुगम और सुचारू

Byadmin

Jun 25, 2021

-स्ट्रॉम वाटर लाईन पूरा होने से छावनी क्षेत्र में बरसाती पानी की निकासी हो जायेगी सुगम और सुचारू–करीब 23 करोड़ रूपये की लागत से बिछाई जा रही स्ट्रॉम वाटर लाईन का कार्य इस वर्ष के अंत तक पूरा करने के दिए गये हैं निर्देश–इस प्रोजैक्ट के पूरा होते ही नाली मुक्त हो जायेगा अम्बाला छावनी :-गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज।
अम्बाला, 25 जून:- 
जहां प्रदेश में विकास कार्यों पर तेजी से काम किया जा रहा है वहीं छावनी क्षेत्र में भी विकास के कार्य पूरे जोरों पर हैं। बारीश के पानी की सुचारू रूप से निकासी के लिए एक बड़े प्रोजैक्ट को कार्यरूप में परिणित किया जा रहा है। यह प्रोजैक्ट अन्य के लिए भी अनुसरणीय रहने वाला है। स्ट्रॉम वाटर लाईन नामक इस प्रोजैक्ट के कार्यरूप में परिणित होने से पानी की निकासी की छावनी में कोई समस्या नहीं रहेगी। इस पर कार्य शुरू कर दिया गया है। इस बारे जानकारी देते हुए गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बताया कि स्ट्रॉम वाटर लाईन बिछाने का कार्य जारी है। समूचे छावनी क्षेत्र में स्ट्रॉम वाटर लाईन बिछाने के कार्य पर करीब 23 करोड़ रूपये की धनराशि खर्च होगी और इस कार्य को इस वर्ष के अंत तक पूरा कर लिया जायेगा।
जानकारी के क्रम में मंत्री विज ने यह भी बताया कि फरवरी 2021 से यह काम शुरू कर दिया गया है। चार किलोमीटर से अधिक क्षेत्र में आरसीसी की पाईप डाली भी जा चुकी है। हमारा मुख्य उद्देश्य जनता की सेवा करते हुए उन्हें बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाना है और इस दिशा में हम जन सहयोग से निरंतर आगे बढ रहे हैं। अन्य विकास कार्यों को लेकर भी समय-समय पर समीक्षा की जाती है। शहीद स्मारक, आर्यभट्ठ साईंस सैंटर, लघु सचिवालय, मल्टी स्टोरी पार्किंग, अम्बाला छावनी से साहा तक सडक निर्माण कार्य, शास्त्री कालोनी से बरसाती पानी की निकासी हेतू बब्याल ड्रेन में डालने के कार्य इत्यादि प्रगति पर है और निरंतरता में जारी हैं।
स्ट्रॉम वाटर लाईन विषय को लेकर जब कार्यकारी अभियंता विकास धीमान से बात की गई तो उन्होंने बताया कि स्ट्रॉम वाटर लाईन बिछाने की दृष्टिïगत 350 एमएम से लेकर 1000 एमएम तक की पाईप डाली जा रही हैं जिनकी क्षमता और दक्षता बेहतर है। स्ट्रॉम वाटर लाईन के दृष्टिïगत 1533 मेन हॉल बनाये जायेेंगे ताकि बरसाती पानी का कहीं भी ठहराव न हो और सुचारू रूप से निकासी हो सके। इसके अलावा 2655 इस्पैैक्शन चैम्बर भी बनाये जा रहे हैं। इस्पैंक्शन चैम्बरों को निर्धारित समय के तहत चैक किया जाता रहेगा और समय-समय पर गाद निकालने का काम किया जायेगा ताकि बरसाती पानी की निकासी सुचारू रूप से होती रहे। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि 15 किलोमीटर क्षेत्र में रोड़ गली बननी है, 250 एमएम की डीडब्लयूसी पाईप लाईन बिछाई जायेगी। इस व्यवस्था के कार्यरूप में परिणित होने से कहीं भी पानी का ठहराव नहीं हो पायेगा और पानी की निकासी सुचारू रूप से हो सकेगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed