• Sat. Oct 23rd, 2021

राज्य स्तर पर भी हॉस्पिटल बैड मैनेजमैंट व होम आईसोलेशन ऐप बनाने को लेकर उच्च अधिकारियों को दिये जायेंगे दिशा-निर्देश

Byadmin

Sep 25, 2020

–कोरोना संक्रमण को रोकने में होंगे मददगार हॉस्पिटल बैड मैनेजमैंट व होम आईसोलेशन ऐप–सम्बन्धित व्यक्तियों को उपचार में मिलेगी मदद–सम्बन्धित व्यक्ति घर बैठे ही मोबाईल फोन से करवा सकेंगे बुकिंग:-गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज।
-गृहमंत्री अनिल विज ने जिला स्तर पर हॉस्पिटल बैड मैनेजमैंट व होम आईसोलेशन ऐप का किया शुभारम्भ–ऐप को गुगल व जिला प्रशासन द्वारा जारी वैबसाईट के जरिये किया जा सकता है डाउनलोड।
अम्बाला, 25 सितम्बर :-
 गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने शुक्रवार कोविड-19 के दृष्टिगत लोगों को त्वरित और बुकिंग सुविधा उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से लोक निर्माण विश्राम गृह अम्बाला छावनी में अम्बाला हॉस्पिटल बैड मैनेजमैंट व होम आईसोलेशन ऐप का शुभारम्भ किया। इस ऐप को गुगल के माध्यम से व जिला प्रशासन द्वारा जारी वैबसाईट के जरिये डाउनलोड किया जा सकता है और यह किसी भी मोबाईल जैसे एंड्राएड, स्मार्ट फोन पर भी डाउनलोड की जा सकती है। गृहमंत्री ने इन दोनों ऐप के शुभारम्भ के लिए जिला प्रशासन की प्रशंसा की और कहा कि यह माडल हिन्दुस्तान में पहला ऐसा माडल हो सकता है जो यहां पर लॉंच किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य स्तर पर भी इस प्रकार के ऐप लॉंच करने के लिए उच्च अधिकारियों से बात की जायेगी ताकि सभी जिलों का रिकार्ड जिला स्तर के साथ-साथ राज्य स्तर पर भी उपलब्ध हो सके और कोरोना संक्रमण से सम्बन्धित जानकारी और बचाव सबंधी सुविधाएं मिल सकें।
गृहमंत्री ने इस मौके पर बताया कि अम्बाला हॉस्पिटल बैड मैनेजमैंट के तहत कोई भी व्यक्ति जिले में कोविड से सम्बन्धित, कितने बैडों की व्यवस्था के साथ-साथ वहां पर अन्य चिकित्सा सुविधाओं की क्या-क्या व्यवस्था है इसके लिए वह मोबाईल पर इस ऐप को डाउनलोड करके तमाम जानकारी ले सकता है। उसे सम्पूर्ण जानकारी मिलेगी, बशर्ते उसे अपने से सम्बन्धित तमाम जानकारी ऐप में दर्शानी होगी। ऐप में दर्शाने के बाद सभी जानकारी आ जायेगी और सम्बन्धित व्यक्ति को बैड बुक करवाने पर एक एसएमएस भी आयेगा। उन्होंने यह भी बताया कि इसके लिए तीन घंटे की समय अवधि होगी यदि सम्बन्धित व्यक्ति नियमानुसार व समय अवधि को ध्यान में रखते हुए इस कार्य को करेगा तो उसे बैड की व्यवस्था के साथ-साथ अन्य चिकित्सा सुविधा मिल सकेगी अन्यथा यह सुविधा रद्द हो जायेगी।
गृहमंत्री विज ने इस मौके पर होम आईसोलेश ऐप का भी शुभारम्भ करते हुए स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ जिला प्रशासन की भी पीठ थपथपाई और कहा कि उन्होंने आईटी के माध्यम से जो यह ऐप विकसित की है वह कोरोना से सम्बन्धित लोगों के लिए बेहद कारगर सिद्ध होगी। इस ऐप के माध्यम से स्वास्थ्य विभाग द्वारा गठित टीमें होम आईसोलेशन संबधी मरीज की मोनिटरिंग रखेगी और क्यूआर कोड के माध्यम से स्वास्थ्य विभाग की टीम सम्बन्धित मरीज का पूरा डाटा उन द्वारा बताए जाने वाली जानकारी के अनुसार भरेगी। उसमें भी स्वास्थ्य विभाग की आवश्यक हिदायतें हैं यदि मरीज को चिकित्सा की बेहद आवश्यकता है तो उसे डाक्टर के परामर्श के बाद अस्पताल में शिफ्ट करने का काम भी किया जायेगा। दोनों ऐप की विशेषता यह है कि समय-समय पर सम्पूर्ण जानकारी डैस्क बोर्ड पर अंकित होगी और मरीज की स्थिति अनुसार ऐप में रंग भी बदलेगा यानि कि मरीज की क्या स्थिति उसका पता चलता रहेगा। गृहमंत्री ने एक बार फिर इस कार्य के लिए जिला प्रशासन का आभार व्यक्त करते हुए उन्हें बधाई दी।
उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने इस मौके पर गृहमंत्री का धन्यवाद किया और कहा कि उनके मार्गदर्शन में समय-समय पर आवश्यक दिशा-निर्देश मिलने से जिले में कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के सांझे प्रयास जारी हैं। आरम्भ में स्थिति कुछ और थी, चैलेंज के रूप में कार्य था, अब सभी के सहयोग से बेहतर समन्वय के साथ कार्य करते हुए कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने की दिशा में कार्य किया जा रहा है।
इस मौके पर उपायुक्त ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए दोनों ऐप के बारे में विस्तार से जानकारी दी और उनके माध्यम से लोगों से अपील की कि यदि कोई व्यक्ति कोरोना संक्रमित हो जाता है तो वह घबराए नहीं, किसी तरह की कोई जानकारी छिपाए नहीं। उन्होंने कहा कि कोरोना कोई दाग या धब्बा नहीं है यह एक फल्यू है, सावधानी एवं आवश्यक हिदायतों की पालना करते हुए इसे रोका जा सकता है। उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति समय रहते इसकी जानकारी दे देता है तो उसकी जिन्दगी को बचाया जा सकता है और यदि हम एक भी जिन्दगी को बचा लेते हैं तो यह हमारे के लिए एक उपलब्धि है। उपायुक्त ने यह भी बताया कि जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग द्वारा होम आईसोलेशन विषय को लेकर टीमें गठित की गई हैं। सम्बन्धित टीमें जहां-जहां पर भी सम्बन्धित व्यक्ति आईसोलेट है उनके क्षेत्र में जाकर मोनिटरिंग करेगी। बाकायदा उनकी गाड़ी का एक पम्पलेट भी चस्पा होगा ताकि कोई भी उस गाड़ी को रोके न, इसके साथ-साथ उस पर आपातकालीन नम्बर भी दर्शाए गये हैं।
इस मौक पर एडीसी प्रीति, एसडीएम सुभाष चंद्र सिहाग, नगराधीश अशोक कुमार, सिविल सर्जन डा0 कुलदीप सिंह, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, मीडिया कोर्डिनेटर विजेन्द्र चौहान, सीएमजीजीए उत्सव शाह, कार्यकारी अभियंता निशांत, डा0 राजेन्द्र राय, डा0 सुखप्रीत, सहित सम्बन्धित अधिकारीगण मौजूद रहे।

30 thoughts on “राज्य स्तर पर भी हॉस्पिटल बैड मैनेजमैंट व होम आईसोलेशन ऐप बनाने को लेकर उच्च अधिकारियों को दिये जायेंगे दिशा-निर्देश”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *