• Fri. Oct 22nd, 2021

प्रदेश के हर जिले में कम से कम एक बायोगैस प्लांट स्थापित करने पर कार्य किया जा रहा है।

Byadmin

Oct 13, 2020

चंडीगढ़, 13 अक्तूबर- हरियाणा के मुख्य सचिव श्री विजय वर्धन ने गोबरधन योजना के तहत बायोगैस प्लांट लगाने के लिए निजी वित्त संस्थानों से ऋण मुहैया करवाने के अलावा केंद्र सरकार से अतिरिक्त वित्तीय सहायता प्रदान करने का आग्रह किया है।
        श्री विजय वर्धन आज यहां वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जल शक्ति मंत्रालय, भारत सरकार के पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सचिव श्री यू. पी. सिंह की अध्यक्षता में गोबरधन योजना के कार्यान्वयन के संबंध में हुई बैठक में हिस्सा ले रहे थे। बैठक में विभिन्न राज्यों के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल हुए।

        श्री विजय वर्धन ने गोबरधन योजना के कार्यान्वयन की जानकारी देते हुए बताया कि हिसार जिले के नया गांव में बायोगैस प्लांट संचालित किया जा रहा है, जिससे 150 से अधिक घरों को पाइपलाइन के माध्यम से गैस की आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस प्रयोग से यह सामने आया कि कम्प्रैस्ड गैस के मुकाबले पाइपलाइन के माध्यम से गैस की आपूर्ति ज्यादा बेहतर है और इसकी लागत एलपीजी गैस सिलेंडर की तुलना में एक तिहाई है।
        उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के निर्देशानुसार प्रदेश के हर जिले में कम से कम एक बायोगैस प्लांट स्थापित करने पर कार्य किया जा रहा है। सामुदायिक बायोगैस प्लांट मॉडल निजी प्लांट के तुलना में अधिक सफल हैं। इसलिए केंद्र सरकार से अनुरोध है कि सामुदायिक बायोगैस प्लांट अवसरंचना के लिए निजी वित्त संस्थानों से ऋण मुहैया करवाने के अलावा सरकार की ओर से वित्तीय सहायता प्रदान की जाए।

        बैठक में योजना के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया गया कि इस योजना के तहत गोबर और खेतों के बेकार या इस्तेमाल में न आने वाले उत्पादों को कम्पोस्ट, बायो-गैस और बायो-सीएनजी में बदल दिया जाता है। इस गोबरधन योजना का उद्देश्य गांवों को स्वच्छ बनाना और पशुओं के गोबर और खेतों के ठोस अपशिष्ट पर्दाथों को कंपोस्ट और बायो-गैस में परिवर्तित कर, उससे धन और ऊर्जा का उत्पादन करना है। इस योजना से एक ओर जहां सफाई सुनिश्चित होगी वहीं दूसरी ओर किसानों को आय दोगुनी करने में भी मदद मिलेगी।
        बैठक में विकास एवं पंचायत विभाग के प्रधान सचिव श्री सुधीर राजपाल उपस्थित रहे। इसके अलावा, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री टी. सी. गुप्ता, पशुपालन और डेयरी विभाग के प्रधान सचिव श्री राजा शेखर वुंडरू सहित अन्य विभागों के अधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *