• Sun. Nov 28th, 2021

डी.सी. ने अपने कार्यालय में बुलाई अधिकारियों की बैठक–कोरोना के संक्रमण को रोकने की तैयारियों की करी समीक्षा और दिए आगामी निर्देश।

Byadmin

Jul 24, 2020

डयूटी पर तैनात स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कोरोना पॉजिटिव लोगों की रिपोर्ट सम्बन्धित एसएमओ और सम्बन्धित एसडीएम को भी देना करें सुनिश्चित–सभी उपमंडल अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में कोविड केयर सेंटर बनाना करें चिन्हित:-डी.सी.।
–डी.सी. ने अपने कार्यालय में बुलाई अधिकारियों की बैठक–कोरोना के संक्रमण को रोकने की तैयारियों की करी समीक्षा और दिए आगामी निर्देश।
अम्बाला, 24 जुलाई:-
 कोरोना के संक्रमण को रोकना हम सबकी सांझी जिम्मेदारी है। लैब से कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट आने के बाद रिपोर्ट सम्बन्धित एसडीएम के साथ-साथ सम्बन्धित एसएमओ व पीएमओ को भी देना भी जरूरी है ताकि कोरोना के संक्रमण को रोकने व बचाव के दृष्टिïगत तेजी से  चिकित्सा कार्रवाई अमल में लाई जा सके। ये निर्देश डी.सी. अशोक कुमार शर्मा ने शुक्रवार को अपने कार्यालय में कोविड-19 के तहत आयोजित अधिकारियों की एक समीक्षा बैठक में दिए।
उपायुक्त ने कहा कि कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए डाक्टरों द्वारा अग्रिम मोर्चे पर काम किया जा रहा है, वह काफी सराहनीय हैं। इसके लिए वे बधाई के पात्र हैं। कोरोना संक्रमण के अचानक बढऩे के कारण हमें और सचेत व सावधान होकर कार्य करने की आवश्यकता है। इस विषय को हमें बहुत ही गंभीरता से लेकर काम करना है। उन्होंने चारों एसडीएम को निर्देश दिये कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में कोविड-19 के मद्देनजर कोविड केयर सैंटर को चिन्हित करना सुनिश्चित करें और स्वयं वहां का जायजा लेकर तमाम व्यवस्थाओं की जानकारी लें।
उन्होंने कहा कि आवश्यकता अनुसार इन सैंटरों में संक्रमित मरीजों का ईलाज किया जा सके। यह व्यवस्था भी की जानी अति आवश्यक है। पंचायती राज संस्थाओं के पदाधिकारियों और प्रतिनिधियों को भी सम्बन्धित विषय को लेकर जागरूक किया जाना जरूरी है। बैठक में उपस्थित डीडीपीओ को निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि ग्रामीण परिवेश में लोगों को अधिक से अधिक जागरूक करने के लिए सरपंचों को भी जागरूक करें ताकि वे अपने-अपने क्षेत्र में लोगों को जागरूक कर सकें। शुरूआती दौर में गांवों में ठीकरी पहरा लगाया जाना काफी कारगर सिद्ध हुआ है। उन्होंने सीएमओ को यह निर्देश दिये कि कोरोना की चैन को तोडऩे के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा जो सैंपलिंग की गई है वह काफी बेहतर सिद्ध हुई है। हमें संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए इसी प्रकार कार्य करना है। उन्होंने यह भी कहा कि डाक्टर अपने प्रोटोकोल के अनुसार संक्रमित मरीज को अस्पताल व कोविड केयर सैंटर में भेजे। साथ ही साथ संक्रमित मरीज को घर में ही आईसोलेट करना है वह भी तमाम निर्देशों को ध्यान में रखकर करें।
उपायुक्त ने कहा कि संक्रमित मरीज जब ईलाज करवाकर जाता है तो उसके लिए स्वास्थ्य विभाग की एक टीम भी गठित करें ताकि तमाम गतिविधियों पर नजर रखी जा सके। उपायुक्त ने सभी एसडीएम को यह भी कहा कि जिन क्षेत्रों में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती है तो वे उस क्षेत्र में गतिविधियों को बंद कर सकते हैं और संक्रमण का प्रभाव कम होने पर तुरंत खोल भी सकते हैं। उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे मास्क न पहनने वालों पर नकेल कसने के कार्य में तेजी लाएं। विशेषकर दुकानों पर (कपड़ा मार्किट) इत्यादि क्षेत्रों में मास्क न पहनने वालों पर सख्ती लाएं क्योंकि इस क्षेत्र में कोरोना संक्रमण का फैलाव एकदम हुआ था। प्रशासन का मकसद चालान काटना नहीं है बल्कि लोगों को जागरूक करते हुए सचेत करना है। उन्होंने कहा कि यदि फिर भी नियमों की अवहेलना होती है तो सम्बन्धित दुकानों को सील करने का कार्य किया जाए। प्रशासन द्वारा लोगों के हित के लिए समय-समय फैसला लिया जाना चाहिए।
इस मौके पर पुलिस अधीक्षक अभिषेक जोरवाल, एडीसी जगदीप ढांड़ा, एसडीएम गौरी मिड्डा, एसडीएम सुभाष चंद्र सिहाग, एसडीएम अदिति, एसडीएम गिरीश कुमार, नगराधीश कपिल शर्मा, सिविल सर्जन डा0 कुलदीप सिंह, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, डिप्टी सीएमओ डा0 संजीव सिंगला, डा0 संगीता गोयल, डा0 राजेन्द्र राय, डा0 सुखप्रीत, सहित अन्य सम्बन्धित विभागीय अधिकारीगण मौजूद रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed