• Wed. Dec 1st, 2021

जल जीवन मिशन के तहत घर-घर नल से जल देने की योजना पर नारायणगढ विधानसभा क्षेत्र में तीव्र गति से है कार्य जारी- कार्यकारी अभियंता समीर शर्मा।

Byadmin

Jun 25, 2021


योजना के तहत  पेयजल आपूर्ति की 23 किलोमीटर लम्बाई की पाईप लाइन विभिन्न गांवों में बिछाई जा चुकी है, 81 किलोमीटर लम्बाई की पाईप लाइन बिछाने का कार्य है जारी।
  विभिन्न गांवों में वर्ष 2020-21 में पेयजल आपूर्ति के लिए लगे 26 टयूबैल, वर्ष 2021-22 में 12 टयूबैल लगेगें।
अम्बाला/नारायणगढ़,   25  जून:-
 जल जीवन मिशन के तहत घर-घर नल से पानी देने की योजना पर नारायणगढ विधानसभा क्षेत्र में तीव्र गति से कार्य जारी है। इस बारे में जानकारी देते हुए जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के कार्यकारी अभियंता समीर शर्मा ने बताया कि इस योजना के तहत पेयजल आपूर्ति की 23 किलोमीटर लम्बाई की पाईप लाइन विभिन्न गांवों में बिछाई जा चुकी है तथा 81 किलोमीटर लम्बाई की पाईप लाइन बिछाने का कार्य जारी है।
उन्होने बताया कि गांव अकबरपुर, बख्तुआ, बल्लोपुर, बडी बस्सी, बरोली, बेरपुरा, भांरापुर, भेडों, भूड माजरी, बुढाखेड़ा, बिचपड़ी, चांदसौली, चताण, फिरोजुपर काठ, गणेशपुर, हमीदपुर, हांडीखेडा, हुसैनी, जंगूमाजरा, कलालमाजरी, कंजाला, खानपुर ब्राह्मणा, मियांपुर, मुगलमाजरा, नगोली, नखडोली, ओखल, पटवी, रजोली, राजपुरा, रशीदपुर, रतनेहडी, रौलों, सादिकपुर, साहिबापुर, सम्भालवा, श्यामड़ू और खेडा, संगरानी, सपेडा, शाहपुर, शेरपुर में 23 किलोमीटर लम्बाई की पाइप लाइन बिछाई गई है।
उन्होने बताया कि विभिन्न गांवों में वर्ष 2020-21 में पेयजल आपूर्ति के लिए 26 टयूबैल नारायणगढ विधानसभा क्षेत्र में लगे है तथा वर्ष 2021-22 में 12 टयूबैल लगवाये जाएगें।
टयूबैल वर्ष 2020-21 में गांव बपोली डेहा बस्ती, भरेडी कलां, बहलोली, भडोग, बिलपुरा, बिलासपुर, डेरा, सैनमाजरा, फिरोजपुर, गदौली, गणेशपुर, जटवाड़, कक्ड़माजरा, कलालमाजरा, खानपुर लबाना, खेडकी जट्टान, मिर्जापुर काठ, मुकंदपुर, नगला जटान, पतरेहडी, पिलखनी, रामपुर ढांणी ऑफ कक्डमाजरा, सादांपुर, पिलखनी, सैनीमाजरा, शहजादपुर में लगाये गये है।
जिन गांवों में वर्ष 2021-22 में टयूबैल लगेगें- गांव भरेडी कलां, भूरेवाला ढांणी ऑफ गांव कोडो भूरा, डेरा, खानपुर, कुराली, लौटों, नन्हेडा, नगावां, पतरेहडी, रायवाली, संतोखी तथा सौंतली में टयूबैल लगवाये जाएगें।
बॉक्स- ग्रामीण जल एवं स्वच्छता कमेटी का गठन गांवों में किया गया है। जिसमें 50 प्रतिशत महिलाओं की भागेदारी है। यह कमेटी गांव में जल के सदपयोग तथा पानी से सम्बंधित जो भी समस्या आती है उसे विभाग के माध्यम से दूर करवाने का प्रयास करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed