• Wed. May 18th, 2022

कार्यशाला में ग्रास रूट वर्कर्स , प्लंबर्स व फिटर्स को दी पेयजल व्यवस्था बनाने की जानकारी

Byadmin

Feb 28, 2022

कार्यशाला में ग्रास रूट वर्कर्स , प्लंबर्स व फिटर्स को दी पेयजल व्यवस्था बनाने की जानकारी
अम्बाला, 28 फरवरी:-
जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग की ओर से गांव रूपा  माजरा के कम्युनिटी सेंटर में कार्यरत पंप ऑपरेटर, फिटर, इलेक्ट्रिशियन, पम्प ऑपरेटरों को एक दिवसीय कार्यशला में प्रशिक्षण प्रदान किया गया। जिला सलाहकार अमित खोसला की अध्यक्षता में हुए कार्यशाला में गांवों में पानी की सप्लाई की देख- रेख, पानी की गुणवत्ता संबंधित जो भी समस्याएं आती है उसके बारे में पूर्ण जानकारी व ट्रेनिंग दी गई व कहा कि जल की एक-एक बूंद कीमती है। उन्होंने जल संरक्षण पानी की गुणवत्ता पर प्रकाश डालते हुए बताया कि 80 फीसदी बीमारियों अशुद्ध पानी से होती है इससे बचने के लिए हमें अपने स्वास्थ्य के प्रति व ग्रामीणों को बीमारियों से बचाने के लिए हमें शुद्ध पेयजल को बनाए रखना है गंदे पानी पीने से बहुत सी बीमारियां होती हैं जिस से हमारा स्वास्थ्य खराब हो जाता हैं। इसलिए हमें अपने पीने के पानी की शुद्धता व स्वच्छता बनाए रखना क्लोरिनेशन की मात्रा चेक करना जल की सुरक्षा का कार्य पंप चालक की जागरूक करें।
जल जीवन मिशन पर चर्चा करते हुए कहा कि सभी कर्मचारी अपनी ईमानदारी से कार्य करें और कार्य को नैतिक जिम्मेदारी के साथ कार्य करें इस मौके पर विशेष तौर पर उपस्थित पंप ऑरपेटरो का हौसला अफजाई भी किया। सभी कर्मचारियों को ऑनलाइन बिल कब और कैसे भरे फील्ड टेस्टिंग कीट के बारे में बताया कि बैक्टेरिया को कैसे चेक किया जाता हैं। सभी स्टॉफ को पानी की अहमियत के बारे में बताया तथा अनुरोध किया कि पानी  व्यर्थ होने से बचाएं, ताकि हमारे गांव का भूमिगत जल लंबे समय तक प्रयोग कर सके। गांवों में लोगों को स्वच्छ पेयजल और उसकी गुणवत्ता को बरकरार रखना होगा। दुनियाभर में जल संकट एक बड़ी समस्या है। इसीलिए पंप ऑपरेटरों को प्रशिक्षण देकर दक्ष बनाया जा रहा है। ट्रेनिंग के लिए रिसोर्स पर्सन फिटर, इलेक्ट्रिशन, पलंबर बुलाए गए थे। जिन्होंने गांव में पानी की लाइन बिछाने, मोटर खराब हो जाने पर उसे ठीक करने, लीकेज की मरम्मत करने संबंधी सारी जानकारियां बताई।
इस अवसर स्टार्टर, मोटर के रखरखाव के बारे में समझाया। बीआरसी करनैल सिंह ने जीवाणु परीक्षण किट के माध्यम से पीने के पानी की जांच करने की जानकारी प्रदान की व ग्राम जल तथा सीवरेज समिति के बारे में बताया। इसके साथ-साथ उन्होंने पानी की गुणवत्ता के लिए सभी ऑपरेटरों को जल जीवन मिशन के अंतर्गत जितने भी कार्य ग्रामीण स्तर पर किए जाने हैं उनके बारे में विस्तार से बताया गया व कर्मचारियों को लॉग बुक के  महत्व को बताते हुए उसे लगातार लागू करने की सलाह भी दी। इस मौके पर उपमंडल अभियंता हरमिलाप सिंह जेई गोपाल वैध, जिला सलाहकार अमित खोसला आदि मौजूद थे। पर अमित खोसला ने विभाग के जेई विनोद ने उपस्थित कर्मचारियों को ग्रामीण पेयजल आपूर्ति के संचालन व रखरखाव करने के बारे प्रशिक्षित किया तथा वाटर वक्र्स, बूस्टर, ईलेट चैनल, फिल्टर आदि के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की

One thought on “कार्यशाला में ग्रास रूट वर्कर्स , प्लंबर्स व फिटर्स को दी पेयजल व्यवस्था बनाने की जानकारी”
  1. I was curious if you ever considered changing the layout of your site? Its very well written; I love what youve got to say. But maybe you could a little more in the way of content so people could connect with it better. Youve got an awful lot of text for only having 1 or 2 pictures. Maybe you could space it out better?

Leave a Reply

Your email address will not be published.