• Fri. Oct 22nd, 2021

जिला में कहीं भी नही पनपनी चाहिए अवैध कालोनी–यदि ऐसा हुआ तो इसके लिये जिम्मेदार होंगे सम्बन्धित अधिकारी–सेक्सन 11ए और 11बी के तहत डीटीपी द्वारा भेजी गई शिकायतों पर तुरंत कार्रवाई करें पुलिस विभाग के अधिकारी:-डी.सी. विक्रम सिंह।

Byadmin

Sep 30, 2021

जिला में कहीं भी नही पनपनी चाहिए अवैध कालोनी–यदि ऐसा हुआ तो इसके लिये जिम्मेदार होंगे सम्बन्धित अधिकारी–सेक्सन 11ए और 11बी के तहत डीटीपी द्वारा भेजी गई शिकायतों पर तुरंत कार्रवाई करें पुलिस विभाग के अधिकारी:-डी.सी. विक्रम सिंह।
–डी.सी. ने अपने कार्यालय में अवैध निर्माण को रोकने और किये जा रहे कार्यों बारे ली सम्बन्धित अधिकारियों की बैठक और दिये आवश्यक निर्देश।
अम्बाला, 30 सितम्बर:-
 डी.सी. विक्रम सिंह ने कहा कि जिला में कहीं भी किसी भी प्रकार की अवैध कालोनी नही पनपनी चाहिए और यदि ऐसा हुआ तो इसके लिये सम्बन्धित अधिकारी जिम्मेदार होंगे। सेक्सन 11ए और सेक्सन 11बी के तहत डीटीपी द्वारा जितनी भी शिकायतें पुलिस विभाग को भेजी जाती हैं, उन पर तुरंत प्रभाव से कार्रवाई होनी चाहिए और की गई कार्रवाई बारे उपायुक्त कार्यालय को भी अवगत कराया जाए कि किस-किस क्षेत्र में पुलिस विभाग द्वारा क्या-क्या कार्रवाई की गई है और किन व्यक्तियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। डी.सी. विक्रम सिंह आज वीरवार को उपायुक्त कार्यालय में आयोजित एक बैठक में सम्बन्धित अधिकारियों द्वारा की गई कार्रवाई की समीक्षा कर रहे थे। इस मौके पर डीटीपी सविता ने बताया कि हमने पुलिस को अवैध निर्माण सम्बन्धी विषय को लेकर 14 शिकायतें भेजी हैं, जिनको लेकर पुलिस विभाग द्वारा कार्रवाई की जानी है। मौके पर उपस्थित डीएसपी अनिल कुमार को डी.सी. विक्रम सिंह ने निर्देश देते हुए कहा कि भेजी गई शिकायतों पर क्या कार्रवाई की गई, इसकी रिपोर्ट कल शाम तक उन्हें भेजी जाए ताकि अवैध कालोनी व निर्माण को रोकने सम्बन्धी विषय पर विभाग द्वारा किस प्रकार की व्यवस्था कार्यरूप में परिणत की जा रही है।
डी.सी. विक्रम सिंह ने सभी सम्बन्धित एसडीएम को भी निर्देश दिये कि संदर्भित विषय को लेकर वे भी अपने-अपने क्षेत्र में इस बात का ध्यान रखें कि कहीं भी कोई अवैध कालोनी नही कटनी चाहिए और यदि कोई व्यक्ति ऐसा करता पाया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाया जाना जरूरी है। डीटीपी ने उपायुक्त को जानकारी दी कि अवैध सम्बन्धी विषय को लेकर गत मास सम्बन्धित लोगों को पांच कारण बताओ नोटिस दिये गये हैं। विभाग द्वारा सुचारू रूप से संदर्भित विषय को लेकर काम किया जा रहा है। सभी विभागों के साथ तालमेल के साथ व्यवस्था को कार्यरूप दिया जा रहा है। जहां भी किसी प्रकार की सूचना मिलती है तो विभाग तुरंत हरकत में आता है।
डी.सी. ने अधिकारियों को स्पष्ट किया कि अवैध निर्माण के तहत जो भी कार्रवाई की जाए वह तुरंत सुनिश्चित होनी चाहिए। इसमें किसी प्रकार की कोई लापरवाही सहन नहीं की जायेगी। उपायुक्त ने समीक्षा बैठक करते हुए जिला नगर योजनाकार से उनके विभाग के तहत इस विषय के तहत की जा रही कार्रवाई बारे जानकारी हासिल की तथा एंजैडे में रखे बिंदुओं बारे भी विस्तार से जानकारी हासिल की। उन्होंने कहा कि जो भी अवैध निर्माण से सम्बन्धित विभाग द्वारा जो चार्जिज लगाए जाते हैं उसकी सूची भी उपायुक्त कार्यालय में देना सुनिश्चित करें।
बैठक के दौरान जिला नगर योजनाकार सविता जिंदल ने उपायुक्त को अवगत करवाते हुए बताया कि जिला नगर योजनाकार विभाग द्वारा गत माह में कईं स्थानों पर पर अवैध निर्माण से सम्बन्धित कार्रवाई की गई है। डी.सी. ने कहा कि जिला नगर योजनाकार द्वारा अवैध निर्माण से सम्बन्धित जो कार्रवाई की जाती है, उसकी रिपोर्ट सम्बन्धित क्षेत्र के एसडीएम को भी दें। उन्होंने पुलिस विभाग के अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि जहां अवैध निर्माण का पता चले, तो पुलिस विभाग तुरंत प्रभाव से सम्बन्धित विभाग को पुलिस सहायता उपलब्ध करवाए। उपायुक्त ने जिला नगर योजनाकार से अवैध निर्माणों के संबध में विभाग द्वारा जो जुर्माना राशि वसूली गई है उसकी भी जानकारी हासिल की। पुलिस विभाग को उन्होंने निर्देश दिए कि अवैध कालोनी पर कार्रवाई करते हुए अक्सर मालिक के खिलाफ कार्रवाई होती है, लेकिन जो अवैध कालोनी काटता है उसकी भी जांच करते हुए यदि वह भी दोषी है तो उस पर कार्रवाई करना सुनिश्चित करें।
बैठक में एसडीएम हितेष मीणा, एसडीएम गिरीश चावला, एसडीएम नीरज कुमार, एसडीएम दिलबाग सिंह, डीटीपी सविता जिंदल, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह सहित सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।

5 thoughts on “जिला में कहीं भी नही पनपनी चाहिए अवैध कालोनी–यदि ऐसा हुआ तो इसके लिये जिम्मेदार होंगे सम्बन्धित अधिकारी–सेक्सन 11ए और 11बी के तहत डीटीपी द्वारा भेजी गई शिकायतों पर तुरंत कार्रवाई करें पुलिस विभाग के अधिकारी:-डी.सी. विक्रम सिंह।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *