• Sat. Jul 2nd, 2022

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत चिन्हित किया गया बच्चों को।

Byadmin

Jul 6, 2021

अम्बाला, 6 जुलाई:- मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत निर्धारित मापदंडों की पालना के तहत जिला में तीन बच्चों को चिन्हित किया गया है। इन तीनों बच्चों को औपचारिकताएं पूरी होते ही योजना के तहत लाभ देने का काम किया जायेगा। उपायुक्त विक्रम सिंह इस विषय को लेकर आज सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर रहे थे।
समीक्षा बैठक के दौरान उपायुक्त ने मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत कोरोना काल में जिन बच्चों के माता-पिता की मृत्यु हो गई है और निराश्रित हो चुके हैं, ऐसे बच्चों को इस योजना का लाभ मिल सके, इसके दृष्टिगत प्रदेश सरकार द्वारा यह योजना क्रियान्वित की गई है। उपायुक्त ने जहां चिन्हित इन तीन बच्चों को योजना का लाभ देने के लिए जो औपचारिकताएं पूरी करनी है उसके लिए सम्बन्धित अधिकारियों को तीव्रता से काम करने के निर्देश दिये हैं वहीं यह भी कहा कि कोविड होने के 6 महीने तक यदि किसी बच्चे के माता-पिता की मृत्यु हो गई है वे इस योजना के लाभ के लिए बाल कल्याण समिति की चेयरमैन रंजीता के मोबाईल नम्बर 9416089189 व बाल कल्याण समिति की सदस्य रेखा के मोबाईल नम्बर 7206439557 व हैल्पलाईन नम्बर 1098 पर सम्पर्क कर सकते है। इस योजना के तहत सर्वे का कार्य किया जायेगा।
उक्त विषय को लेकर अधिक जानकारी के लिए कोई भी व्यक्ति महिला एवं बाल विकास विभाग अम्बाला के कार्यालय में सम्पर्क कर सकता है। उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी को भी कहा कि इस योजना के अंतर्गत वे सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों में इस विषय को लेकर स्कूल मुखियों को अवगत करवाएं ताकि यदि उनके संज्ञान में कोई केस आता है तो वह उसे महिला एवं बाल विकास विभाग में भेज सकें।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य यही है कि यदि कोरोना काल में किसी बच्चे के माता-पिता की मृत्यु हो गई है तो वे इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। उपायुक्त ने बैठक में सम्बन्धित अधिकारियों को स्पष्ट किया कि जो मोबाईल नम्बर इस विषय को लेकर जारी किए गये हैं उन नम्बरों को सम्बन्धित अधिकारी या कर्मचारी उठाना सुनिश्चित करें ताकि यदि किसी व्यक्ति को इस संबध में कोई जानकारी चाहिए तो वह उसे मिल सके।
महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी बलजीत कौर ने उपायुक्त को अवगत करवाया कि प्रदेश सरकार द्वारा 16 जून 2021 को इस योजना के तहत नोटीफिकेशन जारी की गई है। इस योजना अंतर्गत आने वाले बच्चों को 18 साल की उम्र तक 2500 रूपये की वित्तीय सहायता हर महीने  तथा इसके अतिरिक्त 12 हजार रूपये की राशि हर साल महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा उनके खाते में जमा करवाई जायेगी। बच्चे के पढ़ाई संबधी कार्य को योजना के तहत शिक्षा विभाग द्वारा किया जायेगा। समाज कल्याण विभाग द्वारा सम्बन्धित बच्चे की शादी के समय 51 हजार रूपये की राशि दी जायेगी। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत महिला एवं बाल विकास विभाग, आंगनवाडी वर्कर, स्वास्थ्य विभाग द्वारा संयुक्त रूप से सर्वे किया गया है जिसके तहत तीन बच्चों को चिन्हित किया गया है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा वैरिफिकेशन का कार्य यानि कोरोना से सम्बन्धित की मृत्यु हुई है इसको किया जाना है। उन्होंने कहा कि इस कार्य के पूरा होने के बाद मुख्यालय को अवगत करवाने का काम किया जायेगा ताकि सम्बन्धित बच्चों को इस योजना का लाभ मिल सके। उपायुक्त ने सम्बन्धित अधिकारियों को कहा कि वे बेहतर समन्वय के साथ इस विषय को लेकर कार्य करें।
बैठक में सिविल सर्जन डा0 कुलदीप सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी बलजीत कौर, जिला शिक्षा अधिकारी सुरेश कुमार, जिला कल्याण अधिकारी शीश पाल महला, बाल कल्याण समिति की चेयरमैन रंजीता, बाल कल्याण समिति की सदस्य रेखा के साथ-साथ अन्य अधिकारी मौजूद रहे। डी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed