• Mon. Jan 17th, 2022

किसानों का संघर्ष निश्चित रूप से अच्छे परिणाम लेकर आएगा : निर्मल सिंह

Byadmin

Mar 24, 2021

 अम्बाला शहर- :24 मार्च

हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट के संस्थापक पूर्व मंत्री चौधरी निर्मल सिंह ने कहा है कि किसान आंदोलन ऐसा महाभारत है जिसमें किसानों के लिए केवल एक ही रास्ता है जीत कर लौटने का। वे आज अम्बाला-हिसार मार्ग पर सैनी माजरा टोल प्लाजा के निकट आंदोलन कर रहे किसानों के बीच आए थे। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने जंग-ए-आजादी के दौरान जो भारत छोड़ो आंदोलन चलाया था आजादी के बाद यह अब तक का सबसे बड़ा जनआंदोलन है जिसमें आखिरकार किसानों की जीत होगी। उन्होंने कहा कि इस जनआंदोलन को पूरे देश की सभी जातियों और वर्गाें का अपार समर्थन मिल रहा है और सभी तिरंगा हाथ में लेकर तन मन धन से सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एमएसपी की गारंटी का कानून बनाने की किसानों की मांग ने देश के सभी राज्यों के किसानों को एकजुट कर दिया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर जब बार बार कह रहे हैं कि एमएसपी था एमएसपी है और एमएसपी रहेगा तो फर उन्हें एमएसपी की गारंटी देने वाला कानून बनाने में दिक्कत क्या है। उन्होंने कहा कि स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने जैसे अनेक चुनावी वायदे करने वाली भाजपा ने सत्ता में आते ही अपने चहेतों को लाभ पहुंचाने और किसानों के पूर्वजों की खून पसीने की कमाई से बनाई गई जमीनों को हड़पने के मकसद से तीन काले कृषि कानून जबरन लागू कर दिए। उन्होंने कहा कि इन काले कृषि कानूनों के खिलाफ देश में जगह जगह बीते 3 महीनों से अधिक समय से किसान धरना प्रदर्शन कर रहे हैं और 300 से अधिक किसान शहीद हो चुके हैं। सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही। उन्होंने कहा कि किसानों को अपनी फसले और नस्लें बचाने के लिए इस जनआंदोलन को पूरी तरह संगठित होकर योजनाबद्ध तरीके से लड़ना होगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट की पूरी टीम किसानों के साथ हमेशा खड़ी है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी और कोरोना महामारी के दौर में देश की इंडस्ट्री तबाह होने के कारण जीडीपी अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई ऐसे में भी देश के किसानों ने अपनी जान की परवाह किए बिना देश के अन्न के भंडारों को पूरी तरह से भरकर अर्थव्यवस्था को बचाने में बेमिसाल सहयोग दिया। किसानों की मेहनत का ईनाम देने की जगह अपने चंद पूंजीपति उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने के मकसद से किसानों को सड़कों पर बैठकर आंदोलन करने को मजबूर कर दिया। उन्होंने कहा कि इस आंदोलन में जीत हासिल करने के लिए किसानों को सरकार से कड़ी टक्कर लेनी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन की वजह से अब देश के सभी वर्गों के लाेग समझ चुके हैं कि इन 3 काले कृषि कानूनों का असर किसानों के साथ साथ समाज के सभी वर्गों पर पड़ेगा। उद्योगपति मनमानी कीमतों पर अपने बड़े बड़े स्टोरों और माॅल में फल सब्जियां और अनाज बेचकर लोगाें का जीना दूभर कर देंगे। उन्होंने कहा कि एकजुटता के साथ जारी किसानों का संघर्ष निश्चित रूप से अच्छे परिणाम लेकर आएगा।

69 thoughts on “किसानों का संघर्ष निश्चित रूप से अच्छे परिणाम लेकर आएगा : निर्मल सिंह”
  1. I’m not that much of a internet reader to be honest but your
    blogs
    really nice, keep it up! I’ll go ahead and bookmark your site to come back later.

    All the best

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *