• Thu. Jan 27th, 2022

जिला विकास, समन्वय एवं निगरानी समीति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए सांसद रत्नलाल कटारियों ने सम्बन्धित विभागों की जनहित की स्कीमों की बिन्दुवार करी समीक्षा–

Byadmin

Aug 21, 2021

जनता के लिए बनाई तथा चलाई गई योजनाओं और परियोजनाओं का लाभ बिना किसी देरी के पहंंूचना चाहिए जनता की दहलीज और दरवाजे तक–योजनाओं की सफलताओं के सक्सैस रेट को जानने के लिए अधिकारियों का जनता के बीच रहना बहुत जरूरी:-सांसद कटारिया।

–केन्द्र और राज्य सरकार की सभी स्कीमों का लाभ लाभार्थियों तक पहुचाना हम सब की सांझी जिम्मेदारी– कोरोना की पहली और दुसरी लहर से बचाव के लिए सभी ने मिल कर काम किया–यदि तीसरी लहर आती है तो  सतर्क और सावधान रहते हुए तैयारियां पुरी रखने की जरूरत–रोजगार पाने के लिये युवाओं को इस प्रकार प्रशिक्षण दें कि प्रशिक्षण पाने के बाद वह अन्य को अपेक्षाकृत ज्यादा रोजगार दे सके:-सांसद रत्न लाल कटारिया।

— जिला विकास, समन्वय एवं निगरानी समीति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए सांसद रत्नलाल कटारियों ने सम्बन्धित विभागों की जनहित की स्कीमों की बिन्दुवार करी समीक्षा–अधिकारियों को गुणवता और पारदर्शिता के साथ काम करने के दिए निर्देश। बैठक में उपस्थित रहे स्थानीय विधायक  असीम गोयल।

–जिला के प्रशासनिक अधिकारियों की टीम कर रही है अच्छा काम–कोरोना काल में सभी के संयुक्त प्रयासों से कोरोना को हराने में हो पाए हैं सफल:-विधायक असीम गोयल।

अम्बाला, 21 अगस्त:- 
अम्बाला लोकसभा सांसद रत्न लाल कटारिया ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा  जनहित के लिये बनाई और चलाई गई योजनाओं व परियोजनाओं का लाभ बिना किसी देरी के जनता की दहलीज और दरवाजे तक पंहुचना चाहिए। इतना ही नहीं योजनाओं की सफलताओं के सक्सैस रेट को जानने के लिये अधिकारियों को जनता के बीच रहना बहुत जरूरी है। महत्वाकांक्षी योजनाओं को क्रियान्वित करने में व उन्हें धरातल पर लागू करने में प्रशासनिक अधिकारियों का अहम रोल होता है। हम चाहते हैं कि सरकारी योजनाओं का लाभ जनता तक और सुगमता से पंहुचे, इसके लिये अधिकारी अपना शत प्रतिशत सहयोग देते हुए लोगों को इसका लाभ पंहुचाएं। सांसद कटारिया आज शनिवार को अम्बाला शहर पुलिस रैस्ट हाउस में जिला विकास, समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। इस मौके पर उनके साथ स्थानीय विधायक असीम गोयल नन्यौला भी मौजूद रहे।
जिला विकास, समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक की समीक्षा करते हुए सांसद द्वारा एजेंडे में रखे बिन्दूओं, जिनमें जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति उद्देश्य, पिछली बैठक की कार्रवाई की पुष्टि, छठी बैठक के निर्णयों को लेकर की गई कार्रवाई की रिपोर्ट, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना, दीन दयाल अंतोदय योजना, दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना, राष्ट्रीय समाजिक सहायता कार्यक्रम, प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी/ग्रामीण), स्वच्छ भारत मिशन, जल जीवन मिशन, एकीकृत वाटरशेड प्रबन्धन कार्यकम, डिजिटल भारत, भू अभिलेख आधुनिकीकरण कार्यक्रम, श्याम प्रसाद मुखर्जी रर्बन मिशन, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम), समग्र शिक्षा अभियान, समेकित बाल विकास योजना, मिड डे मील, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना व डिजिटल इंडिया शामिल थे, और इन पर विस्तार से चर्चा की गई।
पूर्व केन्द्रीय राज्य मंत्री कटारिया ने इस मौके पर प्रशासनिक अधिकारियों को यह भी कहा कि सरकार की छवि को बनाने में अधिकारियों का अहम रोल होता है। इसलिये वे अपनी डयूटी को और बखूबी तरीके से करते हुए लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ समय रहते दिलवाएं। उन्होंने यह भी कहा कि जन प्रतिनिधि होने के नाते लोगों को हमसे बहुत अपेक्षाएं होती हैं, इसीलिये सभी अधिकारी अपने विभाग से सम्बन्धित योजनाओं का लाभ दिलवाने के लिये लोगों के हित के लिये कार्य करें। उन्होंने कहा कि महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिये कुछ योजनाओं में उन्हें बैंकों से ऋण उपलब्ध करवाया जाता है। प्रतिभावान महिलाओं को सेवा के हर क्षेत्र में आगे बढऩे के लिये प्रोत्साहित करें और बैंक को जो टारगेट दिये गये हैं, बैंक भी लाभार्थियों को लाभ पंहुचाने के दृष्टिïगत उन्हें पूरा करें।
उन्होंने यह भी कहा कि दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना के तहत जिन युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाता है, उसमें और गुणवत्ता लाये जाने की आवश्यकता है। सम्बन्धित कम्पनी के प्रतिनिधि ने संासद को अवगत करवाते हुए बताया कि पिछले वर्ष 350 युवाओं का इस योजना के तहत प्रशिक्षित किया गया था, जिनमें से 210 युवाओं को वैल्डिंग का प्रशिक्षण दिया गया तथा साथ ही साथ उन्हें कम्पयूटर का भी प्रशिक्षण दिया गया है। सांसद ने कहा कि हमें युवाओं को इस प्रकार तैयार करना है कि उन्हें रोजगार की तलाश न करनी पड़े, बल्कि वे रोजगार देने का काम करें। उन्होंने बैठक के दौरान कोरोना की तीसरी संभावित वेव के दृष्टिगत स्वास्थ्य विभाग द्वारा क्या तैयारियां की गई है, उसकी जानकारी ली और वैक्सीनेशन के बारे में भी विस्तार से पूछा। डिप्टी सिविल सर्जन डा0 संगीता गोयल ने बताया कि इस विषय के तहत 1232 बैड कोरोना के लिये तैयार किये गये हैं, जिनमें सरकारी व गैर सरकारी अस्पताल शामिल हैं, 32 वेंटिलेटर हैं, जिनमें से 24 बच्चों के लिये प्रयोग में लाए जा सकते हैं। इसके साथ-साथ अन्य सभी चिकित्सा सुविधाएं दुरूस्त कर ली गई हैं। वैक्सीनेशन विषय पर उन्होंने बताया कि प्रतिशत के मामले में अम्बाला जिला प्रदेश में पहले स्थान पर है, 84 प्रतिशत पहली डोज व 38 प्रतिशत दूसरी डोज लोगों को लगाई जा चुकी है।
सांसद कटारिया ने मिड डे मील योजना के विषय पर कहा कि यह सरकार की एक महत्वपूर्ण योजना है, जिसका मुख्य उद्देश्य प्राथमिक और माध्यमिक कक्षाओं में बच्चों का नामांकन, प्रतिधारण और उपस्थिति को बढ़ावा देना है। इस योजना के तहत विद्यार्थियों को दोपहर का भोजन निशुल्क उपलब्ध करवाया जाता है। सीडीपीओ ने सांसद को अवगत करवाया कि कोविड 19 महामारी के दौरान से  बच्चों को उनके घर जाकर सूखा राशन वितरित किया जा रहा है। कटारिया ने कहा कि जो राशन हैफड से मिड डे मील के लिये आता है, वही राशन लाभार्थियों यानि बच्चों को मिल रहा है, इसकी भी निगरानी रखें। सांसद ने इस विषय को लेकर डीएफएससी व जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये कि वे समय-समय पर बांटे जा रहे राशन की निगरानी भी करते रहें और यह सुनिश्चित करें कि जो राशन गोडाउन से भेजा गया है, वही लाभार्थियों में वितरित हो रहा है या नही, इसकी समय-समय पर जांच करते रहें। बैठक में रखे अन्य विषयों पर भी सांसद ने तेजी लाने के निर्देश दिये।
स्थानीय विधायक असीम गोयल नन्यौला ने इस मौके पर कहा कि अम्बाला जिला के प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा बेहतर समन्वय के साथ लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ दिलवाने के लिये कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनके लिये सौभाग्य की बात है कि अम्बाला की जो प्रशासनिक टीम है, वह बहुत बेहतरीन टीम है तथा अच्छे तरीके से कार्य कर रही है। कोविड काल में डॉक्टरों व अन्य ने 24 घंटे दिन-रात काम करते हुए बहुत सराहनीय कार्य किया है। वैक्सीनेशन के कार्य में भी जो कार्य किया गया है, वह काफी सराहनीय है। उन्होंने कहा कि सरकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार के लिये माउथ टू माउथ पब्लिसिटी बहुत जरूरी है। ऐसा होने से लोगों को सम्पूर्ण जानकारी मिलती है।
उन्होंने कहा कि आज की बैठक के दौरान एजेंडे में रखे बिन्दूओं के दृष्टिगत यदि कुछ कमियां हैं, तो उसमें सुधार करते हुए प्रशासनिक अधिकारियेां को धरातल पर जाकर योग्य व्यक्तियों को योजनाओं का लाभ दिलवाना है। शिक्षा विभाग के अधिकारियों को बैठक में उन्होंने कहा कि अम्बाला सिटी में शिक्षा विभाग के तहत जितने स्कूल हैं, उनके कितने भवन सही स्थिति में नही हैं, उनकी सूची उन्हें सौंपी जाये ताकि स्कूल भवनों की मरम्मत इत्यादि को लेकर उच्च अधिकारियों के संज्ञान में लाया जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का श्रेय विपक्ष के कुछ लोग स्वंय लेना चाहते हैं जबकि उनका इस स्कीम के क्रियान्वयन से कोई लेना-देना नही।
यहां पंहुचने पर उपायुक्त विक्रम सिंह ने लोकसभा सांसद व स्थानीय विधायक को पुष्पगुच्छ देकर उनका अभिनंदन किया। उपायुक्त विक्रम सिंह ने लोकसभा सांसद रत्न लाल कटारिया व स्थानीय विधायक असीम गोयल नन्यौला का स्वागत करते हुए बैठक के दृष्टिगत जो दिशा-निर्देश दिये गये हैं, उनकी अनुपालना में सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को आवश्य दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने यह भी कहा कि जो भी प्रार्थी किसी भी विभाग में योजना का लाभ लेने के लिये आता है, तो उसे सम्पूर्ण जानकारी देते हुए उसे योजना का लाभ दिलवाने का काम करें। उपायुक्त ने यह भी कहा कि लोगों की जो भी समस्याएं या विकास के दृष्टिगत जो कार्य होते हैं, उसे बेहतर समन्वय के साथ पूरा करें।
बैठक में एसएसपी हामिद अख्तर, एडीसी जगदीप ढांडा, एसडीएम हितेष मीणा, एसडीएम नीरज कुमार, सीईओ जिला परिषद अनुराग ढालिया, डीआरओ राजबीर धीमान, अधीक्षक अभियंता अशोक कुमार, ए.के. रघुवंशी, विनय बरनवाल, जीएम रोडवेज मुनीष सहगल, डीडीपीओ रेनू जैन, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, समिति के सदस्य सरला कपूर, चन्द्रमोहन फौजी, रितेश गोयल, संजीव गोयल टोनी, गुरविन्द्र सिंह माणकपुर, संदीप सचदेवा, अर्पित अग्रवाल सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *