• Wed. Dec 1st, 2021

डीसी ने बेटी बचाओं, बेटी पढ़ाओ, वन स्टोप सैन्टर, सक्षम हरियाणा विषयों को लेकर ली बैठक

Byadmin

Nov 17, 2020


अम्बाला, 17 नवम्बर:- उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने आज अपने कार्यालय में बेटी बचाओ बेटी पढाओं, वन स्टोप सैन्टर, सक्षम हरियाणा, स्कूलों को खोलें जाने सम्बधी विषयों को लेकर एक बैठक ली और सभी विषयों पर तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होनें कहा कि आगामी बैठक में सभी विषयों को लेकर समीक्षा की जाएगी, कि उपरोक्त विषयों को लेकर किस विभाग द्वारा क्या-क्या कार्रवाई की गई हंै।
उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि कोविड-19 के दृष्टिगत बेटी बचाओं बेटी पढाओं अभियान में कुछ कमी आई है। हमें इस कमी को मिलकर दूर करना हैं। उन्होंने कहा कि इस कार्य के लिए महिला एवं बाल विकास अधिकारी को आंगनवाड़ी व आशा वर्कर के माध्यम से सूचना तंत्र को मजबूत करते हुए धरातल पर काम करना हैं। उन्होनें कहा कि आंगनवाड़ी वर्कर व आशा वर्कर को पूरे गांव की वास्तविक स्थित का पता होता है। हर घर से वह वाकिफ होती है। उन्होनें कहा कि आईज एक्टीविटी व डिजीटल एक्टीविटी के माध्यम से हमें कन्या भ्रूण हत्या को रोकने का करना है। लोगों को इस विषय को लेकर जागरूक करना है। पिछले साल लिंगानुपात में अम्बाला जिले ने पूरे प्रदेश में बेहतर रैंकिग हासिल की थी। इसी के तहत हमें दुबारा से इस कार्य को करते हुए अम्बाला जिले में लिंगानुपात में और सुधार करते हुए बेहतर स्थान हासिल करना हैं।
उन्होनें स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को बेहतर समन्व्य के साथ समय-समय पर रेड करने के निर्देश दिए ताकि कन्या भ्रूण हत्या को रोका जा सकें। बैठक का मुख्य उद्देश्य यही हैं कि हमें सूचना तंत्र को मजबूत करते हुए धरातल पर काम करना हैं। उपायुक्त ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को यह भी निर्देश दिए कि जिन गांवों में लिंगानुपात में सुधार की आवश्यकता है और जिन गांवों ने इस विषय को लेकर बेहतर कार्य किए हैं उसके तहत उपायुक्त कार्यालय, एडीएम कार्यालय, पंचायत भवन व अन्य स्थानों पर एलईडी के माध्यम से इसे प्रदर्शित करें, ताकि लोगों में जागरूकता आ सकें। उपायुक्त ने इस मौके पर यह भी कहा कि नशे जैसी कुरीती को रोकने में भी हमें कार्य करना हैं। आशा वर्कर, आंगनवाड़ी, ग्राम सचिव व अन्य सम्बध्ंिात को आगे आकर इस कार्य में भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभानी हैं।
उपायुक्त ने बैठक में यह भी बताया कि घरेलू हिंसा व अन्य किसी कारण से प्रताडि़त महिलाओं के लिए जिले में वन स्टोप सैन्टर भी स्थापित किया गया हैं, जिसमें महिलाओं के रहने के साथ-साथ उनकी कांउसलिंग की व्यवस्था भी की गई हैं। डीपीओ ने इस विषय को लेकर कुछ समस्याएं उपायुक्त के समक्ष रखी। उपायुक्त ने नगराधीश को सभी समस्याओं का निवारण करने के निर्देश भी दिए। बैठक में सक्षम हरियाणा व स्कूलों को खोलें जाने के विषयों को लेकर शिक्षा विभाग की जो गाईडलाईन भी आई है, उस बारे भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि सक्षम हरियाणा को लेकर बेहतर कार्य किए गए हैं। इसी के तहत दुबारा कार्य करना हैं। उन्होनें कहा कि स्कूलों को खोलें जाने के सम्बन्ध में अभिभावकों के साथ-साथ अध्यापकों को जागरूक करने की बेहद आवश्यकता हैं। अध्यापकों द्वारा ऑनलाईन के माध्यम से बच्चों को घर से ही पढ़ाया जा रहा हैं। उन्होनें कहा कि कोरोना महामारी के चलते हमें सभी सावधानियों की पालना करते हुए विद्यार्थियों को हर विषय में बेहतर गुणवत्ता के साथ तैयार करना हैं। उन्होनें जिलों के चारों एसडीएम को कहा कि वे समय-समय पर स्कूलों का भी निरीक्षण करें। स्कूलों सम्बधी यदि कोई समस्या है तो उसका भी समाधान करें।
इस मौके पर एसडीएम सचिन गुप्ता, एसडीएम ममता शर्मा, एसडीएम डॉ वैशाली शर्मा, एसडीएम गिरीश चावला, नगराधीश अशोक कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी बलजीत कौर, बीडीपीओ डॉ दलजीत सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी सुरेश कुमार, डॉ0 राजेन्द्र राय, सीएमजीजीए उत्सव शाह सहित सम्बधिंत विभागों के अधिकारीगण मौजूद रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed