• Mon. Jan 17th, 2022

देश को आजाद करवाने के लिए सभी जाति धर्म के लोगों ने अपने प्राणों की कुर्बानी दी-चित्रा सरवारा

Byadmin

Aug 16, 2021

 
एचडीएफ युवा नेता अतुल महाजन ने ध्वजारोहण कर राष्ट्रीय ध्वज को दी सलामी
अम्बाला छावनी -15 अगस्त के उपलक्ष्य में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी 75 वा स्वतंत्रता दिवस बड़ी धूम-धाम से अनाज मंडी प्रांगण में मनाया गया।स्वतंत्रता दिवस से पहले सुबह प्रभातफेरी का आयोजन भी किया गया जिसमें लोगो का उत्साह देखने योग्य था। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के तोर पर प्रसिद समाजसेवी व एच डी एफ के युवा नेता अतुल महाजन ने तिरंगा झंडे को फहराया व सलामी दी इस अवसर पर स्कूल के बच्चो द्वारा रंगारंग कार्यक्रम पेश किये गये। जिनको चित्रा सरवारा द्वारा समृति चिन्ह भी भेट किया गया।अम्बाला छावनी के काफी गणमान्य लोगों ने इस उपलक्ष्य में बढ़ चढ़कर भाग लिया और अनेको स्कूलों के बच्चों ने देश भक्ति के गीत गाकर अपनी प्रतिभा दिखाई इस अवसर पर अतुल महाजन व स्कूली बच्चो को हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट की नेत्री चित्रा सरवारा द्वारा उन्हें समृति चिन्ह देकर सम्मानित भी किया गया उसके उपरांत सभी को मिठाईयां भी बांटी गई।  अतुल महाजन ने बोलते हुए कहा की 15 अगस्‍त 1947,भारत के इतिहास का ये वो सबसे खूबसूरत दिन है जब भारत को ब्रिटिश शासन के 200 सालों के राज से आजादी मिली थी। दरअसल में ये वो दिन हैं जो हमारे फ़्रीडम फाइटर्स के त्याग और तपस्या की याद दिलाता है। इसी दिन भारत ने दिल्ली में लाल किले के लाहौरी गेट के ऊपर भारतीय राष्ट्रीय ध्वज फहराया था. बता दें कि इस दिन काफी कुछ ऐसा हुआ था, जो इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गया।15 अगस्त 1947 को बिस्मिल्लाह खां ने शहनाई बजाकर आजादी की पहली सुबह का शानदार स्वागत किया था।भारत आज स्‍वतंत्रता की 75वीं सालगिरह मनाने की तैयारियों में जुटा है।हर तरफ जश्न का माहौल है. इस आधुनिक युग में हर कोई अपने – अपने तरीके से जश्न मनाने की पूरी तैयारी कर रहा है।लालकिले पर हर साल जश्न में शामिल होने के लिए हजारों की भीड़ जुटती है। लेकिन आज से ठीक 75 साल पहले जब भारत आधुनिकता के दौर से कोसो दूर था उस वक्त भी दिल्ली के लालकिले पर जश्न में शामिल होने के लिए हजारों की भीड़ जुटी थी।चित्रा सरवारा ने कहा15 अगस्त 1947, भारत के इतिहास का सबसे खूबसूरत दिन। इसी दिन भारत को अंग्रेजों के शासन से पूरी तरह से आजादी मिल गई थी। देश में हर तरफ जश्न का माहौल था।अब सब खुली हवा में बिना किसी डर के सांस ले सकते है और सविधान के तहत अपने अधिकारों के अनुसार तरक्की की और अग्रसर है उन्होंने कहा कि भारत देश को आजाद कराने के लिए लगभग 12 लाखों लोगों ने कुर्बानी दी जिसमें सभी धर्म जाति के लोगों ने अपने प्राणों की आहुति दी शहीदे आजम भगत सिंह राजगुरु व सुखदेव ने हंसते-हंसते फांसी के फंदे को चूमा और देश को आजाद कराने के लिए अपना सब कुछ न्यौछावर कर दिया और देश के दुश्मनो को भारत से भगाया ऐसे वीर शहीदों को हम नमन करते हैं उन वीरों की कुर्बानी का हिंदुस्तान स्दैव ऋणी रहेगा इस अवसर पर उन्होंने कहा की शहीदों की चिताओं पर हर बरस लगेंगे मेले वतन पर मिटने वालों का बाकी यही निशां होगा इस अवसर पर मुख्य रूप से हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट के सभी गणमान्य व्यक्ति मौजुद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *