• Wed. Jun 29th, 2022

शिवालिक विकास एजेंसी की मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रतिमा चौधरी ने मंगलवार को अपने कार्यालय में परिवार पहचान पत्र बनाने के कार्य में तेजी लाने के दृष्टिïगत सम्बन्धित अधिकारियों की ली बैठक।

Byadmin

Dec 15, 2020

परिवार पहचान पत्र बनाने के कार्य में तेजी लाएं सम्बन्धित अधिकारी–फैमिली डाटा के अपडेशन से योजनाओं का लाभ लेने में रहेगी आसानी:-प्रतिमा चौधरी।

अम्बाला, 15 दिसम्बर:-
 परिवार पहचान पत्र बनाने के कार्य में तेजी लाने की जरूरत है। सभी सम्बन्धित अधिकारी परिवारी पहचान पत्र बनाने के कार्य की रिर्पोट भेजना भी सुनिश्चित करे ताकि किए गए कार्य बारे पुरी जानकारी मिलती रहे। ये निर्देश शिवालिक विकास एजेंसी की मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रतिमा चौधरी ने आज मंगलवार को अपने कार्यालय में परिवार पहचान पत्र विषय को लेकर एक बैठक लेते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। उन्होंने अभी तक इस विषय को लेकर किये गये कार्यों के बारे में भी विस्तार से जानकारी भी ली।
 चौधरी ने बताया कि परिवार पहचान पत्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। इस योजना के क्रियान्वित के लिये हमको मिलकर बेहतर समन्वय के साथ कार्य करना है ताकि परिवार पहचान पत्र बनाने का कार्य शत-प्रतिशत किया जा सके और निर्धारित मापदंडो के तहत लोगों को योजना का लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि परिवार पहचान पत्र का पहला उद्देश्य हरियाणा में सभी परिवारों का प्रमाणित, सत्यापित और विश्वसनीय डाटा तैयार करना है। पीपीपी हरियाणा में प्रत्येक परिवार की पहचान करता है और परिवार के बुनियादी डाटा को डिजीटल प्रारूप में परिवार की सहमति से प्रदान करता है। प्रत्येक परिवार को 8 अंको का परिवार आईडी प्रदान किया जा रहा है। फैमिली डाटा के आटोमैटिक अपडेशन को सुनिश्चित करने के लिए फैमिली आईडी को बर्थ और डैथ व मैरिज रिकार्ड से जोड़ा जायेगा। उन्होंने बताया कि वृद्धावस्था, विधवा और दिव्यांग पैंशन के लिए अब परिवार पहचान पत्र का होना अनिवार्य कर दिया गया है। इसके अलावा फैमिली आईडी छात्रवृति, सबसीडी और अन्य पैंशन जैसी सभी मौजूदा स्वतंत्र योजनाओं को जोड़ेगी ताकि विश्वसनीयता सुनिश्चित हो सके तथा साथ ही विभिन्न योजनाओं, सबसीडी और पैंशन के लाभार्थियों के स्वत:चयन को सक्षम किया जा सके।  
बैठक के दौरान उन्होंने यह भी कहा कि सक्षम के सहयोग से इस कार्य को करने के लिये विभागाध्यक्षों को जो भी आवश्यकता है, उसके तहत इस कार्य को करना सुनिश्चित करें। उन्होंने शिक्षा व अन्य विभागों के अधिकारियों को भी इस कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये।  उन्होंने यह भी कहा कि इस कार्य के लिए सम्बन्धित कर्मचारियों को प्रशिक्षण भी दिया गया है ताकि वे इस कार्य को सुगमता से करते हुए लोगों को इस सुविधा का लाभ दे सकें। उन्होंने जिला के सभी नागरिकों से अनुरोध किया है कि अपने परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) में कोई अपडेट व नया परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) बनवाने के लिए अपने नजदीकी सीएससी में जाकर निशुल्क करवाएं। आईडी बनाने एवं अपडेशन उपरांत जो फार्म दिया जाता है उस पर अपने हस्ताक्षर अवश्यक करें व सीएससी, वीएलई को प्रस्तुत करें।
बैठक में मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी उत्सव शाह, उपनिदेशक पशुपालन डा0 प्रेम सिंह, जिला कल्याण अधिकारी शीशपाल, जिला समाज कल्याण अधिकारी विनोद, मत्स्य अधिकारी रवि भठला, सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.