• Mon. Jun 27th, 2022

योजनाओं को कार्यरूप में परिणित करने के दृष्टिïगत डीसी ने ली सम्बन्धित अधिकारियों की बैठक।

Byadmin

Jul 15, 2021

अम्बाला, 15 जुलाई:- प्रधानमंत्री सूक्षम खाद्य प्रसंस्करण योजना को लेकर आज उपायुक्त विक्रम सिंह ने अपने कार्यालय में सम्बन्धित अधिकारियों की बैठक लेकर इस योजना के तहत किए जाने वाले कार्यों के बारे में जानकारी ली। बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त ने बताया कि छोटे उद्योग धंधों को विकसित करने व जिला के लोगों व किसानों के जागरूकता को लेकर विस्तार से चर्चा की। उपायुक्त ने एमएसएमई के अधिकारियों को इस योजना के बारे में लोगों को ज्यादा से ज्यादा जानकारी देकर इस योजना से जुडने के आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उपायुक्त ने बताया कि केन्द्र व हरियाणा सरकार द्वारा एमएसएमई विभाग के माध्यम से छोटे उद्योगों को बढ़ावा देेने के लिए उनको आगे बढने के लिए अनेकों योजनाएं चलाई जा रही है। सरकार का उद्देश्य किसानों को खेतों के साथ-साथ छोटे उद्योगों से जोडकर उनकी आमदनी को बढ़ाना है।
इस मौके पर एमएसएमई के उप निदेशक रितुल सिंगला ने उपायुक्त को अवगत करवाते हुए बताया कि खाद्य प्रसंस्करण उद्योग जिसकी लागत एक करोड़ रूपये तक हो एवं शुक्षम खाद्य प्रसंस्करण योजना के तहत आवेदन कर सकता है। इसमें उद्योग की लागत का 35 प्रतिशत या अधिकतम 10 लाख रूपये तक की सबसीडी का भी प्रावधान है। उन्होंने बताया कि विभाग इस योजना के तहत खेती को प्रोत्साहित करने हेतू किसानों को प्रोत्साहित करने हेतू कार्य किया जा रहा हे। उपायुक्त ने एमएसएमई के अधिकारियों को कहा कि वे अपने विभाग द्वारा जो भी योजनाएं चलाई जा रही है चाहे वह किसानों व उद्योगों से सम्बन्धित हो उस बारे सम्बन्धित को जागरूक करने का काम करें। बैनर व पम्पलेट से इस बारे प्रचार-प्रसार करवाएं ताकि लोगों को योजना के बारे में जानकारी मिल सके। उन्होंने कहा कि वे ऐसे किसानों को चिन्हित करने का काम करें जो खेती में बेहतर कार्य कर रहे हैं ताकि वह कृषि के क्षेत्र में आगे बढ़ सकें।
इस मौके पर उपायुक्त ने हरियाणा राज्य ग्रामीण आजीविका मिशनकी जिला कार्यक्रम अधिकारी ममता शर्मा को निर्देश दिये कि वह स्वयं सहायता समूह के सदस्यों के द्वारा ब्लाक स्तर पर डीडीओ कार्यालय, एसडीएम कार्यालय व अन्य कार्यालयों में कंटीन खुलवाने की व्यवस्था करें ताकि स्वयं सहायता समूह के सदस्य आगे बढ़ सकें और आत्मनिर्भर बन सकें।
इस मौके पर एमएसएमई के उप निदेशक रितुल सिंगला,कृषि विभाग के उप निदेशक गिरीश नागपाल, एलडीएम डीके गुप्ता, नाबार्ड दीपक जाखड, जिला बागवानी अधिकारी अजेश कुमार के साथ-साथ सम्बन्धित अधिकारीगण मौजूद रहे।

3 thoughts on “योजनाओं को कार्यरूप में परिणित करने के दृष्टिïगत डीसी ने ली सम्बन्धित अधिकारियों की बैठक।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.