• Wed. Jun 29th, 2022

परिवार पहचान पत्र विषय को लेकर उपायुक्त ने ली समीक्षा बैठक-

Byadmin

Dec 24, 2020

-कार्य में तेजी लाने के दिए निर्देश–जनसाधरण से की अपील शीघ्र अति शीघ्र बनवाएं अपने-अपने परिवार का परिवार पहचान पत्र:-डीसी अशोक कुमार।
अम्बाला, 24 दिसम्बर:
– उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने वीरवार अपने कार्यालय में परिवार पहचान पत्र विषय के तहत समीक्षा बैठक लेते हुए इस कार्य में तेजी लाने के लिये सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने समीक्षा बैठक में अभी तक इस विषय को लेकर किये गये कार्यों के बारे में भी विस्तार से जानकारी हासिल की।
समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने कहा कि परिवार पहचान पत्र हरियाणा सरकार की एक प्रमुख योजना है। परिवार पहचान पत्र आपके परिवार को वशिष्ठ पहचान प्रदान करेगा । जिले के सभी परिवारों को अपना पहचान पत्र बनवाना अनिवार्य है। उन्होंने आम जन मानस को अवगत करवाया कि भविष्य में सरकार द्वारा चलाई जा रही जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ परिवार पहचान पत्र के माध्यम से जनता तक पहुंचाया जायेगा। उन्होंने यह भी बताया कि सरकार की जो योजनाएं जैसे पैंशन, स्कोलरशिप, राशन इत्यादि जो योजनाएं है वे सभी इससे  जुड़ी हुई हैं, इसलिए परिवार पहचान बनवाएं, यदि परिवार पहचान पत्र नहीं बना होगा तो सम्बन्धित व्यक्ति को योजनाओं का लाभ नहीं मिल सकेगा। उन्होंने आम जनमानस से भी अपील की कि वे स्वयं परिवार पहचान पत्र को बनवाएं और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें। परिवार पहचान पत्र के माध्यम से सम्बन्धित परिवार की  पहचान सुनिश्चित हो सकेगी और भविष्य में सरकारी योजनाओं का लाभ उन्हें निर्धारित मापदंडों के तहत मिल सकेगा।
उन्होंने बैठक के दौरान यह भी कहा कि पीपीपी हरियाणा में प्रत्येक परिवार की पहचान करता है और परिवार के बुनियादी डाटा को डिजीटल प्रारूप में परिवार की सहमति से प्रदान करता है। प्रत्येक परिवार को 8 अंको का परिवार आईडी प्रदान किया जा रहा है। फैमिली डाटा के आटोमैटिक अपडेशन को सुनिश्चित करने के लिए फैमिली आईडी को बर्थ और डैथ व मैरिज रिकार्ड से जोड़ा जायेगा। उन्होंने बताया कि वृद्धावस्था, विधवा और दिव्यांग पैंशन के लिए अब परिवार पहचान पत्र का होना अनिवार्य कर दिया गया है। इसके अलावा फैमिली आईडी छात्रवृति, सबसीडी और अन्य पैंशन जैसी सभी मौजूदा स्वतंत्र योजनाओं को जोड़ेगी ताकि स्थिरता और विश्वसनीयता सुनिश्चित हो सके तथा साथ ही विभिन्न योजनाओं, सबसीडी और पैंशन के लाभार्थियों के स्वत: चयन को सक्षम किया जा सके।  इस योजना के क्रियान्वित के लिये हमको मिलकर बेहतर समन्वय के साथ कार्य करना है ताकि परिवार पहचान पत्र बनाने का कार्य शत-प्रतिशत किया जा सके और निर्धारित मापदंडो के तहत लोगों को योजना का लाभ मिल सके।
उन्होंने जिला के सभी नागरिकों से अनुरोध किया है कि अपने परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) में कोई अपडेट व नया परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) बनवाने के लिए अपने नजदीकी सीएससी में जाकर निशुल्क करवाएं। आईडी बनाने एवं अपडेशन उपरांत जो फार्म दिया जाता है उस पर अपने हस्ताक्षर अवश्यक करें व सीएससी, वीएलई को प्रस्तुत करें। उन्होंने यह भी कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में इस विषय को लेकर यदि किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करनी है तो वे सरपंच,पंचायत सदस्य व आंगनवाडी वर्कर से प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.