• Tue. Jan 25th, 2022

प्रदेश स्तरीय 5 दिवसीय बाल संस्कार शिविर के समापन समारोह में भावुक हुए बच्चे

Byadmin

Jun 14, 2021


अम्बाला 14 जून :-

भारत विकास परिषद हरियाणा उत्तर द्वारा 9 जून से 13 जून तक चल रहे प्रांतीय बाल संस्कार शिविर का रविवार को  समापन हुआ। इस 5 दिवसीय शिविर में बच्चों के लिए विभिन्न प्रकार के शैक्षणिक व मनोरंजक फैशन रखे गए। जहां इस शिविर में शब्दों की ताकत, mental and emotional well being, यातायात सुरक्षा क्यों और कैसे, खेल खेल में विज्ञान सीखे, गुड टच बैड टच आदि बौद्धिक विषयों को लिया गया वही बच्चों की रुचि को ध्यान में रखते हुए म्यूजिक पेंटिंग कुकिंग विदाउट फायर रंगमंच, एक्टिंग जैसे विषयों पर भी विशेषज्ञों ने बच्चों को मार्गदर्शन दिया व बच्चों को संस्कार प्रद बातें भी सिखाई गई जैसे प्रातः काल योगा से पूर्व बच्चों को प्रार्थना व मंत्रोच्चारण करवाया जाता था उसके पश्चात एरोबिक्स योगा फॉर सेल्फ डिफेंस भी बच्चों को सिखाया गया। समय-समय पर बच्चों को हमारे भगवान संतो और क्रांतिकारियों के प्रेरक प्रसंग व कहानियां भी सुनाई गई।

इस प्रांतीय शिविर में अंबाला, पंचकूला, शहजादपुर, नारायणगढ़, शाहबाद, कुरुक्षेत्र, करनाल, घरौंडा, लाडवा, पानीपत, यमुनानगर के साथ-साथ पंजाब, दिल्ली व अन्य राज्यो से भी 150 से अधिक बच्चों ने भाग लिया। भावीप के प्रांतीय अध्यक्ष दीपक राय आनंद ने इस शिविर में सहयोग के लिए आर्मी पब्लिक स्कूल के प्रिंसिपल डॉक्टर परमजीत कोहली व शिक्षकों का विशेष रूप से धन्यवाद किया । समापन सत्र में प्रांतीय महासचिव धीरज भाटिया ने इस शिविर के सफल आयोजन के लिए प्रांतीय महिला एवं बाल कल्याण संयोजिका सुनीता मंगला व सह संयोजिका डॉक्टर अंजली भारती व मीनू चावला के साथ प्रांतीय संयोजक बाल संस्कार विवेक सबलोक को शुभकामनाएं व बधाई दी। प्रांतीय कोषाध्यक्ष अरविंद सिंघल ने शिविर में भाग लेने वाले बच्चों को उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। भारत विकास परिषद के 5 सूत्र सेवा, संपर्क, संयोग, संस्कार, समर्पण में से यह शिविर संस्कार सूत्र को लेकर एक अहम कड़ी साबित हुआ। समापन सत्र में कई बच्चों ने इस शिविर को लेकर अपने अनुभव साझा किए और बताया कि उन्होंने इस शिविर से बहुत कुछ सीखा जिससे वह अपने जीवन में उतारने का प्रयास करेंगे। बच्चों के अभिभावकों ने भी हरियाणा उत्तर प्रांत द्वारा आयोजित इस शिविर के आयोजन के लिए आयोजकों को बधाई दी व आग्रह किया कि समय-समय पर ऐसे संस्कार प्रदेश शिविर लगाते रहना चाहिए। शिविर के आज समापन सत्र में बच्चे और बड़े  भावुक हो गए, सभी  का आपस मे ऐसा जुड़ाव हो गया कि सभी को सुखद अनुभूति हुई और सभी की आंखे भर आईं। 5 दिन में चार सत्रों में कुल 25 सत्र में 18 विशेषज्ञ आए और 5 दिन में लगभग 23 घंटे तक 160 बच्चे आपस में जुड़े रहे। समापन पर बच्चों ने डांस ,कविता और अपने सुखद अनुभव लिखकर वीडियो के माध्यम से और ऑडियो के माध्यम से भेजें। बहुत से बच्चों के अभिभावकों ने भी परिषद का धन्यवाद किया। आखिर दिन के सत्र में सुबह एरोबिक्स शिवानी पराशर चंडीगढ़ ने अपने आप को फिट कैसे रखना है ये बताया और योगा में एकता डांग  ने बहुत सुंदर तरीके से योगा सिखाया और हंसने की विभिन्न विधियां सिखाई जिसका बच्चों ने बहुत लाभ उठाया 10:00 बजे के सेशन में डॉ सौरभ शर्मा द्वारा साइंस बेस्ड लर्निंग में साइंस को हम अपने जीवन में कैसे अपना सकते हैं यह बताया। 11:30 बजे के सत्र में अंबाला से ही मुंबई गए युवा अभिनेता निशांत बजाज ने बाताया जीवन में लक्ष्य का होना क्यों जरूरी है। चाहे हमें डॉक्टर, इंजीनियर, प्रोफेशनल या एक्टर कुछ भी बनना हो सफलता का एक ही मंत्र है मेहनत। कुछ भी करें मेहनत और लगन के बिना सफलता संभव नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed