• Thu. Oct 21st, 2021

कोविड-19 के दृष्टिगत जरूरतमंद लोगों के लिए प्रदेश सरकार द्वारा राहत और मदद देने का काम जारी-

Byadmin

May 28, 2021

-कोविड-19 के दृष्टिगत जरूरतमंद लोगों के लिए प्रदेश सरकार द्वारा राहत और मदद देने का काम जारी–आए दिन अपेक्षाकृत अधिक मरीज हो रहे हैं ठीक–लोगों के सहयोग से घट रहा है कोरोना का ग्राफ:-गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज।
अम्बाला, 28 मई:- 
गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि कोविड-19 के दृष्टिगत जरूरतमंद लोगों के लिए प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना काल में भी राहत देने का काम किया जा रहा है ताकि उन्हें ईलाज में सुविधा हो सके। उन्होंने कहा कि इसके अलावा भी अन्य लोगों के लिए भी समय-समय पर विभिन्न योजनाओं को क्रियान्वित करके उन्हें उनका लाभ दिलवाने का काम भी किया जा रहा है।
गृहमंत्री ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी से सारा विश्व जूझ रहा है और भारत भी इससे अछूता नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में स्वास्थ्य सेवाओं में विस्तार करते हुए हर पहलू को ध्यान में रखते हुए कार्य किया जा रहा है। चिकित्सा के सभी व्यापक प्रबंध किए गये हैं। उन्होंने कहा कि कोविड से सम्बन्धित हर मरीज का सभी सरकारी मैडिकल कालेजों व अस्पतालों में निशुल्क ईलाज किया जा रहा है जिसमें रैमिडीसिविर इंजैक्शन सहित अन्य सभी मंहगी दवाईयां शामिल हैं। इसके साथ-साथ सभी बीपीएल परिवारों के मरीजों का निजी अस्पतालों में निशुल्क ईलाज करने का प्रावधान किया गया है। इन अस्पतालों को https://gmdahrheal.in/ पोर्टल के माध्यम से सरकार द्वारा पूरा भुगतान किया जा रहा है। निजी अस्पतालों में अन्य कोविड मरीजों के लिए टैस्ट, ऑक्सीजन बैड, वैंटीलेटर, आईसीयू बैड व एंबुलैंस इत्यादि की भी अधिकतम दरें निर्धारित की गई हैं। इतना ही नहीं निजी अस्पतालों को एक  हजार रूपये प्रति मरीज प्रतिदिन की दर से आर्थिक मदद भी की जा रही है।
स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी बताया कि होम आईसोलेटेड कोविड पोजीटीव मरीजों को भी वित्तीय सहायता दी जा रही है जिसके तहत बीपीएल परिवारों के होम आईसोलेटड कोविड पोजीटीव मरीज जो एक मार्च 2021 के बाद से संक्रमित हुए हैं उन्हें डीबीटी के माध्यम से पांच हजार रूपये प्रति मरीज की दर से वित्तीय सहायता देने का काम किया जा रहा है। उन्होने यह भी बताया कि कोविड 19 के कारण असामयिक मृत्यु होने पर वित्तीय सहायता दी जा रही है। जिसके तहत बीपीएल परिवारों के 18 से 50 वर्ष के किसी भी व्यक्ति की एक मार्च 2021 के बाद कोविड से असामायिक मृत्यु होने पर उनके परिजनों को एकमुश्त दो लाख रूपये की वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाई जा रही है। प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के तहत बीपीएल परिवारों हेतू प्रति व्यक्ति 330 रूपये के बीमा प्रीमियम का भुगतान/प्रतिपूर्ति सरकार द्वारा की जायेगी ताकि किसी भी कारण से असामायिक मृत्यु होने पर उनके परिजनों को दो लाख रूपये की वित्तीय सहायता मिल सके।
स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी बताया कि पूरे प्रदेश में 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के सभी व्यक्तियों का हरियाणा सरकार के सौजन्य से निशुल्क टीकाकरण का कार्य भी किया जा रहा है और 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों का भी निशुल्क टीकाकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के मामले में हरियाणा तेजी से कार्य कर रहा है। कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने में टीकाकरण एक मजबूत सुरक्षा कवच के रूप में है। उन्होंने कहा कि हम सबके सांझे प्रयासों से कोरोना को प्रदेश व देश से भगाने का काम किया जायेगा। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे सरकार द्वारा जारी निर्देशों की अनुपालना करते रहें। मास्क जरूरी, दो गज की दूरी, सफाई व्यवस्था को कार्यरूप में परिणित करते रहें। प्रदेश में आए दिन कोरोना का ग्राफ नीचे आ रहा है। रिकवरी रेट अपेक्षाकृत आए दिन बढ़ रहा है। ये हम सबके लिए अच्छे संकेत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *