• Wed. May 18th, 2022

गृह मंत्री अनिल विज बोले : ‘सैनिकों को इंसाफ के लिए भटकने नहीं दूंगा, उनकी मदद को हर समय तैयार’

Byadmin

Feb 20, 2022

गृह मंत्री अनिल विज बोले : ‘सैनिकों को इंसाफ के लिए भटकने नहीं दूंगा, उनकी मदद को हर समय तैयार’

सैनिक की बेटी की शिकायत पर गृह मंत्री अनिल विज सख्त, रोहतक में दर्ज दहेज के मामले में एएसपी से जांच वापस ली  

रविवार गृह मंत्री अनिल विज ने अपने पर लोगों की समस्याओं को सुना और संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई के निर्देश दिए

अम्बाला, 20 फरवरी
हरियाणा के गृह मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि ‘सैनिकों को इंसाफ के लिए वह भटकने नहीं देंगे और उनकी मदद के लिए सदैव तैयार हैं’। रविवार को गृहमंत्री अनिल विज अपने आवास पर जन समस्याओं को सुन रहे थे, इसी बीच अपनी बेटी के साथ आए सैनिक ने गृह मंत्री को शिकायत देते हुए बताया कि दहेज मामले में रोहतक के एएसपी कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। गृह मंत्री श्री विज ने तुरंत एसपी को फोन पर इस मामले में एएसपी से जांच वापस लेकर कार्रवाई करने निर्देश दिए।
रविवार को जनता की सुनवाई के दौरान गृह मंत्री अनिल विज के समक्ष लोगों ने अपनी समस्याएं रखी। रोहतक से आए सैन्यकर्मी कर्मबीर व उसकी बेटी मंजू ने अपनी शिकायत दी। मंजू ने बताया कि रोहतक में दर्ज दहेज के मामले में पुलिस ने ठोस कार्रवाई नहीं की। एएसपी कृष्ण कुमार द्वारा उनकी सुनवाई नहीं की जा रही है। सैनिक की बेटी की शिकायत पर गृह मंत्री अनिल विज ने तुरंत संज्ञान लेते हुए रोहतक एसपी को इस मामले में कार्रवाई के लिए कहा और तुरंत प्रभाव से एएसपी कृष्ण कुमार से जांच वापस लेने के निर्देश दिए। गृह मंत्री ने कहा कि सैनिकों को इंसाफ के लिए वह भटकने नहीं देंगे और उनकी मदद को वह तैयार हैं।

एनआरआई दूल्हे के खिलाफ शिकायत, आरोपियों को गिरफ्तार करने के निर्देश

कैथल निवासी मीणा देवी ने अपने एनआरआई पति के खिलाफ गृह मंत्री अनिल विज को शिकायत सौंपी। मीणा देवी न कहा कि उसका पति विदेश चला गया है और अब वह अपने बच्चे के साथ रह रही है। उसे ससुराल पक्ष की ओर से प्रताड़ित किया जा रहा है। दहेज मांगने व मारपीट मामले में पुलिस द्वारा  ढुलमुल कार्रवाई की जा रही है। गृह मंत्री अनिल विज ने एसपी कैथल को फोन कर मामले में सख्त एक्शन लेने के निर्देश दिए।

श्रमिकों को स्कूल संचालक ने नहीं दी मजदूरी, गृह मंत्री से शिकायत

पानीपत के एसआरएम स्कूल में निर्माण कार्य करने वाले श्रमिक पवन कुमार, दिनेश्वर, देव नारायण, राहुल व अन्य ने अपनी शिकायत देते हुए कहा कि उन्होंने स्कूल में निर्माण कार्य किया था, मगर स्कूल संचालकों द्वारा अब तक 1.12 लाख रुपए मजदूरी नहीं दी गई है। गृह मंत्री ने इसपर डीसी को कार्रवाई के निर्देश दिए।
वहीं, गृह मंत्री अनिल विज के समक्ष शहजादपुर निवासी राम करण ने शिकायत देते हुए बताया कि उनके बेटे का शव मिलने के बाद शहजादपुर पुलिस ने गुमशुदगी का केस दर्ज किया था। इस मामले में थाना पुलिस द्वारा अब तक ठीक से कार्रवाई नहीं की गई है। गृह मंत्री श्री विज ने इस मामले में सीआईए को जांच करने के निर्देश दिए।

इन मामलों में गृह मंत्री ने कार्रवाई के निर्देश दिए

जनता की सुनवाई के दौरान सोनीपत निवासी मंजू ने घर में जबरन घुसने के मामले में कार्रवाई करने, पानीपत निवासी राम किशन ने जमीनी विवाद के कारण इंतकाल न होने, करनाल निवासी कृष्ण कुमार ने उसकी जमीन पर कब्जा करने, जींद के कुलदीप सिंह व अन्य ने जमीन पर कब्जा हटवाने बारे सहित अन्य कई मामले सामने आए। गृह मंत्री अनिल विज ने संबंधित अधिकारियों को इन मामलों में कार्रवाई के दिशा-निर्देश दिए।

One thought on “गृह मंत्री अनिल विज बोले : ‘सैनिकों को इंसाफ के लिए भटकने नहीं दूंगा, उनकी मदद को हर समय तैयार’”

Leave a Reply

Your email address will not be published.