• Sat. Oct 23rd, 2021

कोरोना के संक्रमण को रोकने में विलेज हैल्थ स्कीम के तहत गठित टीमें कर रही हैं बेहतरीन कार्य

Byadmin

Jun 3, 2021

कोरोना के संक्रमण को रोकने में विलेज हैल्थ स्कीम के तहत गठित टीमें कर रही हैं बेहतरीन कार्य–जिला के लगभग सभी गांव किए जा चुके हैं कवर–टीमों द्वारा 7 लाख 56 हजार 247 लोगों के स्वास्थ्य की करी गई जांच–ग्रामीण परिवेश के लोग दे रहें है सहयोग:-डीसी।
अम्बाला 3 जून:-
 उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि कोविड-19 के दृष्टिगत गांवों में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने की दिशा में बेहतर कार्य किया है। हरियाणा विलेज हैल्थ स्कीम के तहत गठित टीमों ने इस कार्य को बेहतर समन्वय के साथ करने का काम किया है।
उपायुक्त ने बताया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के मार्गदर्शन में कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने में अहम कदम उठाते हुए हरियाणा विलेज हैल्थ स्कीम के तहत ग्रामीणों के स्वास्थ्य की जांच करने का निर्णय लिया गया था। इसी कार्य के तहत अम्बाला जिले में बेहतर कार्य करने का काम किया है। हरियाणा विलेज हैल्थ स्कीम के तहत 418 टीमों ने जिले में काम करते हुए 486 गांवों को कवर करने का काम किया है और इस कार्य के तहत 1 लाख 67 हजार 912 घरों को कवर करने हुए 7 लाख 56 हजार 247 लोगों के स्वास्थ्य की जांच करने का काम किया गया है। ग्रामीणों ने भी आगे आकर इस कार्य में अपनी पूर्ण सहभागिता सुनिश्चित करते हुए अपने स्वास्थ्य की जांच करवाई है।
उपायुक्त ने जानकारी के क्रम में आगे यह भी बताया कि हरियाणा विलेज हैल्थ स्कीम के तहत गठित टीम में शामिल सदस्यों ने रैपिड एंटीजन टैस्ट के तहत 10295 लोगों के टैस्ट करने का काम किया है और इस प्रक्रिया के तहत 262 लोग कोरोना संक्रमित पाये गये थे। स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने निर्धारित मापदंडों के तहत ऐसे मरीजों को तुरंत उपचार उपलब्ध करवाने का काम किया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि इस प्रक्रिया के तहत ज्यादा गंभीर पाये जाने वाले मरीजों के तहत 36 मरीजों को जिला प्रशासन द्वारा गांवों के ही नजदीक बनाये गये डैडिकेटिड कोविड केयर सैंटरों में उपचार के लिए दाखिल करवाने का काम किया है। इन डैडीकटिड कोविड केयर सैंटरों में चिकित्सा संबधी सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई हैं ताकि यहां पर उपचाराधीन मरीज को सभी सुविधाएं मिल सकें।
उन्होंने यह भी बताया कि कम लक्षण वाले मरीजों को चिकित्सकों के परामर्श अनुसार करीब 226 लोगों को होम आईसोलेशन के तहत उन्हें घर में ही आईसोलेट करके स्वास्थ्य विभाग की हिदायतों की पालना करने बारे उन्हें निर्देश दिये गये ताकि वे अन्य लोगों को संक्रमित न कर सकें। उन्होंने यह भी बताया कि स्वास्थ्य जांच के दौरान 4920 लोगों में हलके जुखाम व खांसी के लक्षण पाए गये जिन्हें टीम द्वारा दवाई भी उपलब्ध करवाने का काम किया गया।
इस विषय को लेकर सीएमओ डा0 कुलदीप सिंह और हरियाणा विलेज हैल्थ स्कीम के तहत लगाई गई इंचार्ज डा0 बलविन्द्र कौर से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि लोगों ने आगे आकर स्वास्थ्य की जांच करवाई है। उन्होंने यह भी बताया कि आरटीपी यानि रैपिड एंटीजन टैस्ट के माध्यम से तुरंत ऑन स्पॉट ही व्यक्ति में कोरोना के लक्षण हैं उसकी रिपोर्ट पोजीटीव या नेगेटीव है वह तुरंत पता चल जाती है और आरटीपीसीआर के तहत 24 से 48 घंटे के बीच रिपोर्ट आती है। उन्होंने यह भी बताया कि पिछले 10 दिनों में जिन गांवों में जांच के दौरान कोरोना के ज्यादा केस पाये गये थे वहां पर आरटीपीसीआर के तहत दोबारा से टैस्टिंग की जा रही है ताकि ट्रेसिंग करते हुए संक्रमित का पता लगाया जा सके और उसके फैलाव को रोका जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *