• Thu. Oct 21st, 2021

क्या कैंट एक्साइज क्षेत्र के ईओ और न.प. प्रशासक पद पर 2 -2 अधिकारी ?

Byadmin

Sep 10, 2021



शहरी निकाय विभाग के आदेशों में दोनों पदों का चार्ज कैंट एसडीएम के पास  – हेमंत

गत सप्ताह  ज़िले के एडीसी सचिन गुप्ता को भी दिया गया है कार्यभार 

अम्बाला शहर – बीती  4 सितम्बर को  अम्बाला कैंट सब-डिवीज़न (उप-मंडल ) में 2019 बैच के एचसीएस अधिकारी दिलबाग सिंह को नया उप-मंडल अधिकारी (नागरिक ) अर्थात एसडीएम तैनात किया गया. दिलबाग इससे पूर्व सिरसा ज़िले में ऐलनाबाद में एसडीएम थे. उन्होंने बीते कल ही कैंट एसडीएम के तौर पर   कार्यभार संभाला है.

 उनसे  पूर्व इस पद पर   ज़िले के वर्तमान एडीसी (अतिरिक्त उपायुक्त ) सचिन गुप्ता, जो  2018 बैच के आईएएस अधिकारी हैं, तैनात थे एवं उसके साथ साथ उनके पास  अम्बाला सदर नगर परिषद (न.प.) के प्रशासक और कैंट एक्साइज क्षेत्र में सरकारी भूमि प्रबंधन के सम्पदा अधिकारी (एस्टेट ऑफिसर ) का कार्यभार भी था. हालांकि 3 सितम्बर को सचिन को   ज़िले के एडीसी के साथ उपरोक्त दोनों दर्शाये गए चार्ज भी प्रदान किये गए हैं. इस सम्बन्ध में आदेश प्रदेश के मुख्य सचिव कार्यालय के कार्मिक विभाग द्वारा जारी किये गए.

इसी बीच शहर निवासी हाई कोर्ट के एडवोकेट हेमंत कुमार ने बताया की आज से ठीक दो वर्ष पूर्व  11 सितम्बर, 2019 को जब अंबाला सदर नगर परिषद के पुनर्गठन की  नोटिफिकेशन प्रदेश के शहरी स्थानीय निकाय विभाग द्वारा जारी की गयी थी  तो  विभाग के तत्कालीन प्रशासनिक सचिव, आनंद मोहन शरण, आईएएस  द्वारा जारी  एक आदेशानुसार कैंट के एसडीएम ही  अपने पद के साथ साथ  न. प. अंबाला सदर के प्रशासक होंगे. चूंकि उस आदेश में  कैंट के तत्कालीन एसडीएम एस.सी. सिहाग, एचसीएस  के नाम का उल्लेख नहीं था  जिसका अर्थ यही है कि जो भी अधिकारी अम्बाला कैंट का एसडीएम तैनात होगा, वही पदेन (अपने पद के कारण) सदर न. प. का प्रशासक होगा. आज तक इस आदेश को शहरी निकाय  विभाग द्वारा संशोधित या रद्द नहीं किया गया है. इस प्रकार  उपरोक्त आदेश के अनुसार  कैंट के एसडीएम के पद पर तैनात  दिलबाग सिंह, एचसीएस अपने पद के कारण  अम्बाला सदर न.प. के प्रशासक भी   हैं.  

हेमंत ने बताया कि इसी प्रकार गत वर्ष 30 जुलाई, 2020 को शहरी स्थानीय विभाग के तत्कालीन प्रशासनिक सचिव, एस.एन.  राय, आईएएस  द्वारा जारी  एक अलग आदेशानुसार कैंट के एसडीएम को  अंबाला कैंट में एक्साइज क्षेत्र में  सरकारी भूमि प्रबंधन का एस्टेट आफिसर (ईओ) नियुक्त किया गया था जो इस पद के तौर पर कार्य करते हुए उपरोक्त विभाग के निदेशक को रिपोर्ट करेंगे एवं वह उन्ही के प्रशासनिक नियंत्रण में होंगे अर्थात इस प्रकार  कैंट एसडीएम दिलबाग सिंह अपने पद के फलस्वरूप कैंट एक्साइज  क्षेत्र के ईओ भी होंगे.  

हेमंत का कहना है कि शहरी स्थानीय निकाय विभाग के प्रशासनिक सचिव  द्वारा जारी आदेशों को उन्ही  के द्वारा ही रद्द या संशोधित किया जा सकता है, मुख्य सचिव के कार्मिक विभाग द्वारा नहीं. तीन माह पूर्व 4 जून 2021  को अंबाला के तत्कालीन डीसी अशोक शर्मा का तबादला कर जब विक्रम  को ज़िले का नया  डीसी तैनात किया गया तो उस  आदेश  में उनको भी साथ साथ कैंट एक्साइज क्षेत्र के  ईओ का कार्यभार भी दिया गया था जिसपर आपत्ति जाते हुए  हेमंत ने मुख्य सचिव को  लिखा था एवं 4 दिन बाद  कार्मिक विभाग द्वारा जारी ताज़ा आदेश  में उक्त  ईओ का चार्ज डीसी अम्बाला   से वापिस ले लिया गया था.

6 thoughts on “क्या कैंट एक्साइज क्षेत्र के ईओ और न.प. प्रशासक पद पर 2 -2 अधिकारी ?”
  1. There are certainly a lot of details like that to take into consideration. That is a great point to bring up. I offer the thoughts above as general inspiration but clearly there are questions like the one you bring up where the most important thing will be working in honest good faith. I don?t know if best practices have emerged around things like that, but I am sure that your job is clearly identified as a fair game. Both boys and girls feel the impact of just a moment?s pleasure, for the rest of their lives.

  2. There are some interesting points in time in this article but I don?t know if I see all of them center to heart. There is some validity but I will take hold opinion until I look into it further. Good article , thanks and we want more! Added to FeedBurner as well

  3. I?m impressed, I must say. Really rarely do I encounter a blog that?s both educative and entertaining, and let me tell you, you have hit the nail on the head. Your idea is outstanding; the issue is something that not enough people are speaking intelligently about. I am very happy that I stumbled across this in my search for something relating to this.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *