• Wed. Dec 1st, 2021

आम नागरिकों व स्कूली बच्चों को नशा न करने बारे विशेष नशा-मुक्ति अभियान चलाए जा रहे

Byadmin

Jun 23, 2020

आम नागरिकों व स्कूली बच्चों को नशा न करने बारे 20 जून 2020 से 30 जून 2020 तक चलाए जा रहे विशेष नशा-मुक्ति अभियान के दौरान किया जा रहा जागरूक, युवा कुसंगति व नशे से रहें दूर-पुलिस अधीक्षक, अम्बाला
अम्बाला 23 जून 2020ः पुलिस अधीक्षक, अम्बाला श्री अभिषेक जोरवाल ने बतलाया कि अम्बाला पुलिस द्वारा उप-पुलिस अधीक्षक, अम्बाला श्री मुनीष सहगल के नेतृत्व में आम नागरिकों व स्कूली बच्चों को नशा न करने बारे जागरूक करने के लिए 20 जून 2020 से 30 जून 2020 तक विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के दौरान निरीक्षक ईन्चार्ज एन्टी-नारकोटिक सैल अम्बाला, सभी प्रबन्धक थाना व चैकीं ईन्चार्ज को निर्देश दिए गए हैं कि वह अपने-2 थाना अधिकार क्षेत्रों में सरपंचों, मौजिज व्यक्तियों व आम नागरिकों से सोशल-डिस्टैन्स को ध्यान में रखते हुए सम्पर्क बनाकर इस बारे जागरूक करें। नशा विरूद्ध पोस्टर-मैसेज-स्लोगन या तस्वीर सौशल मिडिया के माध्यम से सरपंचों, मौजिज व्यक्तियों व आम नागरिकों के ग्रुप में डालें। इसके साथ-2 थानाधिकार क्षेत्रों में आने वाले स्कूल कालेजों के मुखिया से सम्पर्क करके स्कूली छात्र-छात्राओं को इस बारे जागरूक करने के लिए घर बैठे ही नशा नशा विरूद्ध पोस्टर-मैसेज-स्लोगन या तस्वीर बनाकर सोशल मीडिया पर डालने के लिए प्रेरित करें। जिससे आम नागरिकों व छात्र-छात्राओं को नशा न करने, नशा छोड़ने व नशे के दुष्परिणामों बारे जागरूक किया जा सके। इस अभियान का मुख्य उद्द्ेश्य जिला अम्बाला को नशामुक्त बनाना है।
उन्होंने आगे जानकारी देते हुए बतलाया कि इस अभियान के दौरान उप-पुलिस अधीक्षक अम्बाला के नेतृत्व में प्रबन्धक थाना नग्गल, प्रबन्धक थाना बलदेव नगर, प्रबन्धक थाना अम्बाला शहर, प्रबन्धक थाना साहा, प्रबन्धक थाना अम्बाला छावनी, प्रबन्धक थाना बराड़ा, प्रबन्धक थाना पड़ाव, प्रबन्धक थाना नारायणगढ़, प्रबन्धक थाना शहजादपुर, प्रबन्धक थाना सदर अम्बाला, प्रबन्धक थाना पंजोखर व निरीक्षक सुभाष सिहँ ईन्चार्ज एन्टी-नारकोटिक सैल अम्बाला ने सोशल डिस्टैन्स को ध्यान में रखते हुए जिला अम्बाला के सम्बन्धित एन0जी0ओ0 तथा युवा संगठन के साथ मिलकर अपने-अपने थानाधिकार क्षेत्र में ंमौजिज व्यक्तियों, सरंपचों, आम नागरिकों और युवाओं को नशामुक्ति अभियान के दौरान नशा न करने, नशा छोड़ने, नशे के दुष्परिणामों तथा नशे की तस्करी करने वालों की सूचना पुलिस को देने बारे जागरूक किया।
पुलिस अधीक्षक अम्बाला ने आम नागरिकों विशेषकर युवावर्ग, स्कूली बच्चों से अपील करते हुए कहा कि नशा युवा वर्ग को दीमक की तरह खा रहा है। युवा वर्ग अक्सर 16-30 वर्ष की आयु में नशेे का शिकार होते है और नशे के चक्रव्यूह में फँस जाते है। बच्चे को जब तक घर से पैसे मिलते रहते है, तब तक वह चोरी छिपे नशे का सेवन करता रहता है, ड्रग्स खरीदता है। जब उसे घर से पैसे मिलने बन्द हो जाते है तो वह छोटी-मोटी चोरी करना शुरू कर देता है और अपराध की दुनिया में प्रवेश कर जाता है। उन्होंने युवाओं से भी अपील की है कि वह नशे की लŸा में न पड़ें। युवावर्ग पढ़ाई में अपना मन लगाए, अपना व राष्ट्र का भविष्य अन्धकारमय होने से बचायें क्यांेकि नशा आतंकवाद से भी ज्यादा खतरनाक है। नशा आदमी को अन्दर ही अन्दर से खोखला कर देता है जिससे उसमें सोचने-समझने की शक्ति नहीं रहती। युंवावर्ग बुरी संगत में पड़कर अपना व अपने परिवार का भविष्य अंधकारमय बना देता है।
          पुलिस अधीक्षक, अम्बाला ने कहा कि नागरिकों के सहयोग के बिना अकेले पुलिस कोई कार्य नहीं कर सकती। इस कार्य मंे नागरिक पुलिस को पूर्ण सहयोग दें। यदि आपको नशे की तस्करी करने वाले व्यक्ति के बारे पता लगे तो उसकी सूचना तुरन्त नज़दीकी थाना या पुलिस अधीक्षक, अम्बाला को दें। सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा और पुलिस विभाग की तरफ से उचित ईनाम भी दिया जाएगा। उन्होनें दोबारा युवाओं से अपील करते हुए कहा कि वह अपना मन पढ़ाई व खेलकूद में लगाए। नशे के आगोश से बचे, इसी में उनकी, उनके परिवार व राष्ट्र की भलाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed