• Sat. Oct 16th, 2021

एचसीएस एवं एलाईड सर्विसिस की प्रारम्भिक लिखित परीक्षा 2021 को लेकर उपायुक्त विक्रम सिंह ने पंचायत भवन अम्बाला शहर में आयोजित बैठक में सम्बन्धित अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश।

Byadmin

Sep 9, 2021

अम्बाला, 9 सितम्बर:- एचसीएस एवं एलाईड सर्विसिस की प्रारम्भिक लिखित परीक्षा 2021 को लेकर उपायुक्त विक्रम सिंह ने आज पंचायत भवन अम्बाला शहर में आयोजित बैठक में कहा कि परीक्षा को शांतिपूर्वक बिना किसी बाधा के नकल रहित सम्पन्न करवाना हम सबका दायित्व है। उन्होंने कहा कि परीक्षा को सम्पन्न करवाने के लिए जिन भी अधिकारियों व कर्मचारियों की डयूटी लगी हुई है वे अपनी डयूटी को पूरी ईमानदारी व कत्र्तव्यपरायणता के साथ करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कोई भी परीक्षा किसी राज्य के लिए बेहद महत्वपूर्ण होती है और एचसीएस परीक्षा हरियाणा के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है।
उन्होंने बैठक में मौजूद सैंटर सुपरवाईजर, केन्द्र अधीक्षक, डयूटी मैजिस्ट्रेट को निर्देश दिये कि वे रविवार 12 सितम्बर को होने वाले इस परीक्षा को सही प्रकार से सम्पन्न करवाने के लिए अपनी डयूटी का निर्वहन करें। उन्होंने कहा कि इस परीक्षा को लेकर बार-बार बैठक आयोजित की गई है, मकसद यही है कि परीक्षा का सफलपूर्वक आयोजन करवाना है। उन्होंने सैंटर सुपरवाईजर, केन्द्र अधीक्षक व डयूटी मैजिस्ट्रेट को कहा कि कमीशन द्वारा इस परीक्षा को लेकर जो हिदायतें जारी की गई है वे उसका बारीकी से अध्ययन कर लें। बिना किसी डाउट के ही वे परीक्षा को करवाएं। यदि कोई डाउट है तो जिला शिक्षा अधिकारी या सम्बन्धित से उस डाउट को क्लीयर करवा लें। उन्होंने कहा कि 11 सितम्बर को परीक्षा के सफलपूर्वक आयोजन को लेकर दोबारा बैठक आयोजित की जायेगी। यदि परीक्षा से जुडे किसी अधिकारी का कोई डाउट है तो वह भी क्लीयर कर सकता है। उन्होने यह भी कहा कि परीक्षा शुरू होने से पहले ट्रेजरी से पेपर लाने व शुरू होने तक का समय काफी अहम होता है। सम्बन्धित डयूटी अधिकारी को यह बात सुनिश्चित करनी है कि जो उन्हें परीक्षा से सम्बन्धित सामान मिल रहा है वह सील लगा होना चाहिए। सैंटर अधीक्षक जब इस सामान को ले तो वह सील होना चाहिए और जब परीक्षा शुरू होने से पहले इस सामान को खोला जाए तो उसकी वीडियोग्राफी होनी सुनिश्चित होनी चाहिए, इन सभी बातों का हमें विशेष ध्यान रखना है।
उन्होंने इस विषय से जुड़े सभी अधिकारियों को कहा कि उन्होंने पहले भी परीक्षाओं का सफलपूर्वक आयोजन करवाया है। अब भी उन्हें इस परीक्षा का बेहतर समन्वय के साथ तथा कमीशन की हिदायतों की पालना सुनिश्चित करते हुए इस परीक्षा का सफलपूर्वक आयोजन करवाना है। इस कार्य में किसी प्रकार की कोई लापरवाही सहन नहीं की जायेगी। उन्होंने बताया कि 12 सितम्बर को दो चरणों में लिखित परीक्षा आयोजित की जाएगी और इस परीक्षा के लिए अम्बाला जिले में 46 सैंटर बनाये गये हैं। यह परीक्षा 12 सितम्बर को सुबह पहले चरण के तहत प्रात: 10 से दोपहर 12 बजे तक और दूसरे चरण में इसी दिन सांय 3 बजे से 5 बजे तक होगी। नोडल अधिकारी के तौर पर सीईओ जिला परिषद एवं सीईओ शिवालिक जगदीप ढांडा नियुक्त किए गये हैं तथा कोर्डिनेटर के रूप में जिला शिक्षा अधिकारी को लगाया गया है।
बॉक्स:- उपायुक्त ने यह भी बताया कि परीक्षा के सफलपूर्वक आयोजन को लेकर सीनियर अधिकारियों एवं कर्मचारियों की डयूटी लगाई गई है। परीक्षा के दिन वह स्वयं तथा एसएसपी हामिद अख्तर फिल्ड में रहेंगे, हर गतिविधि पर ध्यान रखा जायेगा। उन्होंने यह भी बताया कि कमीशन की हिदायतों अनुसार परीक्षा का सफलपूर्वक आयोजन करवाना है। जो हिदायतें जारी की गई है उसकी शत प्रतिशत पालना सुनिश्चित होनी चाहिए। उन्होने बताया कि सिक्ख समाज के परीक्षार्थियों को परीक्षा केन्द्र में कडा पहनकर जाने तथा कृपाण ले जाने की अनुमति हरियाणा लोक सेवा आयोग द्वारा दी गई है। ऐसे सभी परीक्षार्थियो को रिपोर्टिंग समय से एक घंटा पहले परीक्षा केन्द्रों पर पहुंचना होगा। परीक्षार्थियों को सम्बन्धित परीक्षा केन्द्र में डयूटी पर तैनात अथोरिटी को अपने कडे व कृपाण की स्क्रीनिंग करवानी होगी ताकि कोई संदिग्ध इलैक्ट्रोनिक व अन्य डिवाईज अंदर न ले जा सके।
बॉक्स:- उपायुक्त विक्रम सिंह ने बैठक में पुलिस विभाग से आये अधिकारियों को भी निर्देश दिये कि परीक्षा को नकलरहित एवं शांतिपूर्वक तरीके से सम्पन्न करवाने के लिए सभी पुख्ता प्रबंध करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि परीक्षा केन्द्र के बाहर किसी भी अभिभावक या अन्य को न खड़ा होने दें। जो भी हिदायतें है उसकी पालना सुनिचित होनी चाहिए।
बॉक्स:- उपायुक्त ने एक बार फिर स्पष्ट किया कि परीक्षा को लेकर जो भी हिदायतें है उसकी पालना सुनिश्चित होनी चाहिए। उन्होने कहा कि जो अभ्यार्थी परीक्षा देंगे उनकी वीडियोग्राफी होने के साथ-साथ जिस अभ्यार्थी की सिटिंग प्लान के मुताबिक सीट खाली है और वह अनुपस्थित है उसकी भी वीडियोग्राफी होनी सुनिश्चित होनी चाहिए। उन्होंने सभी सैंटर सुपरवाईजर, परीक्षा केन्द्र अधीक्षकों के साथ-साथ इससे जुडे अधिकारियों को कहा कि वे 11 सितम्बर को यानि परीक्षा से एक दिन पहले सभी सैंटरों पर सीसीटीवी कैमरे, जैमर या अन्य वह सभी सुविधाएं दुरूस्त हैं उसका जायजा लेना सुनिश्चित करेगे।
इस परीक्षा को सही प्रकार से सम्पन्न करवाने के लिए नियुक्त किए गये नोडल अधिकारी एवं सीईओ जिला परिषद एवं सीईओ शिवालिक जगदीप ढांडा ने बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों को परीक्षा के दृष्टिगत की जाने वाली तैयारियों एवं हिदायतों की विस्तारपूर्वक जानकारी दी।  
इस मौके पर एसडीएम हितैष कुमार मीणा, एसडीएम गिरीश कुमार, एसडीएम नीरज, सीईओ जिला परिषद जगदीप ढांडा, नगराधीश आंचल भास्कर, आरटीए गौरी मिड्डा, जीएम रोडवेज मुनीष सहगल, इस्टेट ऑफिसर अशोक कुमार, जिला शिक्षा अधिकारी सुरेश कुमार, डीएसपी अनिल कुमार के साथ-साथ अन्य सम्बध्ंिात अधिकारीगण मौजूद रहें।
——————–

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *