• Sat. Oct 23rd, 2021

संयुक्त राष्ट संघ दिवस के उपलक्ष्य में आज जिला स्तरीय समारोह का आयोजन

Byadmin

Oct 24, 2020

अम्बाला, 24 अक्तूबर
संयुक्त राष्टï्र संघ दिवस के उपलक्ष्य में आज जिला स्तरीय समारोह का आयोजन कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए उपायुक्त कार्यालय के प्रागंण अम्बाला शहर में किया गया। कार्यक्रम मेंं उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा संयुक्त राष्टï्र ध्वज फहराया और जिला पुलिस के जवानों ने ध्वज को सलामी दी। इस मौके पर उनके साथ अतिरिक्त उपायुक्त प्रीति व नगराधीश अशोक कुमार मौजूद रहे।
उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने अपने संदेश में कहा कि संयुक्त राष्टï्र की स्थापना आज ही के दिन 24 अक्तूबर 1945 में विश्व में अमन शांति स्थापित करने के लिये की गई थी। उस समय इसके सदस्यों की संख्या 51 थी, जो आज बढ़ कर 193 हो गई है। उन्होंने कहा कि शांति स्थापित करने के साथ साथ संयुक्त राष्टï्र संघ आज अपनी 20 संस्थाओं के माध्यम से पूरी दुनिया में निरक्षरता को समाप्त करने, विभिन्न जानलेवा बीमारियों का उन्मूलन करने, अंतर्राष्टï्रीय स्तर पर अपराधियों को पकडऩे, श्रमिक विवादों का निपटान करने और उन्हें बेहतर सुविधाएं मुहैया करवाने तथा प्राकृतिक आपदाओं में आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाने जैसे जन कल्याण के कार्यो को करने में अग्रसर है। उन्होंने कहा कि लडऩा-झगडऩा मानव की प्रवृति है तथा जिस प्रकार घर का मुखिया परिवार के सदस्यों के मामलों का निपटान करता है, उसी प्रकार संयुक्त राष्टï्र संघ अपने सदस्य देशों क ी देखभाल करने के साथ साथ उनकी समृद्घि और खुशहाली के लिये प्रयासरत रहता है।
उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्टï्र संघ के कारण ही न केवल हमारा देश बल्कि पूरी दुनिया के लोग आजादी की हवा में सांस लेने के साथ-साथ अन्य सुविधाओं का लाभ उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया में लड़े गये अनेक युद्घों विशेषकर दो विश्व युद्घों में मानव जाति का जितना विनाश हुआ है, उतना विनाश बाढ़, भूकम्प, तूफान, सूखे जैसी प्राकृतिक आपदाओं तथा बीमारियों में नहीं हुआ है। उन्होने कहा कि संयुक्त राष्टï्र संघ के  प्रयासों का परिणाम है कि अभी तक  तीसरा विश्व युद्घ टला हुआ है। उन्होंने कहा कि भारत जोकि स्वतंत्रता प्राप्ति से पूर्व संयुक्त राष्टï्र संघ का सदस्य है, ने इसके उद्देश्यो को प्राप्त करने में सदा सक्रिय योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि किसी भी संस्था व संगठन के लिए अनुशासन बेहद आवश्यक है और संयुक्त राष्ट्र संघ अलग-अलग देशों में मैत्री सम्बन्ध बनाने के साथ साथ उन्हे युद्ध की बजाए अनुशासन में रहने के लिए प्रेरित करता है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति को अपने जीवन मे सदाचार और अनुशासन का पालन कर समाज हित व देश हित मे कार्य करना चाहिए।
इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना महामारी से बचना स्वयं पर निर्भर करता है, हमें एसएमएस यानि सामाजिक दूरी, मास्क पहनना व सैनिटाईजेशन को मूल मंत्र को अपने दैनिक जीवन में अपनाना है। उन्होने कहा कि इन तीनों को यदि हम अपना लेेते हैं तो कोरोना वायरस से बच सकते हैं। उन्होंने उपस्थित सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को इस मौके पर आहवान किया कि वे कोविड-19 के दृष्टिगत जो आवश्यक हिदायतें एवं नियम हैं उनकी हमें स्वयं पालना करनी है तथा दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करना है। उन्होंने यह भी कहा कि यदि हम कहीं बाहर जाते है तो मास्क का अवश्य प्रयोग करें, दिखावे के रूप में इसका प्रयोग न करें, नियमित रूप से इसकी पालना करें। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना के लक्षण होने पर उसका टैस्ट जरूर करवाएं, इस बीमारी से घबराएं नहीं। उन्होंने कहा कि यदि हम समय रहते इसका टैस्ट करवा लेते है और यदि हम इस बीमारी से संक्रमित है तो इसका बचाव ही इलाज है। आवश्यक हिदायतों की पालना करते हुए इस वायरस को फैलने से रोका जा सकता है।
संयुक्त राष्ट्र दिवस के अवसर पर नगराधीश अशोक कुमार ने कहा कि उग्रवाद से निपटने के लिए हम सबको मिलकर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि वर्ष 1973 तथा 1982 में डॉ. नागेन्द्र सिंह अंतराष्टï्रीय न्यायालय के न्यायधीश बनें तथा 1985 में मुख्य न्यायाधीश बने। इसी तरह आर.एस.पाठक भी इस न्यायालय के न्यायाधीश बनें जोकि भारत की एक महान उपलब्धि हैं। उन्होने कहा कि युद्ध के समय शान्ति और शन्ति के समय विकास के कार्य कराना ही संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्य उद्देश्य है। इस अवसर पर जिला प्रशासन के विभिन्न कार्यालय के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

Related Post

हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय से शनिवार को हरियाणा खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के चेयरमैन श्री रामनिवास ने शिष्टाचार मुलाकात की और बोर्ड की गतिविधियों की जानकारी दी।
राजकीय महाविद्यालय नारायणगढ़ में प्राचार्य संजीव कुमार की अध्यक्षता में महिला प्रकोष्ठ के तहत करवा चौथ की पूर्व संध्या पर इस उपलक्ष में मेहंदी प्रतियोगिता तथा नेल आर्ट प्रतियोगिता  का आयोजन किया गया।
कैम्पेन आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की अध्यक्ष एवं सैशन जज सुश्री नीरजा कुलवंत कलसन के निर्देशानुसार रविवार 24 अक्तूबर को संयुक्त राष्ट्र दिवस के अंतर्गत आज हर्बल पार्क अम्बाला शहर के नजदीक वॉक थॉन (शांति मार्च) का आयोजन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed