• Sat. Oct 23rd, 2021

पराली को किसान बोझ न समझें, पराली आय का साधन है:-सचिन गुप्ता एसडीएम अम्बाला

Byadmin

Sep 18, 2020

एसडीएम अम्बाला शहर सचिन गुप्ता ने कहा कि नारायणगढ़ शुगर मिल में अम्बाला जिला के किसानों की पराली प्राथमिकता के आधार पर खरीदने का काम किया जायेगा, 1800 रूपये प्रति टन के हिसाब से किसान पराली को बेचकर अपनी आमदनी को बढ़ा सकते हैं।
एसडीएम सचिन गुप्ता ने कहा कि किसानों को इस विषय पर जागरूक करने बारे कृषि विभाग, पंचायती राज विभाग के अधिकारियों के साथ-साथ अन्य सम्बन्धित अधिकारियों की डयूटी लगाई गई है कि वह किसानों को पराली न जलाने बारे जागरूक करें। उन्होंने कहा कि पराली जलाने से जहां प्रदूषण होता है वहीं मानव जीवन पर भी इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। खेतों में पड़े धान के अवशेष जलने के कारण भूमि की उपजाऊ शक्ति कम हो जाती है वहीं भूमि में जो फसल से सम्बन्धित मित्र जीवाणु होते हैं वह भी खत्म हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि पर्यावरण को साफ-सुथरा एवं स्वच्छ बनाये रखने के लिए हमें पराली को जलाना नहीं है बल्कि उसे आय का साधन समझते हुए सही तरीके से उसका निस्तारण भी करना है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल का विजन है कि किसानों की आय को दोगुना किया जाए, समय-समय पर किसानों के लिए अनेकों महत्वकांक्षी योजनाओं को लागू करने का काम किया जाता है वहीं उसे धरातल पर भी लागू किया जाता है। उन्होंने किसानों से अपील की कि वह स्वयं पराली के इस विषय को लेकर स्वयं जागरूक हों, वहीं दूसरे किसानों को भी इस बारे जागरूक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *