• Tue. Aug 9th, 2022

बुलन्दियों को छू रहा हैं अम्बाला छावनी–बन रहा पयर्टन का हब:-गृह मंत्री अनिल विज ।

Byadmin

Dec 19, 2021

-बुलन्दियों को छू रहा हैं अम्बाला छावनी–बन रहा पयर्टन का हब:-गृह मंत्री अनिल विज ।
-पटेल पार्क में सरदार पटेल झील का किया लोकार्पण व गजराज पार्क में बनी अम्बा झील का किया वर्चुअल लोकार्पण:-गृह मंत्री अनिल विज ने।
अम्बाला, 19 दिसम्बर:-

गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि अम्बाला छावनी पयर्टन की बुलन्दियों को छू रहा हैं व पयर्टन का हब बनता जा रहा हैं। पहले लोग घूमने के लिए बाहर जाते थे लेकिन अब अम्बाला छावनी में विकास के इतने कार्य हुए है कि लोग बाहर से घूमने के लिए यहां पर आया करेगें। यह अभिव्यक्ति उन्होनें छावनी बोर्ड के तहत सरदार पटेल पार्क में झील का लोकार्पण व यहीं पर वर्चुअल तरीके से गजराज पार्क में अम्बा झील का लोकार्पण करने के उपरान्त अपने सम्बोधन में कहीं। यहां पहुंचने पर छावनी बोर्ड के अध्यक्ष ब्रिगेडियर आरएस मथारू व सीईओ अनुज गोयल ने पुष्प गुच्छ देकर उनका अभिन्नदन किया।
गृह मंत्री अनिल विज ने इस मौके पर कहा कि अम्बाला  छावनी में पयर्टन की दृष्टि से विकास कार्यो को तेजी से करवाने का काम किया जा रहा हैं। अम्बाला पयर्टन की बुलदिंयों को छू रहा हैं और आज इसमें दो झीलों के लोकार्पण के प्रौजेक्ट भी जुड़ गए हैं। छावनी में विकास कार्यो को तेजी से करवाया जा रहा हैं और चल रही परियोजनाओं के पूरा होने के बाद मैं दावे से कह सकता हूं कि हरियाणा के साथ-साथ आस-पास के प्रदेशों के लोग यहां पर घूमने के लिए आया करेगें। उन्होनें कहा कि अम्बाला छावनी करवट लें रहा है। चारों और इसके सौन्दर्यकरण के और इसको निखारने के प्रयास चल रहे हैं। आज से पहले मैं छावनी बोर्ड में अटल झील का उद्घाटन करने आया था। यहां बहुत सुन्दर झील बनाई गई है और इसके पास ही छावनी बोर्ड झील परेड में बनाई गई है जो कि बहुत सुन्दर हैं। आज इस बहुत पुराने पार्क यानि सरदार पटेल पार्क में सरदार पटेल की जितनी गहरी सोच थी उसी के अनुरूप यहां पर गहरी झील बनाई गई हैं। जिसमें जल प्रवाह के  प्रबन्ध के साथ-साथ नौकायान की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। इसी प्रकार गजराज पार्क में अम्बा झील का भी वचुर्अल तरीके से इसका उद्घाटन कर जनता को समर्पित किया गया हैं।
उन्होनें कहा कि अम्बाला छावनी में और अन्य प्रौजेक्टों को भी बनाने का काम किया जा रहा हैं। सुभाष पार्क बनाया गया हैं। दूर दराज से लोग उस पार्क में आकर आनन्द लेते हैं। उसमें भी झील बनाई गई है, वहां पर भी नौकायान की भी व्यवस्था होगी। इसके साथ-साथ फुड कॉर्नर व अन्य व्यवस्थाएं भी वहां पर उपलब्ध करवाई गई हैं। इन्दिरा पार्क जोकि सरदार पटेल पार्क की तरह बहुत पुराना पार्क है, उसके नवीनीकरण का काम चल रहा हैं। अम्बाला छावनी एक महत्वपूर्ण छावनी है और इसका शुरू से ही महत्व रहा हैं। सन 1857 की आजादी की पहली लड़ाई की शुरूआत अम्बाला से हुई थी। मेरठ से 10 घंटे पहले अम्बाला में क्रांति का बिगुल बज गया था। इतिहास में से बाते किसी कारणवश हमें बताई नहीं गई और आजादी के बाद जिस पार्टी के हाथ में देश की बागडोर दी गई, उन्होंने लोगों को यहीं बताया कि आजादी की लड़ाई कांग्रेस ने लड़ी थी, लेकिन कांग्रेस का जन्म एओ हयुम ने किया था और कांग्रेस के जन्म से 28 साल पहले ही सन 1857 मे आजादी की पहली लड़ाई लड़ी गई थी। आजाद होने का जज्बा हिन्दुस्तानीयों में शुरू से ही था और कांग्रेस के जन्म होने से पहले ही था। उन्होंने कहा कि कुछ कारणों के चलते हमें 1857 से पहले ही आजादी मिल जाती, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। बड़ी वीरता से हमारे नौजवानों ने आजादी की लड़ाई लड़ी। बहादुरशाह जफर, झांसी की रानी, तात्या टोपे व हजारों-लाखों लोगों ने अपनी कुर्बानी देकर देश को आजादी दिलवाई।
गृह मंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि इतिहासकार बताते थे कि हमारे सैनिकों को पेड़ से बांधकर गोली मार दी गई थी। मेरे संज्ञान में जब एक इतिहासकार ने इस बारे बताया और इससे जुड़ी बुकलेट दिखाई तो विधानसभा में मैंने आवाज उठानी शुरू कर दी थी। आजादी से जुड़े अनसख वीर शहीदों के लिए स्मारक बने, जिसके लिए मैंने आवाज उठानी शुरू करी। वर्ष 2000 में मैंने अपनी बात रखनी शुरू की। कांग्रेस राज में भी मैंने इस बात को बड़ी मजबूती से रखा। कांग्रेस को भी सोचना पड़ा कि स्मारक बनाया जाए लेकिन उन्होंने केवल घोषणाएं ही करी लेकिन स्मारक नहीं बनाया। हमारी सरकार आते ही मैंने इस प्रोजैक्ट को मंजूरी दिलवाई। आज अम्बाला छावनी जीटी रोड के नजदीक 22 एकड़ में 350 करोड़ रूपए की लागत से अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का शहीदी स्मारक बनाने का काम किया जा रहा हैं और इस स्मारक में आजादी की पहली लड़ाई के साथ-साथ सम्पूर्ण जानकारी का वर्णन होगा। स्मारक से सम्बधिंत सिविल वर्क का कार्य हो चूका है और आर्ट वर्क के लिए टेंडर लगा दिए गए हैं। मैंने रक्षा मंत्री को भी पत्र लिखा है कि आजादी की लड़ाई से सम्बध्ंिात आर्मी के पास यदि कुछ हथियार या अन्य कोई वस्तु है तो उसे उपलब्ध करवा दें, ताकि उस वस्तु को स्मारक में रखा जा सकें।
बॉक्स:- अम्बाला छावनी जीटी रोड के नजदीक बनकर तैयार होगा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का शहीदी स्मारक।
अन्तर्राष्ट्रीय शहीदी स्मारक को देश के बेहतरीन आर्किटेक्ट द्वारा बनाने का काम किया जा रहा हैं और यहां पर भी बहुत सुन्दर बड़ी झील बनाई गई हैं और उसमें भी नौकायान की व्यवस्था उपलब्ध होगी। अन्तर्राष्ट्रीय शहीदी स्मारक के नजदीक ही साईस म्यूजियम बनाने का काम भी किया जा रहा है और इस साईस म्यूसियम में साईस से जुड़े सभी मॉडलस होगें, साईस से जुड़े विद्यार्थियों को इसका काफी लाभ मिलेगा और साईंस के सिद्धांत को समझने में काफी सार्थक होगें। गृह मंत्री ने इस मौके पर यह भी कहा कि व्यापार की दृष्टि से गांधी मैदान के नजदीक ‘अटल बैंक स्क्वेयर एवं शॉपिंग कॅाम्पलेक्स’ तैयार हो रहा है। यहां पर जो बिल्डिंग बन रही है, वह हरियाणा की एक यूनीक बिल्डिंग होगी। हरियाणा में इस तरह की कोई अन्य बिल्डिंग नही है। इसके साथ-साथ सदर बाजार व निकलसन बाजार का सौन्दर्यकरण किया जा रहा हैं।
बॉक्स:-जल्द बनेगी अम्बाला की पर्यटन की डायरेक्टरी।
गृह मंत्री ने इस मौके पर यह भी कहा कि पयर्टन के दृष्टिगत जल्द ही अम्बाला की डॉयरेक्टरी बनाने का काम किया जाएगा। जिसमें अम्बाला में पयर्टन की दृष्टि से क्या-क्या स्थान देखने को हैं, या कौन से प्राचीन स्थान है उन सभी का वर्णन होगा, डॉयरेक्टरी को ऑन लाईन भी जोड़ा जाएगा ताकि देश-विदेश में बैठे लोग भी देख सके कि अम्बाला छावनी में देखने के लिए क्या-क्या चीजें है और वह इन्हें देखकर यहां घूमने आएगें। उन्होनेंं छावनी बोर्ड में छावनी परिषद् के तहत ब्रिगेडियर व उनकी टीम के सदस्यों के साथ छावनी बोर्ड को सुन्दर एवं विकसित बनाने की दिशा में जो कार्य किए जा रहे हैं, उनकी जमकर सराहना भी की।
बॉक्स:- सीईओ अनुज गोयल ने दोनों झीलों के लोकार्पण की दी विस्तृत जानकारी।
इस अवसर पर छावनी बोर्ड के सीईओ अनुज गोयल ने गृह मंत्री का स्वागत करते हुए दोनों पार्को में झीलों के लोकार्पण से सम्बध्ंिात किए गए कार्यो बारे विस्तार से जानकारी  दी। उन्होनें बताया कि आजादी के 75वें अमृत महोत्सव के अन्तर्गत दोनों पार्कों में झीलों का लोकार्पण किया गया हैं। उन्होनें बताया कि 13 अगस्त 2021 को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सरदार पटेल झील के पुर्नउत्थान का शुभारम्भ किया था और चार महीने के अन्तराल के तहत ही सरदार पटेल पार्क में झील का लोकार्पण के कार्य को करते हुए यहां पर लाईट, बैंच, फुटपाथ, पेड़-पौधों के साथ अन्य व्यवस्थाओं को करवाते हुए यहां की सुन्दरता को और भव्य बनाने का काम किया गया हैं।
बॉक्स:- कोरोना वारियरस को किया सम्मानित।
इस अवसर पर छावनी बोर्ड के अध्यक्ष ब्रिगेडियर आरएस मथारू व सीईओ अनुज गोयल ने मुख्य अतिथि को स्मृति चिन्ह देकर उनका स्वागत किया। इस मौके पर गृह मंत्री अनिल विज ने कोरोना वारियरस डॉक्टर विशाल गुप्ता, डॉ0 रविन्द्र कपूर, डॉ0 जितेन्द्र अग्रवाल को भी सम्मानित करने का काम किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.