• Sat. Oct 23rd, 2021

किसान की फसल का दाना दाना खरीदने के दावे निकले खोखले:जसबीर मलौर

Byadmin

Sep 30, 2020

अम्बाला:-30 सितम्बर
पूर्व विधायक एवं सदस्य अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी चौ जसबीर मलौर ने प्रेस विज्ञ्पती  जारी करते हुए कहा कि मंडी में धान की खरीददारी ना होने से किसान की फसल की हो रही  दुर्दशा के लिए भाजपा – जजपा सरकार जिम्मेवार है | किसान सरकार की अनदेखी का शिकार हो रहा है लेकिन सरकार के कानों पर जूं नहीं रेंग रही |

आज प्रदेश सहित पूरे देश के किसान अपनी आवाज उठा रहे है | किसानो की यह लड़ाई कमेरों की लुटेरों से लड़ाई है और इसमें निश्चित रुप से किसानों की जीत होगी | मलौर ने बताया कि कांग्रेस पार्टी प्रदेशाध्यक्षा बहन कुमारी सैलजा जी के आह्वान पर किसानों की आवाज उठाने के लिए 2 अक्तूबर , दिन शुक्रवार को मेन गेट अनाज मंडी अंबाला शहर पर विशाल धरना प्रदर्शन करेगी | उन्होने कहा कि सरकार किसानों का दमन करना चाहती है व दिन प्रतिदिन सरकार और प्रशासन किसान विरोधी फैसले ले रही हैं | मलौर ने कहा कि कभी नमी के नाम पर तो कभी मेरी फसल मेरा ब्यौरा के नाम पर किसानों पर रोज नई शर्तें थोप दी जाती हैं |

किसानों की माँग है कि सरकार ने 17 प्रतिशत नमी की जो मात्रा रखी है  उसे बढ़ाकर 22 प्रतिशत किया जाए  | मलौर ने कहा कि सरकार किसानों को आकड़ों के जाल में उलझा कर फसल ना खरीदने के बहाने बना रही है | किसान अपने खून पसीने की कमाई हुई फसल को लेकर मंडी में बैठा है और लेकिन कोई खरीदने वाला नहीं | मलौर ने कहा कि भाजपा सरकार में सोची समझी रणनीति के तहत किसानों को बर्बाद किया जा रहा है ताकि किसान को बड़े पूंजीपतियों का गुलाम बनाया जा सके | उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी किसानों की हर माँग पर उनके साथ है | भाजपा सरकार द्वारा लिए जा रहे जनविरोधी फैसलों का खामियाजा आने वाले बड़ौदा  उपचुनाव में भुगतना पड़ेगा | भाजपा – जजपा सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है व इनके नेताओं के गांवो में आने पर भी भारी विरोध किया जा रहा | गठबधंन सरकार के नेताओं व मन्त्रियों का जनता में जाना मुश्किल हो गया है | मलौर ने कहा कि भाजपा नेता सत्ता के नशे में चूर हैं व सिर्फ अपने अहंकार के लिए किसानों पर कानून थोप रहे हैं | जब जनता सत्ता देना जानती है तो सत्ता हथियाना भी जानती है |  आज जो किसान की दुर्दशा हो रही है उसकी जिम्मेवार सरकार है | मलौर ने सभी कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि किसानों के इस आंदोलन में उनका साथ दें व 2 अक्तूबर को अनाज मंडी अंबाला शहर में आयोजित होने वाले प्रदर्शन में ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुंचे | इस मौके पर अनंत काजल , सुरजीत पंजोखरा , राजबीर काला , बलजिन्द्र बलाना , लाभ सिंह ठरवा , टिंका कावंला , तरणदीप पूनियां , ईश्वर मलौर  मान सिंह खुरचणपुर , सुभाष जण्डली , सोहन सारगां , दलजीत मलौर , राहुल भारद्वाज आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे |Attachments area

Related Post

हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय से शनिवार को हरियाणा खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के चेयरमैन श्री रामनिवास ने शिष्टाचार मुलाकात की और बोर्ड की गतिविधियों की जानकारी दी।
राजकीय महाविद्यालय नारायणगढ़ में प्राचार्य संजीव कुमार की अध्यक्षता में महिला प्रकोष्ठ के तहत करवा चौथ की पूर्व संध्या पर इस उपलक्ष में मेहंदी प्रतियोगिता तथा नेल आर्ट प्रतियोगिता  का आयोजन किया गया।
कैम्पेन आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की अध्यक्ष एवं सैशन जज सुश्री नीरजा कुलवंत कलसन के निर्देशानुसार रविवार 24 अक्तूबर को संयुक्त राष्ट्र दिवस के अंतर्गत आज हर्बल पार्क अम्बाला शहर के नजदीक वॉक थॉन (शांति मार्च) का आयोजन किया गया।
79 thoughts on “किसान की फसल का दाना दाना खरीदने के दावे निकले खोखले:जसबीर मलौर”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed