• Sun. Nov 28th, 2021

शहर नगर निगम को केवल 18.69 करोड़ रुपये का आबंटन – हेमंत

Byadmin

Mar 13, 2021


अम्बाला शहर
:- 13 मार्च
हालांकि सदर नगर परिषद के लिए 14.94 करोड़ रुपये का प्रावधान 

अम्बाला शहर – बीते कल  हरियाणा विधानसभा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा प्रदेश के वित्त मंत्री के रूप में  प्रस्तुत किए गए आगामी  वित्त  वर्ष 2021-22 के   बजट में  अम्बाला (शहर ) नगर निगम के लिए 18 करोड़ 69 लाख 23 हजार 672 रुपये का आबंटन  किया गया है जो प्रदेश की 10 नगर निगमों को आबंटित धनराशि की तुलना में  सबसे कम  है. पिछले वर्ष के बजट में मौजूदा वित्त वर्ष  2020 -21 के लिए  अम्बाला नगर निगम को  संशोधित बजट अनुमान में 17 करोड़ 22 लाख 18 हज़ार रुपये का प्रावधान रहा  हालांकि वित्त वर्ष 2019 -20  में यहाँ के वास्तविक व्यय (खर्चे ) को 19 करोड़ 99 लाख 61 हज़ार दर्शाया गया है.

 स्थानीय निवासी पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के एडवोकेट हेमंत कुमार ने हरियाणा सरकार  के बजट दस्तावेजों का बीती रात अध्ययन करने के बाद बताया कि प्रदेश की सबसे पुरानी फरीदाबाद नगर निगम, जिसका गठन वर्ष 1994 में किया गया था,  को सर्वाधिक 1 अरब 5 करोड़  87 लाख 96 हज़ार  रुपये देने की अनुदान राशि देने का  उल्लेख किया गया है. वहीं    गुरूग्राम नगर निगम, जिसका गठन  प्रदेश की दूसरी नगर निगम के तौर पर वर्ष 2008 में किया गया था,   को 70 करोड़ 70 लाख  रुपये,  हिसार नगर निगम को 29 करोड़ 62 लाख 60 हज़ार रुपये  , करनाल नगर निगम को 25 करोड़ 43 लाख 51 हज़ार  रुपये , पंचकूला नगर निगम को 21 करोड़ 56 लाख 53 हज़ार रुपये,   पानीपत नगर निगम को 45 करोड़  2  लाख 47 हज़ार रुपये , रोहतक नगर निगम को 31 करोड़ 18 लाख 54 हज़ार  , सोनीपत नगर निगम को 37 करोड़ 92 लाख 63 हज़ार  और यमुनानगर नगर निगम को 37 करोड़ 46 हज़ार रुपये  देने का उल्लेख  किया गया है. इस प्रकार अम्बाला नगर निगम प्रदेश के 10 नगर निगमों में सबसे पीछे हैं. बीते वर्ष दिसंबर में गुरुग्राम ज़िले में मानेसर को प्रदेश की  11 वीँ नगर निगम के तौर पर नोटिफाई कर किया  गया  हालांकि ताज़ा  बजट में उसके लिए कोई धनराशि आबंटित नहीं की गयी है.

हेमंत ने बताया कि हालांकि जहाँ तक अम्बाला सदर (कैंट ) नगर परिषद का विषय है, जो प्रदेश के गृह, स्वास्थ्य और शहरी निकाय मंत्री अनिल विज का गृहक्षेत्र भी है, एवं  जिसका पुनर्गठन  डेढ़ वर्ष पूर्व 11 सितम्बर, 2019 को किया गया  जब इसे अम्बाला शहर और अम्बाला सदर की तत्कालीन संयुक्त अम्बाला नगर निगम, जिसका गठन मार्च, 2010  में किया गया था, में से बाहर निकल दिया गया , के लिए 14 करोड़ 94 लाख 72 हजार 825 रुपये आबंटित किये गए हैं  है जो प्रदेश की 77 नगर परिषदों और नगर पालिकाओं में सबसे अधिक धनराशि  है. वहीँ अम्बाला ज़िले की नारायणगढ़ नगर पालिका को 1 करोड़ 65 लाख 22 हजार  और बराड़ा  नगर पालिका के लिए 1 करोड़ 54 लाख 89 हजार  रूपये दिए  गए  है.  अम्बाला सदर के अलावा प्रदेश में केवल भिवानी, बहादुरगढ़, जींद, कैथल, थानेसर (कुरुक्षेत्र ) और सिरसा को भी 10 लाख रुपये से ऊपर की धनराशि प्रदान की गयी है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed