• Sun. Oct 24th, 2021

डीएसटी योजना के तहत आईटीआई के 5500 से अधिक प्रशिक्षुओं को लाभान्वित किया जाएगा।

Byadmin

Sep 17, 2020

चण्डीगढ, 17 सितंबर- हरियाणा सरकार औद्यौगिक प्रशिक्षण संस्थानों के छात्रों को प्रशिक्षित करने के लिए उद्योगों के साथ जोडऩे की दिशा में कार्य कर रही है। इसी कड़ी में कौशल विकास और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग द्वारा 60 राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) के छात्रों को प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए 287 ट्रेड इकाइयों में 41 विभिन्न ट्रेडों के लिए 160 उद्योगों के साथ दोहरी प्रणाली के प्रशिक्षण (डीएसटी)के एमओयू पर हस्ताक्षर किये हैं ताकि वे उद्योग के कुशल कर्मचारियों की आवश्यकता को पूरा कर सकें। इस डीएसटी योजना के तहत आईटीआई के 5500 से अधिक प्रशिक्षुओं को लाभान्वित किया जाएगा।

        इस संबंध में जानकारी देते हुए कौशल विकास और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री देवेन्द्र सिंह ने बताया कि पिछले साल, राज्य कीे 27 आईटीआई में दोहरी प्रणाली का प्रशिक्षण (डीएसटी) शुरू किया था, जिसमें 71 व्यापार इकाइयों को उद्योग लिंकेज को सक्षम करने और नवीनतम मशीनरी और प्रौद्योगिकियों पर छात्रों को अनुभव प्रदान करने के लिए शुरू किया गया था। इस प्रणाली के तहत वर्ष 2019-20 के दौरान 1300 से अधिक बच्चे लाभान्वित हुए । उन्होंने बताया कि  डीएसटी योजना के तहत 422 डीएसटी प्रशिक्षुओं ने अपना प्रशिक्षण पूरा कर लिया है और इन में से 230 को जॉब ऑफर मिल चुकी है।

दोहरी प्रणाली का प्रशिक्षण, आईटीआई के माध्यम से सैद्धांतिक प्रशिक्षण और उद्योग के माध्यम से व्यावहारिक प्रशिक्षण का एकीकरण है। इस प्रणाली के तहत  प्रशिक्षणार्थियों को  6 से 12 महीने का प्रशिक्षण कार्यस्थल पर (ऑन जॉब ट्रेनिंग) देने की व्यवस्था है। इससे प्रशिक्षुओं को नौकरी मिलने की संभावना कई गुना बढ़ जाती है। उन्होंने बताया कि यह विभिन्न उद्योग संघों की लंबे समय से मांग थी। प्रशिक्षु के सीखने के परिणामों और उद्योग की आवश्यकताओं के बीच दूरी को कम करने के लिए, विभाग ने डीएसटी योजना पर विशेष ध्यान दिया है। उन्होंने कहा कि विभाग हर महीने व तीन महीने के बाद इस योजना की समीक्षा करेगा और डीएसटी का प्रभावी कार्यान्वयन सुनिश्चित किया जाएगा।

श्री सिंह ने बताया कि आईटीआई फरीदाबाद ने मकैनिस्ट ट्रेड के छात्रों को प्रशिक्षित करने के लिए भारत यामाहा मोटर्स के साथ एक समझौता किया है, जेबीएम ओटो लिमिटेड फार टूल एंड डाई मेकर और वेल्डर ट्रेड व एस्कॉट्र्स लिमिटेड के साथ मैकेनिक डीजल इंजन ट्रेड के लिए समझौता किया है। इसी प्रकार, जीटी, गुरुग्राम ने टर्नर और वेल्डर ट्रेड के लिए मुंजाल शोवा लिमिटेड के साथ, फिटर के लिए रीको ऑटो इंडस्ट्रीज, मैकेनिस्ट ट्रेड के लिए रीको एल्युमिनियम और फेरस ऑटो लिमिटेड के साथ समझौता किया है। आईटीआई पंचकूला ने फूड प्रोडक्शन एंड कैटरिंग एंड हॉस्पिटैलिटी असिस्टेंट ट्रेड के लिए होटल पल्लवी के साथ एक समझौता ज्ञापन साइन किया है।

श्री सिंह ने कहा कि जिन अन्य उद्योगों के साथ समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए हैं उनमें एस्कॉट्र्स लिमिटेड, मारुति सुजुकी, हीरो मोटरकॉप लिमिटेड, जेबीएम ऑटो लिमिटेड, स्टार वायर इंडिया लिमिटेड, शाही एक्सपोट्र्स लिमिटेड, इंपीरियल ऑटो इंडस्ट्रीज लिमिटेड, इंडो ऑटो टेक लिमिटेड, रिको ऑटो इंडस्ट्रीज लिमिटेड, जिंदल सुप्रीम प्राईवेट लिमिटेड, ओम डीजल प्राईवेट लिमिटेड, यूनिवर्सल प्रिसिजन स्क्रू, स्वास्तिक इंडस्ट्रीज, मेट्रो मोटर्स प्राईवेट लिमिटेड, मॉडर्न डायरी लिमिटेड, डीप प्रिसिजऩ इंडस्ट्रीज, सहयोग इंजीनियरिंग इंडस्ट्रीज, महाजन ओवरसीज प्राईवेट लिमिटेड, आशिमा पेपर प्रोडक्ट्स, कनोडिया ग्लोबल प्राईवेट लिमिटेड, जेसी ओटो फैब प्राईवेट लिमिटेड, शिवानी लॉक्स प्राईवेट लिमिटेड, हायलाइन ओटो प्राईवेट लिमिटेड, सुब्रोस लिमिटेड, एचएसएफ फूड प्रो टेक प्राईवेट लिमिटेड, ओरिएंटल इंजीनियरिंग वक्र्स लिमिटेड, मिंडा रिंद्रे प्राईवेट लिमिटेड, जेएसजी इनोटेक प्राईवेट लिमिटेड, अनुराग कैफे, माइक्रो टर्नरस, ए.के. ऑटोमेटिक्स, जगमोहन मोटर्स, बेरी उद्योग प्राइवेट लिमिटेड, कोसाव उद्योग, एग्रो एशियन इंडस्ट्रीज, पीएमप्रो एक्सपोर्ट प्राईवेट लिमिटेड, तृप्ती उद्योग, टेक्नो फास्ट इंडस्ट्रीज, सोना ऑटोमोटिव लिमिटेड, बीएन हाई टेक मशीन प्राईवेट लिमिटेड, कालका स्टील, एमटी ऑटो क्राफ9ट, अवंती ओवरसीज प्राईवेट लिमिटेड, व्हर्लपूल, जेसीबी, मिंडा इंडस्ट्रीज लिमिटेड, रीवा टेक्सटाइल लिमिटेड आदि शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि विभाग अगले साल राज्य में कम से कम पांच सौ डीएसटी व्यापार इकाइयों को पेश करने की योजना बना रहा है।

30 thoughts on “डीएसटी योजना के तहत आईटीआई के 5500 से अधिक प्रशिक्षुओं को लाभान्वित किया जाएगा।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed