• Sat. May 28th, 2022

संसद से सड़कों तक भाजपा सरकार कुचल रही किसान और किसानी को : चित्रा सरवारा

Byadmin

Oct 4, 2021


हिंसा और अराजकता भड़काने वाला सीएम का बयान बेहद निंदनीय और शर्मनाक 
लखीमपुर कांड और सीएम खट्टर के किसान विरोधी बयान से गुस्साए एचडीएफ नेताओं ने फूंका माेदी,योगी और खट्टर का पुतलाअम्बाला छावनी : हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट के संस्थापक पूर्व मंत्री निर्मल सिंह के दिशा निर्देशानुसार आज हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट की नेत्री और महासचिव चित्रा सरवारा की अगुवाई में अम्बाला छावनी के सदर बाजार चौक पर सभी एचडीएफ के नेता और कार्यकर्ता एकत्रित हुए और भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंककर विरोध प्रदर्शन किया। 
इस अवसर पर बोलते हुए चित्रा सरवारा ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का यह कहना उत्तर और पश्चिम हरियाणा के हर जिले के 500-1000 लोग वॉलिंटियर खड़े करो और जगह-जगह जैसे को तैसा करके लठ उठालो। जब लठ उठाओगे तो बाकी हम देख लेंगे, जब लठ उठाओगे तो जेल की परवाह ना करो दो-तीन महीने जेल जाने के बाद बड़ा नेता बनकर बाहर आओगे। मुख्यमंत्री की ओर से ऐसा बयान देना पूरी तरह से निंदनीय हैं। चित्रा सरवारा ने कहा कि मुख्यमंत्री के बयान से यह साफ सिद्ध हो जाता है कि सरकार किसान आंदोलन को को divide and rule नीति के tahat तोड़ना चाहती है I उन्हीं में से कुछ को उकसा कर देश और प्रदेश में आपसी भाईचारा खराब करने में लगी हुई है। हरियाणा को हिंसा की तरफ करने में तुली हुई है। 
 देश और प्रदेश का किसान अपनी मांगों को मंगवाने के लिए शांतिप्रिय आंदोलन कर रहा है और किसान दस से अधिक महीनों से धरने पर बैठे हैं और किसान आंदोलन में लगभग 700 से ज्यादा किसानों की मौत हो चुकी है। चित्रा सरवारा ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार को किसानों को उकसाने की बजाए तीन कृषि कानून की समस्या का तुरंत हल करना चाहिए ताकि देश और प्रदेश में किसान, किसानी, अमन और शांति बनी रहे। चित्रा सरवारा ने कहा कि भाजपा सरकार अपने तानाशाही रवैये के चलते लगातार जनविरोधी निर्णय ले रही है। यह सरकार विपक्षी दलों, किसानों, मजदूरों और आम जनता की आवाज दबाने के लिए हर प्रकार के हथकंडे अपना रही हैl उन्होंने कहा कि किसान-मजदूर के सीने पर मोदी और खट्टर सरकारों ने लगातार वार किया है और खून बहाया, किसान आंदोलन को कुचलने के लिए पुलिस बल का सहारा लिया गया। पहले करनाल मे मुख्यमंत्री-उपमुख्यमंत्री ने ड्यूटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से किसानों के सिरों पर लाठियां बरसाकर कातिलाना हमला करने का आदेश देना लेकिन जब सरकार इन सब में विफल रही तो अब कुछ लोगों को हिंसा के लिए भड़काया जा रहा है। खुद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कुछ लोगों को हिंसा के लिए भड़काने वाला बयान अत्यंत दुखद है। एक मुख्यमंत्री की ओर से ऐसे बयान की कल्पना भी नहीं की जा सकती है।इस अवसर पर मुख्य रूप से हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट के सभी पदाधिकारियों के साथ साथ कार्यकर्ता भी मौजूद रहे।

11 thoughts on “संसद से सड़कों तक भाजपा सरकार कुचल रही किसान और किसानी को : चित्रा सरवारा”

Leave a Reply

Your email address will not be published.