• Wed. May 18th, 2022

स्कूल रेडीनैस मेला का आयोजन 31 मार्च को:-मनीषा गागट।

Byadmin

Mar 30, 2022

अम्बाला, 30 मार्च:-
महिला एवं बाल विकास विभाग अम्बाला की जिला कार्यक्रम अधिकारी मनीषा गागट ने बताया कि 31 मार्च 2022 से स्कूल रेडीनैस मेला का आयोजन किया जा रहा है। इसके अन्तर्गत पूरे जिले में जहां 253 आंगनवाडियों को प्ले वे स्कूलों में तब्दील किया है। इन आंगनवाड़ी केन्द्रोंं में 1 अपै्रल से दाखिले शुरू होगें। जहां नैनिहार अब राशन लेने के साथ-साथ खेल-खेल में अक्षर ज्ञान प्राप्त करेगें। बच्चों को पढ़ाने को लेकर आंगनवाड़ी में काम करने वाली सुपरवाईजरस व वर्करों को इसके बारे में पहले ही प्रशिक्षण प्रदान किया जा चुका है। इन प्ले वे स्कूूलों में बच्चों की योग्यता और रूचियों को ध्यान में रखते हुए उनको शिक्षा प्रदान की जाएगी। आंगनवाड़ी से प्ले वे में तब्दील किए गए स्कूल पास के सरकारी स्कूल में चलाए जाएगें। आंगनवाड़ी वर्करों द्वारा पहले ही इसके लिए बच्चों का सर्वे कर चुकी है। आंगनवाड़ी को तब्दील कर बनाए गए इन प्ले वे स्कूलों में 3 से 6 वर्ष तक के बच्चों को पूर्व स्कूली शिक्षा प्रदान की जाएगी। प्ले वे स्कूल में बच्चों को चुटकी बजाना, ताली बजाना, प्ले से खेलना, कागज फाडना, रस्सी कूदना, उछलना, सीढिय़ां चढना, उतरना व हल्का व्यायाम सिखाया जाएगा। जिसमें बच्चे का शारीरिक विकास होगा तो वही उसकी मासपेशियों का विकास भी होगा।
इस मेले का उदेश्य बच्चें की विकास सम्बन्धी जरूरतों के बारे माताओं को समझाना व बाल विकास प्रभावित करने वाले व्यापक मुद्दों पर माताओं में जागरूकता पैदा करना है। बच्चे की विकास सम्बन्धी जरूरतों के बारे में माताओं को समझाना और बाल विकास को प्रभावित करने वाले व्यापक मुद्दों पर माताओं में जागरूकता पैदा करना है। बच्चों की सीखने की प्रक्रिया मेें सक्रिय रूचि और माताओं की भागीदारी बनाए रखना। माताओं को खेल में एक-दूसरे का समर्थन करने और बच्चों के साथ विकासात्मक रूप में उपयुक्त गतिविधियों में संलग्न होने के लिए प्रोत्साहित करें।
स्कूल रेडीनेस मेला का उदे्श्य यह सुनिश्चित करना है कि बच्चे स्कूल के लिए तैयार हों और माता-पिता अपने बच्चों की सीखने की जरूरतों से अवगत हों और इस यात्रा में सक्रिय रूप से उनका समर्थन करने में योगदान दे सकें। मेला एक सामुदायिक कार्यक्रम है जो स्थानीय समुदाय के सदस्यों को शामिल करने का प्रयास करता है, जिसमें सरकारी अधिकारी, आंगनवाड़ी वर्कर, स्कूल शिक्षक और विशेष रूप से माताएं और बच्चे शामिल है। मेला विभिन्न प्रकार के मजेदार कार्यो के माध्यम से बच्चों की स्कूल क लिए उनकी तैयारियों का आंकलन करने के लिए और नियमित रूप से परिवार के सदस्यों द्वारा घर पर की जा सकने वाली आकर्षक और विकासात्मक रूप से उपयुक्त गतिविधियों को प्रदर्शित करने के लिए है। मेले के 2 महीने के बाद माताओं के साथ विचारों का आदान-प्रदान किया जाएगा कि बच्चों के पढऩे का माहौल बनाने के लिए माताएं अपना अनुभव सांझा करेगीं, 4 महीने बाद माताओं को अपना अनुभव सांझा करने के लिए फिर से इस मेलें का आयोजन किया जाएगा।

2 thoughts on “स्कूल रेडीनैस मेला का आयोजन 31 मार्च को:-मनीषा गागट।”
  1. Im excited to discover this web site. I need to to thank you for ones time for this wonderful read!! I definitely savored every bit of it and I have you bookmarked to look at new information in your web site.

Leave a Reply

Your email address will not be published.