• Tue. Jan 18th, 2022

गृहमंत्री अनिल विज ने सैकड़ों लोगों की सुनी फरियाद, चार अलग-अलग मामलों में एसआईटी गठित कर जांच के आदेश दिए

गृहमंत्री अनिल विज ने सैकड़ों लोगों की सुनी फरियाद, चार अलग-अलग मामलों में एसआईटी गठित कर जांच के आदेश दिए
– प्रदेशभर भर से बुधवार 300 से ज्यादा लोगों ने गृह मंत्री अनिल विज के दरबार में गुहार लगाई
– कैंट में दो धर्मशालाओं के निर्माण के लिए 30 लाख रुपए देने की घोषणा की
– गृह मंत्री विज बोले जनता की समस्याएं सुनने के लिए वह हर दिन उपलब्ध

अम्बाला, 29 दिसम्बर :  
हरियाणा के गृह मंत्री श्री अनिल विज ने बुधवार अपने आवास पर प्रदेशभर से आए लोगों की समस्याओं को सुना। उन्होंने कहा लोगों को न्याय मिले इसके लिए वह उनकी समस्याएं सुनने के लिए सदैव उपलब्ध हैं। लगभग तीन सौ से ज्यादा फरियादी गृह मंत्री श्री विज के दरबार में अपनी-अपनी समस्याएं लेकर पहुंचे। समस्याएं सुनने के दौरान गृह मंत्री ने अधिकारियों को इनपर त्वरित कार्रवाई करने के दिशा-निर्देश दिए। तीन अलग-अलग महिला फरियादियों की शिकायत सुनते हुए उन्होंने एसपी सोनीपत, एसपी अम्बाला व एसपी भिवानी को एसआईटी गठित कर जांच के आदेश दिए, वहीं अन्य मामले में एसपी जींद को एसआईटी गठित कर जांच को कहा। इसके अलावा कैंट विधानसभा क्षेत्र से दो धर्मशालाओं की मरम्मत व निर्माण के लिए मांग उठाई जिसपर गृह मंत्री अनिल विज ने 30 लाख रुपए देने की घोषणा की। बुधवार को प्रदेशभर बड़ी संख्या में लोग न्याय की आस में गृह मंत्री के आवास पर पहुंचे जहां उन्होंने यह समस्याएं सुनी और समाधान के लिए संबंधित अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए गए। गौरतलब है कि गृह मंत्री प्रतिदिन अपने आवास पर जनता की समस्याओं को सुनते हैं। इस दौरान विभिन्न प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद रहे। फरियाद लेकर आने वाले लोगों ने कहा कि उन्हें गृह मंत्री विज से ही न्याय की आस है।

इन चार मामलों में एसआईटी गठित करने के निर्देश
– सोनीपत
 से फरियाद लेकर आई निर्मला ने बताया कि उनके पति बीएसएफ में थे जोकि स्वर्गवास हो गया। उनके बाद उनका बेटा भी बीएसएफ में भर्ती हुआ, मगर दिमागी हालत ठीक नहीं होने की वजह से वह अनफिट हो गया। इसके बाद उसके बेटे की पत्नी व अन्य ने उसके बेटे को षड्यंत्र के तहत मार दिया। निर्मला का आरोप था कि मामले की शिकायत करने के बावजूद उसकी शिकायत पर कार्रवाई नहीं हुई और उलटा उसपर केस दर्ज कर दिए गए। गृह मंत्री श्री विज ने इस मामले में सोनीपत एसपी को एसआईटी गठित कर मामले की जांच के आदेश दिए।
– अम्बाला के इंद्रपुरी की रहने वाली महिला चेतना ने शिकायत में गृह मंत्री विज को शिकायत में बताया कि उसकी शादी वकील गौरव शर्मा से हुई थी, मगर शादी के बाद गौरव उसके परिवार वालों ने दहेज की मांग शुरू कर दी। उसे मानसिक व शारीरिक तौर पर प्रताड़ित किया गया। उसे बाद में घर से बाहर निकाल दिया गया। आरोप है कि पुलिस ने इस संबंध में उसकी सुनवाई नहीं की। मामले को लेकर उलटा उसपर एक केस बना दिया गया। इस मामले में गृह मंत्री अनिल विज ने अम्बाला एसपी को एसआईटी गठित कर जांच के आदेश दिए।
– भिवानी की रहने वाली महिला ने गृह मंत्री अनिल विज को बताया कि उसके द्वारा भिवानी में मारपीट, अश्लील हरकत करने, अपहरण करने, दहेज उत्पीड़ने व अन्य आरोपों के तहत मामला दर्ज कराया गया था। मगर इस मामले में भिवानी पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं की गई और उलटा उसका उत्पीड़ने किया जा रहा है। इसपर गृह मंत्री श्री विज ने एसपी भिवानी को मामले में एसआईटी गठित कर जांच के आदेश दिए हैं।
– आत्महत्या के मामले में कार्रवाई नहीं होने पर जींद के रहने वाले जय प्रकाश शर्मा ने गृह मंत्री श्री विज के समक्ष अपनी फरियाद रखी। जयप्रकाश ने कहा कि उसके बेटे ने अक्टूबर 2020 में आत्महत्या कर ली थी। इस मामले में केस दर्ज कराया गया था, मगर जींद पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करने के बजाए उन्हें बचाने में जुटी है। इस मामले में गृह मंत्री ने जींद एसपी को एसआईटी गठित कर जांच के आदेश दिए।

दो धर्मशालाओं के लिए 30 लाख रुपए देने की घोषणा की गृह मंत्री विज ने
– तोपखाना
 बाजार क्षेत्र में हिंदु गार्डन धर्मशाला की मरम्मत के लिए गृह मंत्री अनिल विज ने 20 लाख रुपए देने की घोषणा की। बोर्ड के पार्षद अजय बवेजा के साथ हिंदु सभा के अध्यक्ष नरेंद्र गुप्ता, रमेश कुमार साहू, अशोक कुमार, अशोक गोयल, नवल किशोर गोयल सहित अन्य पदाधिकारियों ने हिंदु गार्डन धर्मशाला मरम्मत की मांग को उठाया। सभा की मांग पर गृह मंत्री श्री विज ने तुरंत प्रभाव से 20 लाख रुपए देने की घोषणा की जिसपर सभा ने गृह मंत्री विज का आभार जताया।
– घसीटपुर के पास गांव हरिपुर टांगरी में धर्मशाला के प्रथम तल पर कमरों के निर्माण के लिए भी गृह मंत्री विज ने 10 लाख रुपए देने की घोषणा की। क्षेत्रवासी नंबरदार राजेश की अगुवाई में सोमनाथ, सोहन लाल, राज कुमार, रामचरण एवं अन्य लोगों ने गृह मंत्री विज से मुलाकात की। उन्होंने बताया कि प्रथम तल पर कमरों का निर्माण होने से सामूहिक आयोजनों में काफी मदद मिलेगी। इसपर श्री विज ने 10 लाख रुपए देने की घोषणा की। क्षेत्रवासियों ने क्षेत्र में पानी निकासी की समस्या से भी गृह मंत्री को अवगत कराया जिसपर उन्होंने नगर परिषद के ईओ को मामले में कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

यह अन्य समस्याएं जनता दरबार में
जनता दरबार में कुरुक्षेत्र निवासी वीरेंद्र सिंह ने स्वयं को झूठे केस पर फंसाने व पूर्व में नामजद केस में कार्रवाई की मांग उठाई, घरौंडा से सिकलीगर सिख सेवा सोसाइटी ने बिना नोटिस दिए लोगों के मकान तोड़ने की शिकायत दी, गुरुग्राम से मुकेश चौधरी ने धोखाधड़ी व जमीन पर कब्जे की शिकायत दी, पानीपत निवासी बबली ने मारपीट व धमकी देने बारे शिकायत की, नूंह से कांट्रेक्चूअल इम्पलाइज एसोसिएशन द्वारा 22 स्टाफ नर्सों को विशेष सहायता देने हेतु मांग उठाई गई, करधान निवासी जग्गूराम ने ज्यादा आए बिजली बिल की किश्ते बनवाने के बारे में, गांव लोटों निवासी हरिचंद ने दर्ज मामले की जांच अन्य एजेंसी से कराने बारे, गन्नौर निवासी अजीत कुमार द्वारा जीआरपी द्वारा दर्ज मामले की जांच न किए जाने बारे, जींद निवासी अंजू रानी द्वारा शिशु देखभाल के लिए अवकाश लेने बारे, हांसी निवासी कमलेश द्वारा उनसे मारपीट व उनपर हमला करने के मामले में कार्रवाई करने बारे,  गांव औजलां निवासी रामेश्वर द्वारा रविदास मंदिर के पास गली के अधूरे कार्य को पूरा कराने बारे, पंडरी सीएचसी में तैनात स्टाफ ने रूका वेतन दिलाने बारे, सैन्य जवान की पत्नी सुखजीत कौर द्वारा जमीन की रजिस्ट्री कराने बारे, यमुनानगर निवासी सुमित कुमार ने प्लाट के नाम पर हुई जमीनी धोखाधड़ी मामले में शिकायत दी व अन्य कई मामलों की शिकायत गृह मंत्री अनिल विज के समक्ष फरियादियों द्वारा की गई। मंत्री श्री विज ने सभी मामलों में संबंधित विभागीय अधिकारियों को कार्रवाई करने के आदेश दिए।

2 thoughts on “गृहमंत्री अनिल विज ने सैकड़ों लोगों की सुनी फरियाद, चार अलग-अलग मामलों में एसआईटी गठित कर जांच के आदेश दिए”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *