• Mon. Jan 17th, 2022

आगामी 15 मार्च तक आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत निशुल्क बनाये जायेंगे योग्य लाभार्थियों के कार्ड

Byadmin

Mar 2, 2021

आगामी 15 मार्च तक आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत निशुल्क बनाये जायेंगे योग्य लाभार्थियों के कार्ड:-सिविल सर्जन डा0 कुलदीप सिंह
अम्बाला, 2 मार्च:- 
स्वास्थ्य विभाग द्वारा एक मार्च से 15 मार्च तक आपके द्वार आयुष्मान के तहत शिविर लगाते हुए आयुष्मान लाभार्थियों के कार्ड निशुल्क बनाने का काम किया जायेगा। आंगनवाडी व हैल्थ वर्कर के माध्यम से इस योजना के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए सर्वे में शामिल लाभार्थियों के कार्ड बनाने का काम किया जायेगा। यह जानकारी जिला सिविल सर्जन डा0 कुलदीप सिंह ने आज किंगफिशर पर्यटन स्थल अम्बाला शहर में एक प्रेसवार्ता के दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए दी।
प्रेसवार्ता के दौरान डा0 कुलदीप सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री आयुष्मान अरोग्य योजना केन्द्र सरकार की एक महत्वकांक्षी योजना है। इस योजना के तहत लाभार्थियों को 5 लाख रूपये तक का ईलाज बिना किसी प्रीमियम के पैनल में शामिल प्राईवेट अस्पतालों व सरकारी अस्पतालों में निशुल्क करने का प्रावधान है। उन्होंने कहा कि अम्बाला जिले में इस योजना के तहत 27 प्राईवेट व 7 सरकारी अस्पताल शामिल हैं, 27 निजी अस्पतालों के माध्यम से 7000 लाभार्थियों पर इस योजना के तहत 10.50 करोड़ रूपये की राशि खर्च किए गये हैं। इसी प्रकार 7 सरकारी अस्पतालों में अब तक 3412 लाभार्थियों का इलाज किया है जोकि लगभग 6 करोड़ 50 लाख रूपये की राशि खर्च की गई है। प्रदेश में 388 अस्पताल इस योजना के तहत शामिल हैं।
उन्होंने बताया कि लोगों को इस योजना के बारे में पता चल सके इसके लिए विशेष शिविर लगाये जा रहे हैं। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना फरवरी 2018 में अरूण जेटली के द्वारा शुरू की गई थी, 23 सितम्बर 2018 को विधिवत रूप से इस योजना को लागू किया गया था। आयुष्मान भारत योजना के तहत देशभर के 10 करोड़ परिवार लाभार्थी सूची में हैं जिसमें से अनुमानित 55 करोड़ लोग शामिल हैं। देश में अब कुल 24243 अस्पताल सूचीबद्ध हो चुके हैं जिसमें कोई भी बीमार कहीं भी एक साल में 5 लाख रुपये तक का इलाज मु$फ्त करवा सकता है। अब तक लाभार्थियों का कुल 19750 करोड़ रूपये तक का इलाज किया जा चुका है, 11 करोड़ 60 लाख के लगभग लाभार्थी देशभर में इलाज ले चुके हैं एवं 13 करोड़ 63 लाख के करीब कार्ड बनाए जा चुके हैं। अभी तक पूरे देश में लगभग 40 करोड़ लाभार्थियों के कार्ड बनाये जाने बाकी हैं।
जिले में कुल 3 लाख 12 हजार लाभार्थी हैं लेकिन अभी तक सिर्फ 1 लाख 14 हजार लाभार्थियों के ही कार्ड़ बन पाए हैं। सर्वे के मुताबिक लोगों के कार्ड बन सकें और वे पैसे के अभाव में किसी बीमारी की चपेट में आकर अपना इलाज न कर सकें, इसके लिए उन्हें इस योजना के बारे में बताते हुए उनके कार्ड बनाने का काम किया जायेगा। उन्होंने यह भी बताया कि इस योजना के तहत 1350 पैकेज घोषित किए गये हैं जिसमें सभी प्रकार की अधिकतर बीमारियां शामिल हैं। उन्होंने यह भी बताया कि इस योजना में शामिल जितने भी अस्पताल शामिल हैं उन अस्पतालों को 15 दिन के अंदर सम्बन्धित लाभार्थी के इलाज पर जो राशि खर्च होती है उसे अस्पताल के खाते में डालने का काम किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि इस कार्ड को बनवाने के लिए सीएचसी सैंटर में जाकर लाभार्थी अपना कार्ड निशुल्क बनवा सकते हैं। कार्ड बनवाने के लिए सम्बन्धित लाभार्थी के पास अपना आधार कार्ड, कोई भी सरकारी पहचान पत्र, समग्र आईडी या राशन कार्ड होना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए 14555/18002332085 पर कॉल करके जानकारी ली जा सकती है। लाभार्थी अपनी पात्रता 222.द्वद्गह्म्ड्ड.श्चद्वद्भड्ड4.द्दश1.द्बठ्ठ आयुष्मान भारत ऐप पर जाकर चैक कर सकते हैं। इस मौके पर सिविल सर्जन ई-संजीवनी ऐप के बारे मे भी विस्तार से जानकारी दी। इस मौके डा0 सुखप्रीत व डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *